दूसरे प्रदेशों से लौटे 5 हजार 467 ग्रामीण सरपंच व मितानिनों की निगरानी में

जांजगीर- चांपा (नईदुनिया न्यूज)। जिले के 20 लोग विदेश से वापस आए हैं। विदेश से आने वाले लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई है मगर किसी भी व्यक्ति में कोरानो के लक्षण नहीं पाए गए हैं। सभी को होम आशोलेसान में रहने की सलाह दी गई है। वहीं अब खतरा उन लोगों से है जो देश के अलग-अलग राज्यों में रहकर आए हैं। स्वास्थ्य विभाग के पास ऐसे साढ़े 5 हजार लोगों की सूची है जो देश के विभिन्न प्रांतो से लौटे हैं। इन लोगों के भी स्वास्थ्य की जांच कर उन्हें घर में ही रहने की समझाइश दी गई है मगर इनमें से कई लोग स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं।

कोरोना वायरस का जिले में अभी तक एक भी मामला सामने नहीं आया है। जो सुखद खबर है। इससे निपटने के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग का अमला पूरी तरह से तैयार है। जिले से बड़ी संख्या में लोग अमेरिका, चीन, दुबई, सऊदी अरब, कनाडा सहित अन्य देशों में रहते हैं। विदेशों में कोराना वायरस के बढ़ते असर को देखते हुए विदेश से लौटे 20 लोगों की पहचान हुई है। सभी के स्वास्थ्य की जांच कर डॉक्टर ने उन्हें होम आइशोलेसन में रहने के निर्देश दिए हैं। इसी प्रकार बड़ी संख्या में जिले के खोखरा, धाराशीव, धुरकोट, कुटरा, बसंतपुर, जर्वे, बनारी, बोड़सरा, नैला, कुकदा, पाली, हसौद, जैजैपुर क्षेत्र के लोग बड़ी संख्या में कमाने- खाने के लिए महाराष्ट्र, जम्मूकश्मीर, दिल्ली, पंजाब, गुजरात, हरियाणा सहित अन्य राज्यों में गए हुए थे। इस दौरान जिले में ऐसे करीब 5 हजार 467 लोग विभिन्न प्रांतो से वापस लौटे हैं। पता चलने पर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा इन गांवों में टीम भेजकर व जिला अस्पताल में उनके स्वास्थ्य की जांच की गई। कई गांव स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची भी नहीं है न ही ग्रामीण अस्पताल जाकर उपचार कराए। हालांकि जितनी जांच हुई है उनमें से किसी भी मजदूर के शरीर में कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं। इसलिए उन्हें घर में ही रहने की सलाह दी गई थी। विभिन्न प्रांतो से आए हुए ये लोग गांव में खुलेआम घूम रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के किसी भी निर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं। इसकी वजह से ग्रामीणों में दहशत है। जिस कम्प्यूनिटी स्प्रेड (सामुदायिक फैलाव) या वायरस के फेज-3 की बात की जा रही है, इसके लिए ऐसे लोग भी जिम्मेदार होंगे। स्वास्थ्य विभाग की मानें तो यह आंकड़ा और भी ज्यादा हो सकता है, क्योंकि बड़ी संख्या में मजदूर और बेरोजगार युवा काम के सिलसिले में आते-जाते रहते हैं। ऐसे में हर व्यक्ति को ढूंढ़ पाना और नजर रख पाना संभव नहीं है। देश के 75 जिलों में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज मिलें हैं। इनमें छत्तीगसगढ़ की सीमा से लगे महाराष्ट्र, तेलंगाना, मध्यप्रदेश और ओडीसा प्रमुख रूप से शामिल हैं। महाराष्ट्र में तो सर्वाधिक केस मिल चुके हैं। इसलिए खतरा ज्यादा है। विभिन्न राज्यों से लौटे लोगों की निगरानी की जिम्मेदारी सरपंच और गांव के कोटवार को दी गई है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कोरोना वायरस को लेकर प्रशासन कितना गंभीर है और विभिन्न प्रांतो से आए हुए मजदूर कितने लापरवाह हैं।

3 हजार की आबादी पर एक एएनएम

स्वास्थ्य सेवा की बुनियाद ग्रामीण क्षेत्रों में एएनएम और मितानीन ही हैं। 3 हजार की आबादी पर एक एएनएम और 1 हजार की आबादी पर एक मितानीन हैं। इनकी रिपोर्टिंग ही कोरोना के खतरे को काफी हद तक कम करने में सहायक होगी। मगर कई गांवों में लोग मितानिन व पंचायत प्रतिनिधियों की बात नहीं मान रहे हैं। ऐसे में ये उनके लिए भी खतरनाक हो सकता है।

कई लोगों ने नहीं कराई जांच

शहरों में भी बाहर से आकर कई लोग जांच कराने अस्पताल नहीं गए और अपने घरों में ही दुबके हुए हैं। पड़ोसियों के द्वारा इलाज के लिए बोलने पर भी उनसे झगड़ा किया जाता है। जांजगीर के ही वार्ड नंबर 23 में एक व्यक्ति के सप्ताह भर पहले आने की सूचना है। वार्ड पार्षद भी उसके घर जाकर उपचार के लिए आग्रह कर चुका है मगर उसने इंकार कर दिया। इसी तरह विभिन्न मोहल्लों में बाहर से आकर लोग रह रहे हैं और पड़ोसियों में इसको लेकर भय का माहौल है।

13 लोगों की होम क्वारेंटाइन अवधि पूरी

जिले में 20 ऐसे लोग चिन्हित किए गए हैं जो विदेश से लौटे हैं। इनमें से 13 लोगों की क्वारेंटाइन की अवधि पूरी हो गई है और वे स्वस्थ हैं से सात लोग ही अब क्वारेंटाइन में हैं।

” विदेश से आने वाले लगभग सभी लोग ट्रेस हो गए हैं। विभिन्न प्रांतो से आने वाले लोगों पर भी नजर रखी जा रही है। उन्हें अपने घरों में 14 दिन तक रहने को कहा गया है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.