पटवारी प्रशासन का चेहरा है, इसलिए अपनी जिम्मेदारी ईमानदारी से निभाएं : मंत्री राजपूत

सुरखी के पटवारी प्रदेश के पटवारियों के लिए आदर्श बनें पटवारी, प्रशासन का चेहरा हैं। वे शासन किसी भी सरकारी.

सुरखी के पटवारी प्रदेश के पटवारियों के लिए आदर्श बनें

पटवारी, प्रशासन का चेहरा हैं। वे शासन किसी भी सरकारी जिम्मेदारी को कैसे निभाते हैं। उनका जनता के प्रति कैसा व्यवहार है। इस सब से सरकार की छवि तय होती है। इसलिए मैं,आप सभी का आह्वान करता हूं कि अपने काम में किसी तरह की कोताही नहीं करें। राजस्व समेत सौंपे गए अन्य कामों को जल्द से जल्द पूरा करें। यह बात राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंदसिंह राजपूत ने मंगलवार को ई-बस्ता परियोजना के तहत पटवारियों के लिए लैपटॉप वितरण कार्यक्रम में कही। आयोजन विवि के स्वर्ण जयंती सभागार में किया गया था। राजपूत ने सुरखी विस क्षेत्र के 34 पटवारियों को लैपटॉप बांटे। कार्यक्रम में आयुक्त, भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त ज्ञानेश्वर पाटिल, कमिश्नर आनंदकुमार शर्मा, कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक, अपर कलेक्टर मूलचंद वर्मा समेत प्रशासन के अधिकारी, पटवारी समेत राजस्व विभाग का अमला मौजूद था।

मंत्री राजपूत ने कहा कि राजस्व विभाग अब आधुनिकीकरण की ओर बढ़ रहा है। इसी कड़ी में यह पहला कदम है। इस शुरुआत से पटवारियों के साथ-साथ नागरिकों को भी कई परेशानियों से निजात मिलेगी। राजपूत ने कहा कि सरकार विभाग का भी मॉडर्नाइजेशन कर रही है। जैसे कई बार सीमांकन कराने में दिक्कत होती है। लेकिन राज्य सरकार ने अब भारत सरकार से एमओयू कर लिया है। इसके चलते यह काम किसी भी मौसम में ड्रोन व ट्रेकिंग मशीन से किया जा सकेगा। आम नागरिक एमपी ऑनलाईन के जरिए खसरा, बी-1, नक्शा समेत अन्य राजस्व रिकार्ड घर बैठे प्राप्त कर सकेंगे। उन्होंने पटवारियों को सप्ताह में दो दिन अपने हलके में जाकर काम करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने बीते साल राजस्व मामलों के निराकरण व लोक अदालत के आयोजन पर भी बात की।

आयुक्त, भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त पाटिल ने कहा कि आज सुरखी के जिन 34 पटवारियों को लैपटॉप दिए गए हैं। उनके ऊपर बड़ी जवाबदारी है। वे इस ई-बस्ते से नागरिकों की अधिक से अधिक सेवा करें और प्रदेश के 20 हजार पटवारियों के लिए आदर्श स्थापित करें। संभागीय आयुक्त शर्मा ने कहा कि आपदा कार्यों में पटवारी सबसे पहले मिलता है। वह अपनी इस भूमिका को और मजबूत करें। कलेक्टर मैथिल ने कहा कि 6 महीने के भीतर राजस्व अमले के काम को कार्यालय में बैठकर देखा जा सकेगा। कार्यक्रम के दौरान पूर्व सांसद आनंद अहिरवार, वीरेन्द्र गौर, श्री कमलेश बघेल, शारदा खटीक, अतुल नेमा, प्रमिला राजपूत, पप्पू गुप्ता, शिवशंकर यादव, संदीप सबलोक, पटवारी संघ के अध्यक्ष उपेंद्रसिंह बघेल अादि मौजूद रहे।

पटवारियों के साथ-साथ विभाग का भी मॉर्डनाइजेशन

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s