नीमच के अन्नदाताओ को लेकर आई बड़ी खबर, प्याज में ये क्या हो रहा है, किसे लिये मिल रहे है आपको इतने अधिक दामों में प्याज

नीमच l प्याज की तासीर ही कुछ ऐसी है कि वो सभी को रूला देता है ऐसे में किसान जिसे अन्नदाताओं का नाम दिया है वे किसान ही अब रोने को मजबूर है क्योंकि जिस फसल के लिये वे दिन रात मेहनत करता है और उसके भाव सही नही मिलते है प्याज की खेती में महंगे बीज, खाद, दवाइयों मे रूपये ज्यादा लगते है जिसके चलते प्याज उत्पादन करने वाले अन्नदाताओं की हालत खराब है जबकि इस बार उत्पादन कम हुआ है लेकिन जिसके चलते प्याज के दामो में भारी उछाल तो है लेकिन इस बार किसानों के पास प्याज नही है क्योंकि बारिश नही होने के चलते प्याज की खेती समय पर नही हो पाई जिसे लेकर किसान इस बार परेशान है l नीमच जिले की बात करें तो नीमच को प्याज का गढ माना जाता है जहा प्याज का भाव आसमान छू रहा है वर्तमान में प्याज की कीमतों में आई उछाल ने सरकार तक को हिला दिया था यह बात किसी से छुप्पी भी नहीं है जहां एक ओर गांवों में किसानों की लागत नहीं निकल पा रही है, वहीं दूसरी ओर शहरी क्षेत्र के गरीब-मजदूर व मध्यम वर्ग के परिवारों को महंगा प्याज खरीदने पर मजबूर होना पड़ रहा है l ऐसा क्यों है की किसान को उसकी लागत नहीं मिलती और गरीब परविारो को प्याज का सही दाम नहीं मिलता ? इस मामले में जब हमने प्याज के किसान हरिविलास पाटीदार से बात की तो उन्होंने बताया की कड़ी मेहनत हकाई- जुताई कर खेत को तैयार किया जाता है 30 से 40 दिन बाद खेत में रुपाई करवाते है जिसके बाद प्याज की खेती पूरी होती है जिसके बाद फिर भी मंडी में इसका पूर्ण रूप से भाव नही मिलता है क्योंकि किसान के प्याज को कम दामो में व्यापारी खरीद कर स्टॉक कर लेते है और जब प्याज किसान के खेतो से व्यापारीयों के गोदाम में पहुंच जाता है तो उसके दाम दो गुने हो जाते है जिससे साफ लगता है कि किस तरह किसानों को बिचैलियें चुना लगाने में लगे है l वही इस मामले को लेकर जब हमने मंडी व्यापरी गोपल कृष्ण गर्ग (आकाश ड्रेडिंग कम्पनी) से बात की तो उन्होंने बताया की मंडी में 30 से 35 रूपये में किसान से मॉल खरीदा जाता है जिसे गोदाम व सफाई कराने तक में 3 से 5 रूपये प्रति किलो लगते है ऐसे में तीन से पांच रूपये तक का मारर्जीन हमे मिलता है किसानों ने जो भी कही है ये सभी झूठ है क्योंकि हर किसान व्यापारी एक दो रूपये कमाने के लिये ही काम करता है चाहे वो किसान हो या व्यापारी, इस बार प्याज कम हुआ है जिसके चलते इसके भाव भी अच्छे मिल रहे है l

Leave a Reply