न सिफारिशें काम आई, न विरोध, बरसों से किए कब्जे हटाए

शहर में अतिक्रमण व अवैध कब्जों के जाल से मुक्ति दिलाने को आखिरकार प्रशासन की कमिटमेंट गुरुवार को नजर आई। पिछले..

शहर में अतिक्रमण व अवैध कब्जों के जाल से मुक्ति दिलाने को आखिरकार प्रशासन की कमिटमेंट गुरुवार को नजर आई। पिछले करीब एक दशक में गुरुवार को पहली बार कब्जे-अतिक्रमण हटाने को पूरी सख्ती के साथ प्रशासन ने स्पेशल ड्राइव चलाई। कई जगहों से तो बरसों पुराने व स्थाई हो चुके कब्जे हटवाए गए। रेलवे रोड से उक्त ड्राइव शुरू हुई। जोकि देर शाम मेन बाजार तक चली। इस दौरान अफसरों के साथ दुकानदार खूब उलझे। सिफारिशें भी कराई, लेकिन अफसर टस से मस नहीं हुए। इस मुहिम से शहर खुश नजर आया। इसका असर भी दिखने लगा। अभी पूरा शहर बाकी है। अगले कुछ दिन और यह ड्राइव चलेगा।

पहले दिन से सबक, तामझाम के साथ अमला| यूं तो बुधवार को यह ड्राइव शुरू हुई थी, लेकिन तब आधी अधूरी तैयारियों के साथ अफसर कब्जे हटाने पहुंचे। जिस पर एसडीएम अश्वनी मलिक ने नप व पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को फटकारा भी। यह कहते हुए निकल गए कि जब पूरे बंदोबस्त हों, तो बुला लें।

साथ नहीं रिकॉर्ड, ताकते दिखे बगलें| दोपहर बाद तीन बजे नगर परिषद की टीम अम्बेडकर चौक से मुख्य बाजार फाटक तक रविदास मंदिर की दुकानों में बनी मार्केट में सड़कों पर अतिक्रमण हटाने पहुंची। नप ईओ के आदेश पर जैसे ही टीम दुकानों के बाहर सड़कों पर रखे सामान उठाने लगी, तो मार्केट के दुकानदार इसे रविदास मंदिर की जगह बताने लगे। साथ ही नप को सड़क का रिकॉर्ड दिखाने की मांग की, लेकिन रिकॉर्ड दिखाने के नाम पर नप अधिकारी बगलें झांकने लगे। इस कारण कार्रवाई रोकनी पड़ी। फिर तय हुआ की रविदास मंदिर के पास मार्केट का नक्शा है। तब नप ईओ व टीम रविदास मंदिर पहुंची। वहां सभा कमेटी कार्यालय में रिकॉर्ड देखना शुरू किया। एसडीएम अश्विनी मलिक भी पहुंच गए। उन्होंने नप अधिकारियों को कब्जा हटाने की कार्रवाई से पहले नक्शा नप के पास होने की नसीहत दी। फिर एसडीएम व अन्य अधिकारियों ने नक्शा जांचा।

नक्शा लेकर पहुंचे अधिकारी-फिर बड़ी ड्राइव| करीब साढ़े तीन बजे एसडीएम अश्विनी मलिक और नप ईओ रविदास मंदिर सभा ने नक्शा लेकर दोबारा मार्केट पहुंची, फिर शहर में पहली बार अतिक्रमण के खिलाफ व्यापक कार्रवाई देखने को मिली। मौके पर पुलिस फोर्स बुलाई। इसके बाद नप ने रविदास मंदिर की दुकानों में फाटक तक 15 के करीब दुकानों में दुकानदारों द्वारा शेड व शटर लगाकर कब्जाए रास्ते पर जेसीबी चलाई।

दुकानदारों ने विरोध किया, लेकिन एसडीएम मलिक के तेवर देख दुकानदारों में हड़कंप मच गया। इसके बाद टीम ने किसी की एक न सुनी। दुकानों पर 15 से 20 फुट तक कब्जे जेसीबी की मदद से हटाए। जिन दुकानदारों ने सामान नहीं हटाया, तो एसडीएम ने उनका सामान भी जब्त कराया।

