CORONA : बाहर से लौटे हैं और मन में है आशंका तो खुद को ऐसे करें क्वॉरंटाइन

परिवार के साथ देश को बचाने कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम में बनें सहभागी

छिंदवाड़ा/ इन दिनों पूरा देश लॉकडाउन है, इसके बावजूद कई लोग दिल्ली, मुम्बई, हैदराबाद, इंदौर जैसे महानगरों समेत कोरोना के हॉट स्पॉट बन चुके शहरों से घर लौट रहे हैं। शहर समेत गांवों में ऐसे कई लोग हैं। अगर उनके मन में आशंका है तो स्वयं को अपने ही घर में क्वॉरंटाइन कर परिवार के साथ देश को कोरोना के संक्रमण से बचा सकते हैं। तो आइए हम बताते हैं कि होम आइसोलेशन के लिए क्या करना है।
स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले अन्य व्यक्तियों का विचरण उसके घर तक सीमित करने के लिए होम आइसोलेशन के दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

बता दें कि देश में लागू 21 दिन के लॉकडाउन के अब 14 दिन ही शेष रह गए हैं, ऐसे में इन 14 दिनों में खुद को घर में क्वॉरंटाइन करना बेहद महत्वपूर्ण भी है।

होम आइसोलेशन के मानक

1. ऐसे सभी व्यक्ति जिन्होंने पिछले 1 माह के भीतर चीन या अन्य प्रभावित देश की यात्रा की हो ( लक्षण नहीं होने पर भी)
2. ऐसे व्यक्ति जिनमें कोरोना वायरस के संक्रमण के कोई भी लक्षण जैसे सर्दी, खांसी बुखार इत्यादि हों लेकिन चिकित्सक द्वारा होम आइसोलेशन की सलाह दी गई हो।

होम आइसोलेशन में क्या करना चाहिए

1. व्यक्ति एक अलग कमरे में रहे जो हवादार तथा स्वच्छ हो जहां संलग्न टॉयलेट, बाथरूम की व्यवस्था हो।
2. 14 दिवस तक घर में उस निर्धारित कमरे में ही रहे।
3. अपने स्वास्थ्य के सम्बन्ध में जागरूक रहे। लक्षण उत्पन्न होने पर तत्काल फ ोन पर जिला नोडल अधिकारी, सीएमएचओ, जिला सर्वेलेंस अधिकारी को सूचित करें।
4. खांसते व छींकते समय रूमाल उपयोग करें, नियमित रूप से हाथ धोएं, प्रयोग किए कपड़ों, रूमाल आदि को साबुन डिटर्जेंट से धोएं।
5. अधिक मात्रा में तरल पदार्थ लेते रहे।

होम आइसोलेटेड व्यक्ति क्या न करें

1. भीड़ वाले स्थान में ना जाएं।
2. घर के साझे स्थान जैसे किचन, हाल इत्यादि का उपयोग कम से कम करें।
3. परिवार के अन्य सदस्यों के निकट संपर्क में ना आएं।
4. बार-बार अपना चेहरा, आंखें ना छुएं।
5. घर में अतिथि या अन्य बाहरी व्यक्ति को आमंत्रित ना करें।
6. इधर-उधर ना छींके न थूकें। जहां तक हो सके पानी भरे बर्तन में ही थूंके। जिससे छींटों से होने वाले संक्रमण की संभावना को कम से कम किया जा सके।
7. बुजुर्ग व्यक्ति, गर्भवती महिला और बच्चों से विशेष तौर पर दूर रहें।

होम आइसोलेटेड व्यक्ति के परिजन को क्या करना है

1. परिवार के कम से कम व्यक्ति होम आइसोलेटेड की देखभाल करें। व्यक्ति हमेशा मास्क पहन कर ही होम आइसोलेटेड व्यक्ति के पास जाए।
2. परिवार के बाकी सदस्य अलग कमरे में रहे, यदि ऐसा नहीं संभव हो तो कम से कम एक मीटर की दूरी बना कर रखे।
3. होम आइसोलेटेड व्यक्ति द्वारा घर के साझे स्थानों में विचरण न किया जाए। यदि किसी कारणवश उन स्थानों में जाना पड़ता है तो घर के जिन साझे स्थानों का उपयोग होम आइसोलेटेड व्यक्ति द्वारा भी किया जा रहा है उनके खिडक़ी, रोशनदान इत्यादि खुले रखे जाएं।
4. होम आइसोलेटेड व्यक्ति के संपर्क में आए सभी कपड़े को नियमित रूप से कीटाणुनाशक से साफ करें।
4. आइसोलेटेड व्यक्ति में व परिवार के किसी भी सदस्य में कोई भी लक्षण उत्पन्न होने पर तत्काल जिला नोडल अधिकारी को सूचित करें।
6. घर में पालतू पशु हों तो उन्हें होम आइसोलेटेड व्यक्ति से दूर रखें।

होम आइसोलेटेड व्यक्ति के परिजन क्या न करें

1. आइसोलेटेड व्यक्ति के साथ बर्तन, कपड़े एवं बिस्तर इत्यादि साझा ना करें।
2. आइसोलेटेड व्यक्ति का मास्क एवं अन्य व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण सामग्री घर के अन्य सदस्य उपयोग ना करें।


मध्यप्रदेश में मज़दूर साथियों के भोजन, राशन और अत्यावश्यक सामग्री की व्यवस्था प्रशासन द्वारा की जा रही है।

आप अगर परेशानी में हैं तो कृपया इन नंबर पर बात करें:

0755-2708030
0755-2708003

अधिक जानकारी के लिए टोल-फ्री नम्बर 104 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.