राजस्थान: लॉकडाउन फेज-4 का चौथा दिन / 212 नए पॉजिटिव केस मिले, संक्रमण से 4 की मौत हुई; प्रदेश में मरीजों की रिकवरी रेट 57 फीसदी

यह तस्वीर अलवर की है। घर जाने के लिए रेलवे स्टेशन के बाहर श्रमिक सुबह ही आ गए। मगर, औपचारिकताओं में समय लग रहा था। ऐसे में श्रमिकों ने अपने बैग गोल घेरे में रख दिए।

यह तस्वीर अलवर की है। घर जाने के लिए रेलवे स्टेशन के बाहर श्रमिक सुबह ही आ गए। मगर, औपचारिकताओं में समय लग रहा था। ऐसे में श्रमिकों ने अपने बैग गोल घेरे में रख दिए।

सीएम बोले- जिन जिलों में प्रवासी ज्यादा आए, वहां क्वारैंटाइन व्यवस्थाएं पुख्ता रखी जाएंखाद्य मंत्री बोले- प्रवासी मजदूरों को 2 महीने तक 5 किग्रा प्रति व्यक्ति निशुल्क गेहूं दिया जाएगा

जयपुर. राजस्थान में गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव के 212 नए केस सामने आए। इनमें डूंगरपुर में 42, जालौर में 22, जयपुर में 21, नागौर में 16, जोधपुर में 14, उदयपुर में 13, पाली और भीलवाड़ा में 10-10, सिरोही और चूरू में 8-8, अजमेर और राजसमंद में 7-7, बाड़मेर और बीकानेर में 6-6, सीकर में 5, अलवर में 4, प्रतापगढ़ में 3, जैसलमेर, कोटा और झुंझुनू में 2-2, चित्तौड़गढ़, भरतपुर और झालावाड में 1-1 संक्रमित मिला। वहीं, यूपी से आया एक व्यक्ति भी पॉजिटिव पाया गया। जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 6227 पहुंच गई। साथ ही राज्य में चार मौत भी रिकॉर्ड की गई। इनमें जयपुर में 2, भरतपुर और सीकर में 1-1 ने दम तोड़ा।

गुरुवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करके बताया कि यह बहुत संतोष की बात है कि राजस्थान कोरोना मरीजों में 57% की रिकवरी रेट के साथ सभी राज्यों में शीर्ष पर है। यह हमारे डॉक्टरों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और मरीजों की इच्छा शक्ति की कड़ी मेहनत के कारण संभव हो पाया है।राजस्थान में अब तक 3485 रिकवर हो चुके। वहीं, 3115 को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका।

प्रवासियोंको क्वारैंटाइन जरूर करें: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने निर्देश दिए किप्रदेश के जिन जिलों में बाहर से आने वाले प्रवासियों की संख्या अधिक है, वहां क्वारैंटाइन व्यवस्थाएं पुख्ता रखी जाएं। बाहर से आए लोगों को अनिवार्य रूप से क्वारैंटाइन किया जाए। होम क्वारैंटाइन के नियमों काउल्लंघन करने वालों को संस्थागत क्वारैंटाइन में भेज दिया जाए।

प्रवासी मजदूरों को निशुल्क गेहूं दिया जाएगा
खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश चंद मीना ने बताया कि लॉकडाउन के कारण अन्य राज्यों से लौट रहे मजदूरों कोमई और जून मेंप्रति व्यक्ति 5 किग्रा गेहूंनिशुल्क दिया जाएगा। यह लाभऐसे प्रवासी मजदूर को दिया जाएगा जोराष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा में चयनित नहीं हैं। इनके अलावा दूसरे राज्यों के मजदूर जो बेरोजगार हो गए हैं और अपने राज्यों में नहीं गए, उन्हें भी यह लाभ मिलेगा।

भरतपुर केऊंचा नगला बॉर्डर पर कांग्रेस की ओर सेभेजी गई बसें खड़ी होने के बावजूद अधिकांश प्रवासी श्रमिकों को पैदल ही जाना पड़ा।

भीलवाड़ा में पिता के साथ 4 महीने की बेटी भी संक्रमित

जिले में एक पिता औरउसकी चार महीने की बेटी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इतनी छोटी बच्चे के संक्रमित होने का जिले में यह पहला मामला है।इसी के साथ जिले में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 84 हो गई है।

