जबलपुर :- धनुष-बोफोर्स से बेहतर सारंग तोप का परीक्षण, 36 किमी से ज्यादा दूरी तक निशाना लगाने में सक्षम

Sulekha kushwaha jabalpur;

मंगलवार सुबह जबलपुर की फायरिंग रेंज में तोप का परीक्षण सफल रहा।

  • 155 एमएम और 45 कैलिबर वाली गन की खासियत- इससे एक मिनट में तीन राउंड फायर किए जा सकते हैं
  • इजराइल की सॉल्टम से भी बेहतर है सारंग तोप, 70डिग्री तक घूमकर वार कर सकती है

जबलपुर. यहां कीखमरिया की फायरिंग रेंज में पहली बार तोप का परीक्षण किया गया। अलग-अलग एंगल से फायरिंग के बादजांच की गई।अब यह सारंग गन (तोप) सेना को सौंपी जाएगी। सारंग गन की क्षमता 36 किमी से ज्यादा है।परीक्षण में 4 फायर किए गए, जिसमें 15 डिग्री, फिर 0 डिग्री, फिर 15 डिग्री पर फायर हुए। यह तोपधनुष और बोफोर्स से भी ज्यादा घातक है।

सूत्रों की मानें तोइस तोप का निर्माण कानपुर ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में किया गया है। इसको इजराइल की सॉल्टम गन से भी ज्यादा बेहतरबताया जा रहा है। यह नाटोकेमापदंडों के अनुरूप है। इसका परीक्षण पिछले 2सालों से सिक्किम की बेहद ऊंचाई वाले इलाकों के अलावा जैसलमेर के तपते रेगिस्तान में किया गया। इसके बाद मऊ में परीक्षण किया गया था। मंगलवार सुबह जबलपुर में परीक्षण हुआ।

ये है खासियत
155 एमएम और 45 कैलिबर वाली गन की खासियत यह है कि इससे एक मिनट में तीन राउंड फायर किए जा सकते हैं। इसके 130 एमएम से अपग्रेड किया जाएगा। यह तोप बिना रुके एक घंटे तक गोले दगाने की क्षमता रखती है। इसका वजन 8450 किलो है। इसके बैरल की लंबाई 7700 एमएम है। सारंग के जरिए 36 किमी की दूरी पर बैठे दुश्नम को चंद सेकेंड में नेस्तानाबूद किया जा सकता है। यह तोप 70 डिग्री तक घूमकर वार कर सकती है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s