लिव इन रिलेशन में रहने वाले युवक सहित बिना लायसेंस एसिड बेचने वाले को गिरफ्तार कर पुलिस भेज चुकी है जेल, अब मामला हत्या में बदलेगा

उज्जैन। चार दिनों पहले सांईधाम कालोनी नीलगंगा में रहने वाली नर्स पर लिव इन रिलेशन में रहने वाले युवक ने एसिड अटैक कर दिया था जिसका निजी अस्पताल में उपचार जारी था इसी दौरान सुबह उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने मामले में निजी अस्पताल की नर्स पर एसिड डालने वाले और उक्त युवक को एसिड बेचने वाले को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि प्राणघातक हमले का मामला हत्या में तब्दील होगा।

नवंबर की सुबह सुनीता निवासी सांईधाम कालोनी पर लिवइन रिलेशन में रहने वाले मुकेश शर्मा ने एसिड डालकर गंभीर झुलसा दिया था। सुनीता ने इंदौर में रहने वाली अपनी बहन को सूचना दी जिसके बाद उसके माता-पिता घर पहुंचे। पिता ने डायल 100 को फोन किया पुलिस ने सुनीता को जिला चिकित्सालय पहुंचाया जहां उसकी हालत गंभीर होने पर निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने मुकेश शर्मा निवासी रत्नाखेड़ी को गिरफ्तार कर रिमाण्ड पर लिया और पूछताछ के बाद जेल भेज दिया।

इसलिये किया था एसिड अटैक
मुकेश शर्मा ने पुलिस को बताया था कि सुनीता निजी अस्पताल में नर्स थी। पति से तलाक के बाद दोनों पिछले 13 वर्षों से एक साथ लिव इन रिलेशन में रहते थे। सुनीता दूसरे लोगों से बात करती थी, देर रात तक मोबाइल चलाती और मोबाइल लॉक कर रखती थी। इसी शंका के चलते कई बार विवाद भी हुआ और सुबह उस पर दूध का फेट नापने के काम आने वाला एसिड डाल दिया।

एसिड बेचने वाला भी बना आरोपी…
मुकेश ने पुलिस को पूछताछ में बताया था कि दूध का फेट नापने के लिये एसिड की आवश्यकता पड़ती थी जिसे वह बियाबानी मार्ग स्थित स्टार डेयरी मशीनरी ट्रेडर्स से खरीदकर लाया था। पुलिस ने बिना लायसेंस एसिड बेचने वाले नाजिम खां को भी आरोपी बनाकर गिरफ्तार किया और जेल भेज दिया।

धारा बढ़ाएंगे : नीलगंगा थाना प्रभारी रविन्द्र यादव ने बताया कि आरोपी मुकेश शर्मा और एसिड बेचने वाले नाजिम खां को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। मामले में धारा 307, 26 ए के तहत प्रकरण दर्ज किया गया था। पीडि़ता के बयान भी हो चुके थे। पीडि़ता की मृत्यु के बाद अब मामले में धारा 302 बढ़ाई

RELATED POST

Leave a Reply