कुवैत में मौत, बांसवाड़ा में पुतले का अंतिम संस्कार किया गया

बांसवाड़ा में घाटोलकस्बे के नरवाली गांव के 45 साल के व्यक्ति कीकोरोना से कुवैत के अस्पताल में 19 मई को मौत हो गई। उसके शव को कुवैत में ही दफनाया गया। इधर, परिजन को सूचना मिली तो उन्होंने बुधवार को एक मृतक का प्रतीकात्मक पुतला बनाकर रीति-रिवाजों के साथ अंतिम संस्कार किया।मृतक कुवैत में 22 साल से नौकरी कर रहा था। वहां उनकी मौत हुई तो बांसवाड़ा में परिजन ने पुतले का अंतिम संस्कार किया।

पाली: कोरोना से मरने वालों की अस्थियां प्रदूषित बांडी नदी में दफनाईं

पाली मेंकोरोना संक्रमिताें की मौत के बाद उनकी देह की राख और अस्थियों को गंदगी मेंं दफनाया जा रहा है। शहर में अब तक 5 संक्रमितोंकी मौत हुई है। इनमें से एक का अंतिम संस्कार जोधपुर में और दो का पाली के हिंदू सेवा मंडल में कियागया। बाकी दो मरीजों की मौत इस स्टिंग के बाद हुई। स्टिंग में पता चला किमृतकों की अस्थियों को शहर कीप्रदूषित बांडी नदी में जेसीबी से गड्ढा खुदवाकर गंदगी में ही दफनाया जा रहा है।कोरोना संक्रमण से मृत 2 लोगों का अंतिम संस्कार शहर के विद्युत शव दाह गृह में किया गया। इसके बाद अस्थियां नगर निगम के कर्मचारियों को सौंप दी गईं। उन्होंने इसे जेसीबी से गड्‌ढा खोदकर प्रदूषित बांडी नदी के किनारे दफना दिया।

2 महीने बाद पुष्कर के घाटों पर लौटी रौनक

लॉकडाउन के कारण बीते 2माह से सूने पड़ेपुष्कर सरोवर के घाटों पर आज से रौनक लौट आई। गुरुवार को 100 से अधिक श्रद्धालु सरोवर में स्नान औरपूजा करने पहुंचे। इनमें अधिकतर लोग अपने दिवंगत परिजनकी अस्थियां हरिद्वार में विसर्जित कर गंगाजलिकी पूजा करने आए। इसके अलावा कुछ लोग सरोवर में भी अस्थियां विसर्जन करने पहुंचे।

33 में से 32 जिलों में पहुंचा कोरोना

  • प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 1688(2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 1189(इनमें 47 ईरान से आए), उदयपुर में 433, कोटा में 339, अजमेर में 273, डूंगरपुर में 275, पाली में 227, चित्तौड़गढ़ में 168, टोंक में 156, नागौर में 229, भरतपुर में 130, जालौर में 130, भीलवाड़ा में 92, जैसलमेर में 75(इनमें 14 ईरान से आए), बांसवाड़ा में 75, बीकानेर में 71, झुंझुनूं में 71, झालावाड़ में 52मरीज मिले हैं। उधर, दौसा में 39, धौलपुर में 28, अलवर में 40, चूरू में 60, राजसमंद में 68, सिरोही में 78, हनुमानगढ़ में 14, सीकर में 69, सवाई माधोपुर में 17, बाड़मेर में 56, करौली में 10, प्रतापगढ़ में 10कोरोना मरीज मिल चुके हैं। बारां में 5 संक्रमित मिले हैं। श्रीगंगानगर में एक पॉजिटिव मिला। जोधपुर में बीएसएफ के 50 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 9लोग पॉजिटिव मिले।
  • राजस्थान में कोरोना से अब तक 150 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में 79(जिसमें चार यूपी से), जोधपुर में 17, कोटा में 13, भरतपुर और अजमेर में 5, सीकर, पाली और नागौर में 4-4, बीकानेर में 3, जालौर, करौली, अलवर, भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़ में 2-2, उदयपुर, बांसवाड़ा, चूरू, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरे राज्य से आए एक व्यक्ति की भी मौत हुई।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.