इस बार रावण के साथ कुंभकरण और मेघनाथ की बजाए कोराना के पुतले का होगा दहनसमिति ने किए सभी आयोजन निरस्त किया जाएगा सांकेतिक रावण दहन

नीमच। बुराई पर अच्छाई के प्रतीक विजया दशमी पर प्रतिवर्ष शहर के दशहरा मैदान में दशहरा उत्सव समिति द्वारा आयोजित होने वाला रावण दहन का कार्यक्रम इस बार सांकेतिक रूप से आयोजित होगा । विजया दशमी के दिन रंगारंग ‘ आतिशबाजी , स्वांगधारी और मंचीय कार्यक्रम आयोजित होता आया है , लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते अधिक भीड़ एकत्रित ना हो इसको लेकर सभी कार्यक्रम स्थगित किये गए हैं । दशहरा उत्सव समिति के अध्यक्ष हेमंत सिंहल ने जानकारी देते हुए बताया कि समिति ने निर्णय लिया है कि इस बार किसी तरह के कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं किये जायेंगा । अध्य्क्ष ने कहा कि स्वांगधारी , रंगारंग आतिशबाजी और मंच के कार्यक्रम आयोजित नहीं किये जायेंगे।जिससे दशहरा मैदान में भीड एकत्रित नही हो पाएगी । इस बार रावण का पुतला 21 फिट का ही तैयार करवाया जा रहा है , मेघनाथ और कुंभकर्ण के पुतले तैयार नहीं करवाये जा रहे हैं ।केवल परंपरा निर्वहन के लिए सांकेतिक रूप से रावण का दहन होगा , जिससे वर्षों से चली आ रही परंपरा बनी रहेगी । समिति इस बार सूर्यास्त से पहले रावण का दहन करेगी ,साथ ही समिति के सदस्यो द्वारा कोरोना के 15 फिट के पुतले दहन भी किया जाएगा। समिति के अध्यक्ष हेमंत सिंह अमित शर्मा नंदकिशोर शर्मा जगदीश सिंह एवं मुकेश सिंह द्वारा आम जनता से अपील करी है कि कोरोना के चलते इस बार दशहरा उत्सव पर किसी भी प्रकार की भीड़ एकत्रित ना करें समिति द्वारा सभी आयोजन निरस्त किए गए हैं घर में रहें सुरक्षित रहें कोविड-19 एवं शासन के नियमों का पालन करें।

Leave a Reply