घर या ऑफिस से निकलो तो मिल जाती है माफियाओं को सूचना

नर्मदा नदी स्थित एक्वाडक्ट पुल के नीचे से पकड़े चार ट्रैक्टर शनिवार सुबह जिले की खनिज विभाग अधिकारी रीना…

नर्मदा नदी स्थित एक्वाडक्ट पुल के नीचे से पकड़े चार ट्रैक्टर

शनिवार सुबह जिले की खनिज विभाग अधिकारी रीना पाठक अपने अमले के साथ नावघाटखेड़ी पहुंची। जहां तीन ट्रैक्टरों को नर्मदा तट पर रेत भरते हुए पकड़ा। अन्य ग्रामों में इसकी सूचना मिलते ही मौके से खाली ट्रैक्टर लेकर चले गए। नावघाटखेडी स्थित नर्मदा तट पर मौका मुआयना करने पर अधिकारियों को जगह-जगह उत्खननकर्ताओं द्वारा किए गए बड़े-बड़े गड्‌ढे नजर आए। उन्होंने निरंतर इस कार्रवाई को जारी रखने की बात कही। तीनों ट्रैक्टरों को पुलिस थाने भेजा गया। इसके बाद एक और ट्रैक्टर को पकड़ कर चारों ट्रैक्टरों को बड़वाह पुलिस थाने भेजा गया।

प्रतिबंध के बाद भी क्षेत्र के नर्मदा तटीय क्षेत्रों में मनमाने तरीके से अवैध खनन किया जा रहा है। नगर व ग्रामीण क्षेत्र के रेत माफिया नर्मदा तक तटों को छलनी करने में लगे हैं। नर्मदा के घाटों पर रेत माफिया अवैध उत्खनन का रहे हैं। खनिज विभाग और राजस्व विभाग के खुफिया तंत्र से ज्यादा रेत माफियाओं के मुखबिर सक्रिय हैं। अधिकारियों के पहुंचने से पहले ही रेत माफिया वहां से भाग जाते हैं। खनिज अधिकारी पाठक ने बताया कई बार सूचना मिलने पर कार्रवाई के लिए जाते हैं लेकिन मौके पर कभी कुछ ट्रैक्टर मिलते हैं तो कभी कोई नहीं मिलता है। उन्होंने कहा रैकी बहुत होती है। घर से निकलो या ऑफिस से रेत माफियाओं को हमारी सूचना पहुंच जाती है। शिकायत के बाद नावघाट खेड़ी पर पहुंचे थे। जहां चार अवैध रेत के ट्रैक्टरों को पकड़ कर कार्रवाई की गई। लोगों ने बताया नर्मदा क्षेत्र के ग्राम सेमरला, गंगातखेड़ी, मुराल्ला, कटघडा, कपास्थल, नावघाट खेड़ी पर बड़ी मात्रा में उत्खनन धड़ल्ले से जारी है। प्रशासनिक लापरवाही व खनिज विभाग की ठोस कार्रवाई न होने के कारण रेत माफियाओं ने इन घाटों पर बड़ी-बड़ी खाई बना दी है, जो बारिश में जानलेवा साबित हो सकती है।

कार्रवाई में ट्रैक्टर को जब्त किया।

और इधर… शहर में जगह-जगह लगे हैं रेत के ढेर, बिना रायल्टी के बेच रहे रेत

सनावद | शहर में करीब 10 से अधिक स्थानों पर अवैध रेत का संग्रहण कर बेची जा रही है। इसमें रेत माफिया खाली प्लाटों पर रेत संग्रहित कर रहे हैं, जो बिना रायल्टी की है। शहर में खनिज विभाग की कार्रवाई नहीं होने से रेत माफियाओं में डर नहीं है। स्थानीय रहवासियों ने बताया कि नर्मदा नदी के आसपास वर्तमान में रेत उत्खनन का कोई भी ठेका नहीं है। इसके बाद भी शहर में रेत का विक्रय किया जा रहा है। इसके लिए रेत माफिया कुछ मात्रा में रायल्टी वाली रेत रखते हैं बाकी बिना रायल्टी के ही महंगे दामों में विक्रय करते हैं। शहर के मुख्य मार्ग से लगे कई रहवासी क्षेत्र में आसानी से रेत के ढेर संग्रहित करते हुए दिखाई दे रहे हैं। इसके बाद भी खनिज विभाग यहां पर कार्रवाई नहीं करता है। स्थानीय रहवासियों ने खनिज विभाग से संग्रहित रेत की जानकारी लेकर कार्रवाई करने की मांग की है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s