583 डॉक्टरों पर है जिले के 16.64 लाख लोगों की सेहत की जिम्मेदारी, इसलिए आप घर पर ही रहिए

रामा लाइफ सिटी की काेरोना पॉजिटिव महिला के बिलासपुर में ही संक्रमित होने की खबर है। वह 40 दिन पहले 10 फरवरी को सउदी.

रामा लाइफ सिटी की काेरोना पॉजिटिव महिला के बिलासपुर में ही संक्रमित होने की खबर है। वह 40 दिन पहले 10 फरवरी को सउदी अरब से लौटी थी। स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि इस बीच दो बार उसके ब्लड सैंपल की जांच हो चुकी थी। तीसरी बार में रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव निकला। इसका साफ मतलब है कि जितने दिन बाद उसे बीमारी हुई वह कोरोना संक्रमण अवधि से निकल चुकी थी। विदेश से आने के बाद वह शहर के कई पार्टियों में भाग ली और लाेगों से मिली। माना जा रहा है वह इसी
दौरान ही संक्रमित हुई। इससे साफ जाहिर होता है कि शहर में महिला को संक्रमित करने वाला कोई और मौजूद है जिसके संपर्क में वह आई होगी और संक्रमित व्यक्ति अभी तक काफी लोगों से मिल चुका होगा। इस मामले में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। पहला ताे यह कि महिला की विदेश से लौटने के बाद उसपर नजर नहीं रखी अाैर उसे क्वॉरेंटाइन नहीं किया अाैर न ही उससे मिलने जुलने वालाें की पहचान की। इनमें से कोई भी आइसोलेट भी नहीं हुआ। 10 अप्रैल से 24 मार्च तक स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी लापरवाह बने हैं। अब जबकि पॉजिटिव रिपोर्ट आ चुकी है इसके बाद भी कोई गंभीरता नहीं बरती जा रही है। महिला को गोंड़पारा के परिवार ने दावत दी गई थी। इसमें महिला के अलावा और भी 10-12 लोग शामिल थे। इसके बाद वह इसी मोहल्ले की डेयरी में गई और वहां आइसक्रीम या रबड़ी खाई। महिला पॉजिटिव पाई गई है। जिला प्रशासन व पुलिस लोगों को
बचाने में दिन रात मेहनत कर रहे हैं पर स्वास्थ्य अमला किसी तरह की गंभीरता नहीं बरत रही है। सीएमएचओ प्रमोद महाजन का कहना है कि विदेश से लौटने के बाद महिला का दो बार ब्लड टेस्ट कराया गया।रिपोर्ट निगेटिव आई थी। सऊदी अरब से माह 10 फरवरी को बिलासपुर लौटी 65 वर्ष की महिला का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है। उन्हें अपोलो अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में दाखिल कराया गया है। महिला का स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक बार फिर ब्लड सैंपल रायपुर एम्स भेजा है। महिला के बाबजी पार्क में रिश्तेदार हैं और यहां वह रुकी थी।

घर में ही रहें

सबसे ज्यादा अलर्ट का समय

पॉजिटिव महिला बिलासपुर में ही संक्रमित हुई? यानी और फैल सकता है कोरोना
बिलासपुर

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन कर दिया गया है। इसमें सभी को अपने घरों में ही रहना है जिससे यह वायरस फैल न सके। कोरोना को लेकर जिले में भी व्यवस्थाएं की गई हैं। जो हालात चिकित्सकीय व्यवस्थाओं के हैं उससे तो यही कहा जा सकता है कि घर में ही रहना जरूरी है, क्योंकि कोरोना अगर फैला तो संभाले नहीं संभलेगा। कोरोना की इस
लड़ाई में 10 सरकारी अस्पतालों के साथ 11 निजी अस्पतालों को भी जोड़ा गया है। इन 21 अस्पतालों में डॉक्टरों की संख्या है
583 है जबकि जिले की
आबादी है 16 लाख 64 हजार से अधिक। इन 21 अस्पतालों में 2423 बिस्तर हैं जिनमें से सिर्फ 144 बिस्तर ही आइसोलेशन वार्ड में हैं। इसलिए बेहतरी इसी में है कि सब अपने को घर में ही आइसोलेट कर लें।

