Shahdol : कलेक्टर ने जिला पंचायत सदस्य सदस्य को फटकारा, पूछा- तुम क्यों नहीं हुई खड़ी

By sulekha kushwaha shahdol ,

Jan, 30 2020 10:00:12 (IST)

मंत्री के पहुंचते ही जनप्रतिनिधियों ने जताई आपत्ति, कलेक्टर ने मांगी माफी

शहडोल। कलेक्ट्रेट सभागार में मंत्री के पहुंचने का इंतजार कर रहीं जिला पंचायत सदस्य को कलेक्टर की नाराजगी झेलनी पड़ गई। कलेक्टर को देख खड़ा न होने पर जिला पंचायत सदस्य को अधिकारी और जनप्रतिनिधियों के सामने कलेक्टर ललित दाहिमा ने जमकर सुना दिया। कलेक्टर ने कहा कि सब खड़े हैं तो तुम क्यों बैठी हो ? तुम क्यों नहीं खड़ी हुई ? देखते ही देखते मामले ने तूल पकड़ लिया और मंत्री के पहुंचते ही जनप्रतिनिधियों ने जमकर आपत्ति जताई। दरअसल प्रभारी मंत्री ओमकार सिंह मरकाम का शहडोल दौरा था। मंत्री कलेक्ट्रेट सभागार में दोपहर को जिला योजना समिति की बैठक लेने पहुंचने वाले थे। कई कार्यक्रमों में शामिल होने के चलते प्रभारी मंत्री मरकाम देरी से पहुंचने वाले थे। इस दौरान जनप्रतिनिधि और अधिकारी कलेक्टर शहडोल के सभागार में ही बैठकर इंतजार कर रहे थे। प्रभारी मंत्री के बैठक में पहुंचने से पहले कलेक्टर ललित दाहिमा सभागार में पहुंचे तो सभी अधिकारी खड़े हो गए। इस दौरान जिला पंचायत सदस्य सुनीता सिंह मार्को कुर्सी में बैठी रहीं। इस पर कलेक्टर दाहिमा नाराज हो गए और अधिकारी व जनप्रतिनिधियों के सामने ही फटकार लगा दी। बाद में मंत्री के पहुंचने पर जियोस की बैठक में जनप्रतिनिधियों ने कहा कि महिला सदस्य के साथ ऐसा बर्ताव बिल्कुल नहीं सहेंगे। जिपं सदस्य सुनीता सिंह मार्को ने भी नाराजगी जताई। बाद में मंत्री के कहने पर कलेक्टर ने बैठक में माफी मांगी। बैठक में कलेक्टर ललित दाहिमा का कहना था कि जिला पंचायत सदस्य से परिचय ले रहा था। किसी भी तरह का गलत व्यवहार नहीं किया गया। इस संबंध में प्रभारी मंत्री ओमकार सिंह मरकाम ने कहा कि पहले की स्थिति जनप्रतिनिधियों ने बताई है। जनप्रतिनिधियों का सम्मान करना चाहिए। बैठक में दोनों के बीच चर्चा करके मामला सुलझा दिया है। जिला पंचायत सदस्य सुनीता सिंह मार्को ने कहा कि मैं जनप्रतिनिधि हूं। कलेक्टर आते ही पूछने लगे कि सब खड़े हैं, आप क्यों नहीं खड़ी हुईं। अधिकारी कर्मचारी सब सामने थे। अच्छा नहीं लगा। मंत्री से शिकायत की थी। उनके कहने पर कलेक्टर ने माफी मांगी है। जिला पंचायत के सदस्य तेज प्रताप उइके ने कहा कि आदिवासी अंचल में जनप्रतिनिधियों के साथ ऐसा व्यवहार बेहद गलत है। मैं मीटिंग में आपत्ति जताया। महिला सदस्य के साथ इस तरह का व्यवहार की हम सब निंदा करते हैं। सरकार को संज्ञान लेना चाहिए।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s