यूपी पंचायत चुनाव 2020 : ग्राम प्रधान इलेक्शन डेट तय करने पर चल रहा मंथन

D G news यूपी में पंचायत चुनाव की प्रशासनिक तैयारियों के बीच अब तारीखों पर मंथन शुरू हो गया है। हालांकि अभी यह तय नहीं हुआ है कि चुनाव कब होंगे लेकिन इसको लेकर भी तैयारी हो रही है। बताया जा रहा है  कि इस बार पंचायत चुनाव फरवरी में करवाए जा सकते हैं। सरकार के स्तर पर फरवरी और मई की कुछ तारीखों पर मंथन किया जा रहा है। इसमें लोगों का सुझाव है कि मई में गर्मी ज्यादा पड़ेगी। इस वजह से चुनाव फरवरी में बोर्ड परीक्षा से पहले करवा लिए जाएं। 

चुनाव आयोग की तरफ से बीएलओ व अन्य कार्मिकों के लिए गाइड लाइन

-वोटर लिस्ट पुनरीक्षण के काम में लगे बीएलओ व अन्य कार्मिकों को अपने मोबाईल फोन पर आरोग्य सेतु डाउनलोड रखना होगा।

-कोई कार्मिक जब फील्ड में जाए तो उसे फेस मास्क लगाए रखना होगा।

-किसी भी घर के एक या दो सदस्यों से ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दो गज की दूरी से ही बात की जाएगी।

-अनावश्यक भीड़ इकट्ठा करके एक साथ कई परिवारों का विवरण दर्ज नहीं किया जाएगा।

-हैण्ड सैनिटाइजर की शीशी साथ रखनी होगी। किसी भी दस्तावेज को देखने या उस पर हस्ताक्षर कराने के बाद हाथों का सैनिटाइज किया जाएगा।

वाराणसी में डोर-टु-डोर सर्वे का काम पूरा :

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए बैलेट पेपर दिल्ली से मंगाया जाएगा। वहां इसकी छपाई लगभग हो चुकी है। राज्य निर्वाचन आयोग ने जिला निर्वाचन आयोग को कमेटी गठित करने का निर्देश दिया है। मतदाता सूची पुनरीक्षण के तहत डोर टु डोर सर्वे भी पूरा हो गया है। सोमवार से सर्वे की रिपोर्ट जमा होगी। पंचायत चुनाव अगले साल होगा। मतदाता सूची पुनरीक्षण दिसम्बर के अंत तक हो जाने की उम्मीद है। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी राजाराम वर्मा ने बताया कि आयोग ने बैलेट पेपर मंगाने के लिए टीम गठित करने का निर्देश दिया है। शीघ्र ही जिलाधिकारी के नेतृत्व में टीम गठित कर ली जाएगी। तिथि तय होने के बाद टीम दिल्ली जाकर लाएगी। वहीं एक अक्तूबर से शुरू मतदाता सूची पुनरीक्षण के तहत घर घर जाकर सर्वे की रिपोर्ट सोमवार से चार नवम्बर तक जमा होगी। इसके बाद कम्प्यूटर में इसकी र्फींडग होगी। इसके साथ ही इसमें संशोधन के लिए आपत्तियां, निस्तारण और इसकी मतदाता सूची की डाटा र्फींडग आदि कार्य की प्रक्रिया शुरू होगी। 29 दिसंबर तक मतदाता सूची का प्रकाशन हो जाएगा। 

Leave a Reply