Shahdol : कहीं पुस्तकें खा रही है धूल तो कहीं कक्ष में लटका रहता है ताला

Feb, 05 2020 09:29:37 (IST)

शिक्षक संभाल रहे हैं हाई व हायर सेकेण्ड्री स्कूलों की लाइब्रेरी

शहडोल. जिले के अधिकांश सरकारी हाई व हायर सेकेण्ड्री स्कूलों में लाइब्रेरी का व्यवस्थित ढ़ंग से संचालन नहीं हो पा रहा है। संभागीय एवं जनपद मुख्यालय के कुछ विद्यालयों को छोड़ दिया जाए तो अन्य किसी भी विद्यालय में लाइब्रेरी संचालित नहीं हो रही है। जिले के प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों में तो लाइब्रेरी है ही नहीं और हाई स्कूल और हायर सेेकेंडरी स्कूलों की लाइब्रेरी का कुछ ऐसा हाल है कि कहीं विद्यालय के एक कक्ष में पुस्तकें धूल खा रही है, तो कहींं कक्ष में बच्चों को बैठकर पढ़ाई करने की व्यवस्था नहीं है। कुछ सरकारी स्कूलों में लाइब्रेरी के नाम पर एक छोटा सा कमरा है, जिसमें हर समय ताला लगा रहता है। उसकी चाबी शिक्षक के पास होती है। अगर शिक्षक नहीं होंगे तो लाइब्रेरी बंद रहती है। इसी कड़ी में पत्रिका की टीम ने बुधवार को संभागीय मुख्यालय के शासकीय हायर सेकेण्ड्री स्कूलों की लाइबे्रेरी का जायजा लिया। जहां कई प्रकार की समस्याएं उभर कर सामने आई।
लाइब्रेरी है मगर अध्ययन का समय नहीं
संभागीय मुख्यालय के शासकीय रघुराज क्रमांक दो उत्कृष्ठ विद्यालय में लाइब्रेरी तो है, मगर बच्चों के पास अध्ययन करने का समय नहीं है। इसकी वजह लाइब्रेरी प्रभारी नीता खरे ने बताया कि स्कूल भवन में दो विद्यालयों का संचालन होने की वजह से उत्कृष्ठ विद्यालय के बच्चों के पास लाइब्रेरी में बैठकर नियमित अध्ययन करने का समय नहीं मिल पाता है। इसके बाद भी कुछ बच्चे खाली पीरियड के दौरान लाइब्रेरी में आते हैं।
प्रयोगशाला कक्ष में संचालित हो रही लाइब्रेरी
संभागीय मुख्यालय में संचालित शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सोहागपुर की प्राचार्य शकुंतला श्रीवास्तव ने बताया कि विद्यालय में लाइब्रेरी कक्ष के अभाव में प्रयोगशाला कक्ष में लाइब्रेरी का संचालन किया जा रहा है। जिससे न तो सही ढंग से लाइब्रेरी का संचालन हो पा रहा है और न ही प्रयोगशाला का। प्रयोगशाला के हाल यह है कि सभी विषयों की एक ही कक्ष में प्रयोगशाला लग रही है और लाइब्रेरी में किताबें अव्यवस्थित ढंग से रखी हुई है।
लाइब्रेरी कक्ष में ही लगती है छात्राओं की कक्षाएं
संभागीय मुख्यालय के गंज रोड स्थित शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अजाक के प्रभारी प्राचार्य एपी ङ्क्षसह ने बताया कि विद्यालय में लाइब्रेरी के संचालन के लिए अतिरिक्त कक्ष की व्यवस्था तो है, मगर विद्यालय में छात्राओं के अनुपात में पढऩे के लिए कक्ष नहीं है। जिससे लाइब्रेरी कक्ष में गणित विषय की कक्षाओं का संचालन किया जाता है। इसके बाद ही छात्राएं लाइब्रेरी का उपयोग कर पाती हैं। विद्यालय मेें कुल 538 छात्राएं अध्ययनरत है।
इनका कहना है
जिला मुख्यालय में संचालित एकमात्र विवेकानंद पुस्तकालय मेंं लाइब्रेरियन का पद है। वह भी प्रभार के भरोसे चल रहा है। इसके अलावा शासकीय हाई व हायर सेकेण्ड्री स्कूलों में लाइब्रेरियन का पद नहीं है। नतीजतन स्कूलों में लाइब्रेरियन का कार्यभार शिक्षक संभाल रहे हैं।
रणमत सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी, शहडोल

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s