लॉकडाउन की वजह से गुजरात से पैदल लौट रहे राजस्थान के हजारों मजदूर

लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से गुजरात (Gujarat) में काम करने वाले राजस्थान (Rajasthan) के हजारों प्रवासी मजदूर परिवहन सेवा उपलब्ध न होने की वजह से पैदल ही अपने घर को लौट रहे हैं.

अहमदाबाद. कोरोना वायरस (Coronavirus) फैलने के खतरे को देखते हुए 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन के बीच गुजरात (Gujarat) में काम करने वाले राजस्थान (Rajasthan) के हजारों प्रवासी मजदूर परिवहन सेवा उपलब्ध न होने की वजह से पैदल ही अपने घर को लौट रहे हैं. हालांकि, गुजरात पुलिस उन्हें समझाने का प्रयास कर रही है कि वे यात्रा न करें.



अहमदाबाद के एक कांग्रेस नेता ने राजस्थान सरकार से अनुरोध किया है कि गुजरात-राजस्थान सीमा के पास स्थित अरवल्ली जिले के शामलजी उपनगर में ऐसे मजदूरों के पहुंचने पर उनके लिए परिवहन का इंतजाम किया जाए. राजस्थान के डूंगरपुर जिले के निवासी और अहमदाबाद में काम करने वाले राधेश्याम पटेल ने कहा कि बिना किसी कमाई के यहां रहने का कोई औचित्य नहीं है.

काम बंद हो जाने की वजह से लौटने पर मजबूर

उन्होंने कहा, “हम लोग यहां चाय की दुकानों या खानपान की रेहड़ी पर काम करते हैं. चूंकि सब कुछ बंद है इसलिए हमारे मालिकों ने हमसे कह दिया है कि हालात ठीक हो जाएं तब आना क्योंकि उनके पास हमें देने के लिए पैसे नहीं हैं. बस और अन्य माध्यम उपलब्ध नहीं हैं इसलिए हमने पैदल ही घर जाने का निश्चय किया है.”

पटेल उस 50 सदस्यीय समूह का हिस्सा हैं जिसने मंगलवार की रात पैदल यात्रा शुरू की थी. राजस्थान के उदयपुर जिले के रहने वाले मांगी लाल ने कहा, “मुझे वायरस के खतरे के बारे में पता है लेकिन हम असहाय हैं. बिना कमाई के हम तीन हफ्ते तक कैसे जिंदा रहेंगे? हमारे पास मकान मालिक को देने के लिए पैसे नहीं हैं. इससे अच्छा है कि हम अपने घर चले जाएं.”

पुलिस कर रही मजदूरों को समझाने की कोशिश

गांधीनगर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मयंक सिंह चावड़ा ने कहा कि पुलिस मजदूरों को मानवीयता के नाते खाने के पैकेट और पानी उपलब्ध करवा रही है. उन्होंने कहा, “हम इन प्रवासी मजदूरों को राजस्थान वापस जाने से रोकने का भरसक प्रयत्न कर रहे हैं. इनके जाने से लॉकडाउन का उद्देश्य सफल नहीं होगा.”

गुजरात प्रवासी मजदूर कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक पंजाबी ने दावा किया कि केवल अहमदाबाद से पचास हजार से अधिक मजदूर पैदल ही राजस्थान स्थित अपने घर की ओर रवाना हो चुके हैं.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s