आजीविका मिशन में भ्रष्टाचार-महिलाओ का हक छिनकर ,करोड़पति ठेकादारो का दिया गणवेश सिलाई ठेका

शासकीय स्कुलो की गणवेश सिलाई अधिकारी कर रहे हैं भ्रष्टाचार

आगर मालवा(आशिक मंसुरी)।एक तरफ ग्रामीण क्षेत्रों की गरीब महिलाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान आजीविका मिशन के माध्यम विभिन्न योजनाओं को लागू कर रहे है। तो वहीं दुसरी तरफ एनआरएलएम के आजीविका मिशन के अधिकारियों द्वारा इन योजनाओं में भ्रष्टाचार कर गरीब महिलाओं का हक छिना जा रहा है।भ्रष्टाचार का ताजा मामला आगर मालवा जिले के सुसनेर विकासखंड का आया है जहां ब्लाक अधिकारी ने जिले के अधिकारियों के साथ मिलकर आजीविका मिशन के स्वसहायता समूहों को मिलने वाली शासकीय गणवेश का ठेका इंदौर की बड़ी नामी कंपनियों को दे दिया। यही नहीं उन कंपनियों को लाखों रुपए का भुगतान भी इन महिला स्वसहायता समूहों के माध्यम से करवा दिया गया ।वहीं दूसरी तरफ गणवेशो की संख्या में भ्रष्टाचार किया जा रहा है। कम गणवेश प्राप्तकर अधिक राशि का भुगतान किया जा रहा है। कहने को तो यह गणवेश विकासखंड के विभिन्न ग्रामो में संचालित स्वसहायता समूहों की महिलाओं द्वारा सिलाई की जानी थी। परन्तु अधिकारियों ने सिर्फ दो तीन ग्रामो सिलाई सेंटर खोल महिलाओं को नाम मात्र की गणवेश सिलाकर इतिश्री कर लिया। साथ हक जिन महिलाओं ने सेंटरों पर सिलाई कार्य किया है उनका भी समय पर भुगतान नहीं किया गया। हमारे संवाददाता ने जब इस मामले में अधिकारियों से बात कर चाहे तो अधिकारी जानकारी देने से बचकर एक दुसरे को जिम्मेदार ठहराते रहे।

बाईट-
आप हमारे जिले मे बात करो हम वो नि है मतलब बताने के लिए जिले मे जो अधिकारी हैना आप उनसे बात करो क्यो की हमारे इतने अधिकार क्षेत्र नी है के पुरी जानकारी दे पाए बराबर। आप जिले मे बात करिये

विष्णु मालवीय
“बीपीएम आजीविका मिशन सुसनेर”

Leave a Reply