करवाचौथ के चांद का आकाश में साथ देंगे मंगल, शनि और गुरू सारिका घारू

DG NEWS BHOPAL

भोपाल से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट

भोपाल । चंद्रदर्शन पर आधारित भारतीय सांस्कृतिक पर्व ‘करवाचौथ’ अब केवल उत्तर भारत का धार्मिक त्योहार नहीं रह गया है बल्कि इसे देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है। मध्यप्रदेश में भी यह उत्साह के साथ मनाया जाने लगा है, लेकिन खगोल विज्ञान में रुचि रखने वालों के लिए एक अच्छी खबर यह है कि जब हम करवाचौथ का पर्व मना रहे होंगे, तब आसमान में मंगल, शनि और गुरु ग्रह चंद्रमा का साथ देते दिखाई देंगे। भोपाल की राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू से सोमवार को हुई बातचीत में करवाचौथ के अवसर पर होने वाली इस खगोलीय घटना की जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि बुधवार, 04 नवम्बर को करवाचौथ का पर्व मनाया जाएगा। इस दौरान महिलाएं अपने पति की लम्बी आयु के लिए दिनभर निर्जला व्रत रखेंगी और शाम को चंद्रदर्शन कर अपना उपवास खोलेंगी। चंद्रदर्शन के शहर में वास्तविक समय की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश के पूर्वी जिलों में चंद्रमा पहले उदित होगा जबकि पश्चिमी जिलों में करीब 20 मिनट बाद चंद्रदर्शन हो सकेंगे। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश के सतना जिले में सबसे पहले शाम 8.07 बजे जबकि अलीरापुर में 8.38 बजे चंद्रोदय होना आरंभ होगा। सारिका ने बताया कि अगर आपका घर खुले मैदान में नहीं है तो ऊपर उठे चंद्रमा को अपने आंगन से देखने के लिये कुछ समय और लगेगा। करवाचौथ की रात चंद्रमा के पीछे वृषभ राशि तारामंडल को देखा जा सकता है। चंद्रमा का साथ देते आकाश में लाल चमकते मंगल ग्रह के साथ-साथ पश्चिमी दिशा में जाते शनि और गुरु को भी देखा जा सकेगा। रात्रि 9.15 बजे जब चंद्रमा कुछ ऊपर आ चुका होगा,

Leave a Reply