Shahdol : संसाधन के अभाव में नहीं बढ़ रही स्वच्छता की ग्रेडिंग

Feb, 10 2020 09:00:00 (IST)

नए बस स्टैंण्ड में कबाड़ हो गई डस्ट स्वीमिंग मशीन, और डस्टबिन

शहडोल. बीते दो साल के दौरान नगर की स्वच्छता रैंकिंग को बढ़ाने नपा ने पहल नहीं की जिससे जहां शहर में गंदगी का अंबार लगा हुआ है, वहीं संसाधन के अभाव में नपा की स्वच्छता ग्रेडिंग नहीं बढ़ पा रही है। दो साल के दौरान नपा ने महज लगभग 564 प्लास्टिक और लोहे की डस्टबिनों की खरीदी की हैं, जिसमें से सैकड़ो की संख्या में प्लास्टिक की खरीदी गई डस्टबिन नपा के नए बस स्टैंड स्थित कैंपस में धूल खा रही हैं, वहीं नपा ने इसके बाद नगर में लगभग 63 लोहे की डस्टबिन खरीदी करके सूखे और गीले कचरे के निष्पादन के लिए जगह-जगह बाजार और दुकानों के सामने रखवाई हैं।
फरवरी में आएगी स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम-
जानकारी में बताया गया है कि नपा द्वारा जहां स्वच्छता की ग्रेडिंग बढ़ाने में अब तक कोई कारगर प्रयास नहीं हुए हैं, वहीं स्वच्छता सर्वेक्षण टीम इसी महीने फरवरी में आकर नगर के विभिन्न वार्डों की स्वच्छता की जानकारी जुटाकर अपनी रिपोर्ट और ग्रेडिंग जारी करेगी। इसको लेकर नपा द्वारा लगातार उदासीनता बरती जा रही है।
कबाड़ हो गई डस्ट स्लीपिंग मशीन-
जानकारी में बताया गया है कि नगर की सड़कों से धूल और रेत हटाने के लिए नपा द्वारा लगभग 5 लाख रुपए की लागत से डस्ट स्लीपिंग मशीन की खरीदी की और इसके बाद नगर की सड़कों में उसे सिर्फ दो बार सफाई के लिए निकाला गया और इसके बाद नपा ने उक्त मशीन नए बस स्टैंड परिसर में रख दी जो जंग और पानी खाने के कारण अब वर्तमान में कबाड़ का रूप ले ली है।
इन संसाधनों का अभाव-
जानकारी में बताया गया है कि नपा के पास नगर को स्वच्छ बनाने और स्वच्छता की रैंकिंग बढ़ाने के लिए संसाधनों का अभाव बना हुआ है। जहां एक तरफ सफाई कर्मियों की कमी और दूसरी ओर कचरा उठाव के लिए कम्पेक्ट डंपर, कंपेनर कैरियर, स्वीमिंग मशीन और हाइड्रोलिक सिस्टम तथा ईयर स्वीमिंग मशीन, का अभाव होने से नगर की सफाई और कचरा उठाव नहीं हो पा रहा है।
50 सफाई कर्मचारियों के लिए भेजा प्रस्ताव-
नपा ने नगर की स्वच्छता के लिए परिषद की बैठक के बाद 50 सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए प्रस्ताव बनाकर शासन के पास भेजा, लेकिन अभी तक स्वीकृति नहीं मिली है। वर्तमान में 200सफाई कर्मचारी और 14 कचरा उठाव वाहन और 7 टे्रेक्टरों से लगभग 20 से 25 टन कचरे का निष्पादन किया जा रहा है।
संसाधनों का अभाव
नगर की स्व्च्छता रैंकिंग के लिए फरवरी में सर्वे टीम आएगी। अभी ओडीएफ प्लस में नपा को रखा गया है। कुछ मकैनिकल खरीदी के प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। गनर की रैंकिंग बढ़ाने के लिए घर घर कचरा उठाव के साथ नगर की सफाई कराई जा रही है।
अजय श्रीवास्तव
सीएमओ
नपा-शहडोल

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s