कोरोना / सरकारी अस्पतालों में वेंटिलेटर की कमी, जरूरत 755 की, हैं 349

वेंटिलेटर (फाइल फोटो)

जिला अस्पतालाें में वेंटिलेटर की इस कमी काे दूर करने स्वास्थ्य विभाग प्राइवेट हाॅस्पिटल्स से वेंटिलेटर लेगादूसरी ओर चिकित्सा शिक्षा विभाग ने मेडिकल काॅलेजाें से संबद्ध अस्पतालाें काे काेराेना पेशेंट ट्रीटमेंट सेंटर बनाना शुरू किया

भाेपाल।काेराेना के बढ़ते संक्रमण काे काबू करने राज्य सरकार के सामने सबसे बड़ी परेशानी वेंटिलेटर की खड़ी हाे गई है। सरकारी अस्पतालों में जरूरत 755 वेंटिलेटर की है जबकि हैं केवल 349 ही। हालात यह है कि जिला अस्पतालाें में काेराेना पेशेंट के इलाज के लिए सरकार काे 255 वेंटिलेटर की जरूरत है। लेकिन, जिला अस्पतालाें में महज 96 वेंटिलेटर ही उपलब्ध हैं। यह खुलासा स्वास्थ्य संचालनालय की जिला अस्पतालाें में काेराेना पेशेंट के इलाज के इंतजामाें की गैप एनालिसिस रिपाेर्ट में हुआ है।

जिला अस्पतालाें में वेंटिलेटर की इस कमी काे दूर करने स्वास्थ्य विभाग प्राइवेट हाॅस्पिटल्स से वेंटिलेटर लेगा। वहीं दूसरी ओर चिकित्सा शिक्षा विभाग ने भाेपाल, इंदाैर, ग्वालियर, जबलपुर और सागर के मेडिकल काॅलेजाें से संबद्ध अस्पतालाें काे काेराेना पेशेंट ट्रीटमेंट सेंटर बनाना शुरू कर दिया है। यहां काेराेना मरीजाें के इलाज के लिए 253 वेंटिलेटर रिजर्व किए गए हैं। जबकि अनुमानित जरूरत करीब 500 वेंटिलेटर्स की है। हालांकि पांचाें मेडिकल काॅलेज के डीन ने करीब 100 वेंटिलेटर के खरीदी आदेश जारी कर दिए हैं। इन वेंटिलेटर की डिलीवरी मेडिकल काॅलेजों के हाॅस्पिटल्स काे अगले एक सप्ताह में मिलेगी।

51 जिलों में 96 वेंटिलेटरअस्प्तालवेंटिलेटरगांधी मेडिकल काॅलेज , भाेपाल65एमजीएम मेडिकल काॅलेज, इंदाैर52जीआर मेडिकल काॅलेज ग्वालियर78बीकेएमसी, सागर38मेडिकल काॅलेज जबलपुर20

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s