मीडिया की आजादी पर पाबंदी लगाने के प्रयास करने वालों के ख़िलाफ़ पत्रकार एक जुट हुए, दिया पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन…।उज्जैन संभाग ब्यूरो चीफ एस एस यादव

खबर को ले कर कोई आपत्ति है तो कोर्ट जाए, मानहानि साबित करवाये, पुलिस शिकायत कर मीडिया को ना दबाए…।
#मंदसौर – आज मंदसौर मीडिया के सभी साथियों ने मिल कर एक ज्ञापन जिला पुलिस अधीक्षक श्री सिद्धार्थ चौधरी को दिया गया… जिसमें कहा गया कि मीडिया का काम होता है देश, प्रदेश और क्षेत्र में हो रही गतिविधियों से शासन प्रशासन के साथ आमजन को अवगत करवाना, जनप्रतिनिधि, नेता, जनता की भावनाओं और विचारों को सबके सामने प्रस्तुत करना। ऐसा करना मीडिया का धर्म है। इस धर्म के आड़े आने का काम कुछ लोग कर रहे है! सामान्य गतिविधियों की खबरों पर भी पत्रकारों को ब्लैकमेल बता कर उन्हें परेशान करने के उद्देश्य से कुछ लोग काम कर रहे है। 8 – 10 लोग इकट्ठा हो कर पुलिस और प्रशासन पर मीडिया पर बेतुकी कार्यवाही का दबाव बनाते है और लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ को हानि पहुंचाना चाहते है…। ऐसा ही कुछ हुआ क्रांतिकारी रिपोर्टर के सम्पादक श्री उमेश नेक्स के साथ। उन्होंने सुवासरा विधानसभा में चल रही गतिविधियों को ले कर एक खबर बनाई, जिसमें किसी कांग्रेसी राकेश की एक फोटो जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी, के बारे में लिखा। कि विधानसभा चुनाव में ऐसा वैसा भी हो रहा है। और वो फोटो राकेश के द्वारा खुद के ही फेसबुक पर डाल रखी थी। जिसको इनके विरोधियों ने गलत और अश्लील बताते हुए सोशल मीडिया पर वायरल किया था! श्री नेक्स द्वारा फोटो को एडिट नही किया, बल्कि जो सोशल मीडिया पर क्रॉप फोटो चल रहा था, उसी को ले कर खबर लिखी। कानूनन फोटो को एडिट करना गुनाह हो सकता है, पर क्रॉप कर 3 में से 2 लोगो को दिखाना सामान्य बात होता है। उसी को ले कर राकेश ने कुछ लोगों के साथ जा कर पुलिस अधीक्षक महोदय सिद्धार्थ चौधरी को सम्पादक साथी उमेश नेक्स के खिलाफ कार्यवाही को ले कर ज्ञापन दिया यानी प्रेस की आजादी पर पाबंदी लगाने का घृणित प्रयास किया है, जो नीति सम्मत उचित नही है, इस तरह तो कोई भी पत्रकार समाज मे चल रही गतिविधियों की खबर आजादी के साथ नही लिख पायेगा! कोई भी तत्व उसके खिलाफ आवेदन दे कर उसे दबाने का प्रयास करेगा। जो लोकतंत्र में दिए अधिकारों का उल्लंघन जैसा होगा। यदि खबर को ले कर उन्हें परेशानी है या मानहानि हुई तो उन्हें न्यायालय जाना चाहिए… ना कि पुलिस शिकायत करने मीडियाकर्मियों पर अनुचित दबाव बनाना चाहिए… हमारे संपादक साथी उमेश नेक्स समाज में सम्मानित और भरोसेमंद मीडियाकर्मी है, इनकी उत्कृष्ट खबरों के लिए 2016 में इन्हें जिला प्रशासन ने 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस समारोह में सम्मानित भी किया गया है। ऐसे मीडियाकर्मि पर गलत आरोप लगाने वाले लोगों पर ही कार्यवाही होना चाहिए। ताकि आगे से कोई भी इस तरह बेवजह अपने फायदे के लिए मीडिया पर पाबंदी का प्रयास ना कर सके। इस अवसर पर मंदसौर मिडीया के साथीगण दशपुर प्रेस क्लब के अध्यक्ष नेमीचंद राठौर, सम्पादक संघ अध्यक्ष अनिल जोशी सहित पत्रकार साथी नरेंद्र धनोतिया, महेश जैन, शैलेन्द्र सिंह राठौर, ओमकार सिंह, योगेश पोरवाल, राजेश पाठक, नीलेश भारद्वाज, देवेन्द्र यादव, गोलू चौहान, सचिन जैन, मम्मा शाह, धर्मेंद्र रानेरा, ललित भाटी रोहित सोलंकी, गोपाल धनोतिया, मोहसिन कुरेशी, रमेश माली, कृष्णा बैरागी, फरदीन शाह, पवन हिनेरिया, विनायक शर्मा, दीपेश जैन आदि उपस्थित थे।
#दिनांक – 25 – 07 – 2020
हस्ताक्षर
समस्त मीडिया साथीगण
मंदसौर मप्र

Leave a Reply