पहली बार बड़ा एक्शन, खुश दिखा शहर| प्रशासन की इस कार्रवाई से उक्त मार्केट में बेशक रोष था, लेकिन पूरे शहरवासियों ने सराहा। ऐसी सख्ती से ही अतिक्रमण व कब्जों से मुक्ति मिलेगी। प्रशासन इसे निरंतर जारी रखे।

एसडीएम बोले- मुझे नहीं करनी कोई बात| दुकानदार एसडीएम अश्विनी मलिक से भी उलझते दिखे। बातचीत को पीछे-पीछे लगे रहे। तंग आकर एसडीएम बोले कि मुझे कोई बात नहीं करनी।

कोई लॉजिक वाली बात हो तो बताएं, वरना कब्जे हटकर रहेंगे। अतिक्रमण सहन नहीं होगा। रूटीन में यह कार्रवाई जारी रहेगी। जो दुकानदार खुद अतिक्रमण हटा लेंगे तो ठीक, नहीं तो जेसीबी चलेगी। साथ ही सामान जब्त होगा।

डीसी घूमे तो बदली तस्वीर| डीसी धीरेंद्र खड़गटा शहर की सड़कों को अतिक्रमणमुक्त करने को गंभीरता दिखा रहे हैं। तीन दिन पहले उन्होंने खुद पैदल बाजारों में घूम अतिक्रमण की स्थिति देखी थी, अधिकारियों को कब्ज धारियों के खिलाफ सख्ती दिखाने के निर्देश दिए थे।

फोन पर कहा : डीसी ने मार्केट उजाड़ी, कराओ तबादला

कब्जाधारी दुकानदारों में ड्राइव से हड़कंप मचा रहा। दुकानदार सत्तापक्ष के नेताओं को फोन लगाते रहे। सभी दुकानदारों ने एकजुट होकर अंबेडकर चौक पर स्थित एक व्यापारी व भाजपा नेता को विधायक सुभाष सुधा को फोन लगाने को कहा। हालांकि पीठदर्द के चलते आपरेशन कराने लंबे समय से शहर से बाहर हैं। जिसपर विधायक सुभाष सुधा के बेटे साहिल सुधा को फोन लगाया। उक्त व्यापारी नेता ने फोन पर कहा साहिल डीसी ने तो पूरी मार्केट उजाड़ दी। अगर यह नहीं सुनता, तो इसका तबादला कराओ। पूरे शहरवासियों में रोष हैं। इसके बाद प्रदीप झांब ने दुकानदारों को आश्वासन दिया कि डीसी से बातचीत की जा रही है, लेकिन इस सिफारिश का कोई असर नहीं दिखा।

{रविदास मार्केट में हंगामा, विरोध में थमी एक घंटा मुहिम, एसडीएम व अफसरों के साथ उलझे दुकानदार{विधायक के बेटे को फोन लगाकर डीसी के तबादले की मांग करते दिखे दुकानदार

शहर में कब्जों का जाल; अतिक्रमण व कब्जों से मुक्ति को चली पहली सबसे बड़ी व व्यापक स्पेशल ड्राइव

कुर्सी-गद्दों की दुकान के सामने फुटपाथ पर रखा सामान टीम ट्रॉली में डालने लगी, तो दुकानदार नप कर्मचारियों के साथ हाथापाई करने लगे। जिससे पुलिस ने बीच-बचाव किया। वहीं एसडीएम के साथ भी कई दुकानदार उलझने लगे, लेकिन पुलिस बल के आगे किसी की एक न चली। जेसीबी की मदद से दुकानों के बाहर स्थाई कब्जों पर कार्रवाई जारी रही।

दुकानदारों में आक्रोश : सामान जब्त कर रही टीम के साथ हाथापाई की भी नौबत आई

कुरुक्षेत्र| रेलवे रोड पर दुकानों के आगे से अतिक्रमण हटाती अर्थमूविंग व कार्रवाई के दौरान पीडब्ल्यूडी अधिकारियों के साथ बहस करते दुकानदार।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s