बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ अभियान की टास्क फोर्स कमेटी की बैठक सम्पन्न….

बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ अभियान के अंतर्गत जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी- डीटीएफ की बैठक कलेक्टर श्री वेद प्रकाश की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में बालक एवं बालिकाओं की शैक्षणिक स्थिति, बालिकाओं के स्कूल व छात्रावासों में सेनेटरी नेपकिन वेडिंग मशीन की उपलब्धता, पीसीपीएनडीटी एक्ट के प्रावधानों के पालन, पेड बैंक बनाने आदि के संबंध में विचार- विमर्श कर आवश्यक निर्देश दिये गये।
बैठक में जिले में शाला त्यागी बच्चों की स्थिति पर चर्चा हुई। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि जिले में शाला त्यागी बच्चों में से बालकों के शाला त्यागने की दर बालिकाओं से अधिक है। कलेक्टर ने निर्देश दिये कि ड्राफ्ट आउट बच्चों की संख्या न्यूनतम करने के लिए लोगों द्वारा ऐसे बच्चों को प्रेरित किया जाना चाहिये। इस संबंध में शिक्षा विभाग साथर्क प्रयास करे। बालिकाओं के स्कूलों में इंसीनरेटर लगवाये जावें। बालिकाओं के स्कूलों व छात्रावासों में नेपकिन वेडिंग मशीन और इंसीनरेटर जनसहयोग व सीएसआर मद से लगवाने के लिए शिक्षा और आदिम जाति कल्याण विभाग को निर्देशित किया गया।
कलेक्टर ने पीसीपीएनडीटी एक्ट के उल्लंघन किये जाने की स्थिति में की गई कार्रवाई और सोनोग्राफी सेंटर की जानकारी ली। अपर कलेक्टर ने बताया कि पूर्व में एक सोनोग्राफी सेंटर को पीसीपीएनडीटी एक्ट के उल्लंघन के कारण सील किया जा चुका है। कलेक्टर ने निर्देश दिये कि एक्ट का पालन नहीं करने वाले सोनोग्राफी सेंटर की सनद रद्द करने के लिए पत्र लिखा जाये।
बालिकाओं के पोषण एवं स्वच्छता की थीम पर प्रदर्शनी लगाने के निर्देश शिक्षा एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग को दिये गये। प्रदर्शनी में बालिकाओं के स्कूल व छात्रावासों के अधीक्षक को आमंत्रित करके पोषण एवं स्वच्छता के बारे में आवश्यक पहल की जाये। ब्लाक स्तर पर भी प्रदर्शनी लगाकर विभिन्न विभागों के समन्वय से बालिकाओं और महिलाओं से संबंधित कानूनों, अधिकारों, स्वास्थ्य एवं पोषण की जानकारी दी जाये, प्रचार- प्रसार किया जाये और इस बारे में जागरूकता बढ़ाई जावे। सोनोग्राफी मशीन का प्रदर्शन भी वहां कराया जावे और काउंसलिंग की व्यवस्था की जावे।
कलेक्टर ने मैन्यूस्ट्रीयल हाइजीन के बारे में जागरूकता के लिए पेड बैंक बनाने का सुझाव दिया। वर्ल्ड विजन संस्था के प्रतिनिधि ने जानकारी दी कि उनकी संस्था 30 ग्रामों में मॉडल के रूप में पेड बैंक चला रही है। वर्ल्ड विजन संस्था जिले के सभी ब्लाक में एक- एक मॉडल बना सकता है। ग्रामों एवं वार्डों में इस तरह के पेड बैंक बनाने पर बैठक में बल दिया गया।

संवाददाता प्रमोद चौरसिया करकबेल

Leave a Reply