40 दिन बाद नींद खुली, अब भी धीमी चल रही है कार्रवाई

महिला के पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने के बाद भी किसी तरह की गंभीरता नहीं बरती जा रही है। स्वास्थ्य विभाग को अभी तक उनसे मिलने जुलने वालों की जानकारी नहीं है। रामा लाइफ सिटी के लोगों काे क्वॉरेंटाइन करने का दावा किया जा रहा है पर वहां लोग अब भी आ जा रहे हैं। इसी तरह गाेड़पारा में जहां पार्टी मनाने गई थी, वहां भी पूरे लोगों की पहचान नहीं हो पाई है। महिला के नौकर अटल आवास में रहता है। उसे शुक्रवार को क्वॉरेंटाइन किया गया है। महिला व उसके संपर्क में आने वाले लोगों को जिस समय घर पर रहना चाहिए था वे खुले में घूम रहे हैं।

2855 लोगों में एक डॉक्टर,स्थिति ठीक-मूर्ति : इंडियन मेडिकल एसाेसिएेशन के जिला अध्यक्ष व माइक्रो_बायलॉजी विभाग के प्रमुख डा. रमणेश मूर्ति के अनुसार बिलासपुर में डॉक्टरों की संख्या ठीक हालत में है। 2855 की आबादी पर एक डॉक्टर का होना अच्छा ही कहा जाएगा।

1 हजार जनसंख्या के बीच एक डॉक्टर की जरूरत : विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार एक हजार की जनसंख्या पर एक डॉक्टर होना चाहिए। भारत में अभी 1800 की जनसंख्या के बीच 1 डॉक्टर है। छत्तीसगढ़ में 15 हजार की जनसंख्या के बीच 1 डॉक्टर है। जबकि बिलासपुर में 2855 की जनसंख्या के बीच एक डॉक्टर है। यह स्थिति अच्छी कही जा सकती है लेकिन सुखद नहीं। इस हिसाब से जिले में डॉक्टरों की संख्या ज्यादा कम नहीं है लेकिन फिर भी कम तो है ही इसलिए एहतियात बरतना बेहद जरूरी है। सबसे खराब हालात बिहार के हैं यहां 28 हजार की जनसंख्या पर 1 डॉक्टर है।


कोरोना अपडेट

{आइसोलेट किए गए – 396

{गृह मंत्रालय से प्राप्त संख्या – 74

{104 से प्राप्त जानकारी – 375

{स्वयं दी जानकारी – 08

{आज आए यात्रियों की संख्या – 40

{जांच के लिए लिए गए कुल सैंपल – 51

{आज लिए गए सैम्पल – 20

{निगेटिव पाए गए सैम्पल – 20

{पॉजीटिव पाए गए सैम्पल – 01

{लंबित रिपोर्ट – 30

रामाग्रीन सिटी निवासी महिला की दूसरी रिपोर्ट भी आई पॉजीटिव : रामाग्रीन सिटी में रहने वाली 65 वर्षीय महिला का जो दूसरा सैम्पल जांच के लिए भेजा गया था। उसकी रिपोर्ट दूसरी बार भी पॉजीटिव आई है। जबकि महिला के पति व अन्य परिजनों की रिपोर्ट शुक्रवार काे भी नहीं मिल सकी। सउदी अरब से वापस आईं इन 65 वर्षीय महिला के संपर्क में आए लोगों की तलाश की जा रही है। जितने मिलते जा रहे हैं उन सभी का सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजा जा रहा है।


डाॅ. बुधिया दंपति की रिपोर्ट आई निगेटिव : बृहस्पति बाजार में रहने वाले डा. बुधिया दंपति व उनके बेटे की रिपोर्ट निगेटिव आई है। बता दें कि डा. बुधिया का बेटा अमेरिका से वापस आया है और दंपति उसे कार से लेने गए थे। हालांकि अभी पूरा परिवार क्वारेन्टाइन में ही रहेगा।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.