100 करोड़ से कम निवेश वाले लेकिन 500 से अधिक लोगों को रोजगार देने वाले उद्योग मेगा श्रेणी में शामिल होंगे: कमलनाथ (राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस)!

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को नई दिल्ली में उद्यमियों के साथ राउंड टेबल मीटिंग की।

कमलनाथ ने दिल्ली मेंटेक्सटाइल इंडस्ट्री और फूडसेक्टर की प्रमुख कंपनियों के साथ राउंड टेबलकाॅन्फ्रेंस कीउद्योगपतियों ने मप्र में 3250 करोड़ रुपए की निवेश की घोषणा की,इससे 14 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा

भोपाल.मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश पूरे देश में उद्योगों के लिए सबसे अनुकूल राज्य है। कुशल मानव संसाधन के साथ निवेश के लिए बेहतर वातावरण उपलब्ध है। कमलनाथ ने शुक्रवार कोनई दिल्ली में टेक्सटाइल इंडस्ट्री औरखाद्य प्र-संस्करण सेक्टर की प्रमुख कंपनियों केप्रमुखों के साथ राउंड टेबल काॅन्फ्रेंस की।कमलनाथ नेकहा कि प्रदेश में 100 करोड़ रुपएसे कम निवेश वाले लेकिन 500 से अधिक लोगों को रोजगार देने वाले उद्योग मेगा उद्योग की श्रेणी में शामिल होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योगों कोआवश्यक पैकेज दिया जाएगा। निवेश को बढ़ावा देने के लिए 7 दिनों के भीतर 40 सेवाओं के लिए तत्काल मंजूरी और लाइसेंस अनिवार्य रूप से मिल जाएंगे। निवेश पोर्टल द्वारा प्रदान की गई डीम्ड स्वीकृति को वास्तविक स्वीकृति / मंजूरी के बराबर माना जाएगा और इसकी कानूनी मान्यता होगी। औद्योगिक पार्कों के बाहर स्थापित परिधान इकाइयों को परिधान क्षेत्र को दिये जा रहे पैकेज के तहत प्रोत्साहन राशि मिलेगी। गोलमेज कान्फ्रेंस में देश के शीर्ष उद्योगपतियों ने 3250 करोड़ रुपये की निवेश की घोषणा की। इससे 14 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

एकीकृत इकाईयों के प्रोत्साहन के लिए नीति बनेगी

कमलनाथ ने इन सेक्टरों को आगे बढ़ाने में उद्योगपतियों से सहयोग मांगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जैविक कपास से कपड़ा और परिधान बनाने के लिए और अधिक प्रोत्साहन देने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने बताया कि कॉटन उत्पादक किसानों और संबंधित निर्माताओं को शामिल करते हुए राज्य शासन ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया है। समिति वस्त्र / परिधान के लिए कपास के उपयोग को बढ़ावा देने के उपायों पर अमल करेगी। राज्य सरकार कपड़ा क्षेत्र में समग्र और एकीकृत इकाइयों को प्रोत्साहित करने के लिए एक नीति भी तैयार करेगी।

प्लग एंड प्ले औद्योगिक पार्क सीहोर में बनेगा

मुख्यमंत्री ने बताया कि 5 करोड़ रुपये से अधिक की निवेश विस्तार योजना को भी प्रोत्साहन राशि मिलेगी। अब तक यह प्रावधान था कि प्रोत्साहन राशि मूल निवेश के केवल 30 प्रतिशत राशि पर जो 10 करोड़ रुपये से कम नहीं पर ही मिलती थी। इससे पहले से निवेश कर चुकी इकाइयों की निवेश विस्तार योजनाओं को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में प्लग एंड प्ले औद्योगिक पार्क 60 एकड़ क्षेत्र में बदिया खेड़ी (सीहोर) में विकसित किया जाएगा। यह भोपाल हवाई अड्डे से केवल 28 किलोमीटर दूर है और भोपाल-इंदौर राजमार्ग के करीब है। मुख्यमंत्री ने सभी निजी डेवलपर्स से आग्रह किया है कि वे इन्दौर के समीप स्थित बरलाई में पीपीपी मॉडल पर परिधान पार्क के विकास के लिए आगे आएं। यह स्थान इंदौर से 20 किलोमीटर दूर देवास मार्ग पर स्थित है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s