400 साल पहले महामारी के समय ली प्रतिज्ञा को अब तक निभा रहे गांव वाले, अब फिर चमत्कार का इंतजार

CoronaVirus: जर्मनी के एक गांव ने चार सौ साल पहले प्लेग महामारी के समय एक प्रतिज्ञा ली थी. उस प्रतिज्ञा को वो आज भी निभा रहे हैं.

कोरोना (Corona Pandemic) ऐसी वैश्विक महामारी है जब दुनिया के हर देश के लोग किसी न किसी तरह के चमत्कार की उम्मीद कर रहे हैं. ऐसे ही किसी चमत्कार की उम्मीद जर्मनी का एक गांव भी कर रहा है. इस गांव में 400 साल पहले प्लेग महामारी फैली थी और उस समय एक चमत्कार हुआ था और वैसे ही चमत्कार की उम्मीद गांव इस वक्त भी कर रहा है. इस गांव के रहने वाले थॉमस ग्रोनर को इसका भरोसा भी है. आइए जानते हैं क्या था वो चमत्कार?



क्या हुआ था जर्मनी के इस गांव में

ओबरमरगौ (Oberammergau) गांव के निवासी थॉमस ग्रोनर का कहना है कि 400 साल पहले जब प्लेग की महामारी ने पूरे यूरोप को घेर लिया था. मरने वालों की तादाद बहुत ज्यादा थी. गांव के तकरीबन हर परिवार से एक व्यक्ति की मौत हो गई थी. इस गांव के लोगों ने तब खुले मैदान में खड़े होकर ईश्वर के सामने प्रतिज्ञा ली थी कि अगर प्लेग के प्रकोप से गांव बच जाएगा तो हर दस साल पर गांव वाले प्रभु यीशू के जीवन पर नाटक किया करेंगे.

400 साल पहले की कहानी
ये साल 1633 की बात है. इस किताब का जिक्र करते हुए ग्रोनर चमड़े के जिल्द वाली किताब का पेज भी दिखाते हैं- देखिए इस घटना का इसमें जिक्र है. ग्रोनर कहते हैं कि गांव वालों की प्रतिज्ञा के कुछ दिनों बाद मौत का सिलसिला रुक गया. लोगों के बीच भरोसा पनप गया कि ये ईश्वर की कृपा से हुआ है. और उसके बाद से चार शताब्दी बीत चुकी हैं लेकिन गांव वाले अपनी प्रतिज्ञा नहीं भूले हैं.

इस साल मई में होना था नाटक
इस साल भी मई महीने में गांव वाले नाटक खेलने वाले थे. लेकिन कोरोना महामारी की भयावहता की वजह से गांव वालों को इसको टालना पड़ा है. बीते चार सौ सालों में गांव वालों ने इसे सिर्फ दो बार टाला है. एक बार द्वितीय विश्व युद्ध के समय में और एक बार किसी और कारण की वजह से. ये तीसरी बार होगा जब गांव वाले इसे टाल रहे हैं.

इस गांव में नहीं कोरोना का कोई केस
हालांकि अभी तक इस गांव से कोरोना वायरस का कोई केस सामने नहीं आया है. लेकिन फिर भी ये लोग चिंतित हैं. सिर्फ गांव के लिए नहीं बल्कि दुनियाभर के लोगों के लिए. जर्मनी इस वक्त कोरोना महामारी की तगड़ी चपेट में है. सिर्फ जर्मनी में कोरोना के मामलों की संख्या एक लाख से ज्यादा हो चुकी है. करीब 1400 मौत हो चुकी हैं.

फिर कर रहे हैं ईश्वर से प्रार्थना
अब गांव वाले कोरोना वायरस के खात्मे के लिए भी ईश्वर से प्रार्थना कर रहे हैं. गांव की प्रार्थना पर आस-पास के इलाके के लोग भी भरोसा करते हैं. यही कारण है कि जब इस गांव में प्रभु यीशू के जीवन पर नाटक खेला जाता है तब आस-पास के इलाकों से भी बड़ी संख्या मे्ं लोग आते हैं.

Leave a Reply