मध्य प्रदेश : सोशल मीडिया में लिखा-शेरनी अभी जिंदा है:बंदूक के साथ फोटो किए शेयर; पढ़िए 21 साल की ‘लेडी डॉन’ की कहानी

उम्र- 21 साल। पढ़ाई-12वीं तक। शौक-रील बनाना। यह कहानी है ग्वालियर की ‘लेडी डॉन’ की। पुलिस ने कथित लेडी डॉन सिमरन सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से दो कट्‌टा और एक पिस्टल भी बरामद हुई है।

‘लेडी डॉन’ की कहानी जानने से पहले मामला समझ लेते हैं
करीब 10 दिन पहले युवती ने हाथ में पिस्टल लिए फोटोज के वन-बाय-वन वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर किए थे। यह वीडियो पुलिस तक पहुंचा। पुलिस ने युवती का पता लगाया तो उसकी पहचान सिमरनप्रीत कौर निवासी गांधीनगर के रूप में हुई। दो दिन पहले उसे पूछताछ के लिए थाने बुलाया गया। युवती अपने बॉयफ्रेंड के साथ थाने पहुंची। यहां उसने बताया कि यह हथियार मेरे नहीं है। रील बनाने के लिए अपने दोस्त से लिए थे। युवती के बॉयफ्रेंड ने इस पूछताछ का वीडियो गुपचुप तरीके से बना लिया।

घर जाने के बाद युवती ने पुलिस पूछताछ का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया। इसके साथ उसने लिखा- ‘शेरनी अभी जिंदा’ है। इसी पोस्ट के बाद क्राइम ब्रांच की हेड कॉन्स्टेबल अर्चना कंषाना ने युवती के ठिकानों पर निगरानी शुरू की। पुलिस टीम ने मंगलवार रात सिमरनप्रीत कौर को कोटेश्वर मंदिर व काली माता मंदिर के पास से पकड़ लिया। पुलिस ने उसके बॉयफ्रेंड हरेंद्र उर्फ हनी यादव व उसके साथी सौरभ राठौर निवासी किला गेट को भी पकड़ा है। तलाशी में इनके पास से दो कट्‌टे व एक पिस्टल मिले। हनी के भाई सनी के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। वहीं, हनी पर भी एक केस दर्ज है।

अब डॉन की कहानी, 13 साल की उम्र में मां की मौत
पुलिस के मुताबिक सिमरन की मां मराठी थीं, जबकि पिता पंजाबी हैं। दोनों ने लव मैरिज की थी। साल 2014 में मां का देहांत हो गया था। उस समय वह 13 साल की थी। इसके बाद पिता उसे छोड़कर पंजाब चले गए। यहां वह अकेली रहने लगी। साल 2016 में 15 साल की उम्र में उसकी दोस्ती लुटेरे अंकित जादौन से फेसबुक पर हुई। कुछ ही वक्त बाद ये दोनों गांधी नगर में लिव-इन-रिलेशन में रहने लगे। उसका पूरा खर्च अंकित ही उठाता था। अंकित पिछले साल ग्वालियर में सराफा कारोबारी से लूट मामले में पकड़ा गया।

सराफा कारोबारी से लूट करने वाले अपराधी की पूर्व गर्लफ्रेंड
पुलिस को दिए पहले बयान में सिमरप्रीत कौर ने बताया था कि वो हथियार अंकित जादौन का है। उसने खुद को अंकित की गर्लफ्रेंड बताया था। अंकित को पिछले साल सेवानगर रोड पर स्थित सराफा कारोबारी के साथ लूट के मामले में गिरफ्तार किया गया था। फिलहाल अंकित जेल में बंद है। उसने कहा था कि अब हथियार कहां है, इस बारे में उसे नहीं पता। अंकित के जेल जाने के बाद उसने हरेंद्र उर्फ हनी यादव का दामन थाम लिया।

मोबाइल में नशा करते हुए कई वीडियो मिले
गिरफ्तारी के बाद जब पुलिस ने सिमरप्रीत कौर के मोबाइल की जांच की तो उसमें अय्याशी भरी उसकी लाइफ के कई वीडियोज मिले। जिनमें वो शराब से लेकर हुक्का पीने जैसे कई नशे करती दिखी। इनमें से कई वीडियो में वह नशे में धुत होकर लड़कों के साथ बार में झूमती हुई भी दिखी। इसके अलावा हाथ में हथियार लहराते हुए भी उसके कई फोटोज मिले।

पुलिस बोली- पिस्टल चलाने में माहिर है युवती
ASP राजेश दंडौतिया के मुताबिक आरोपियों का आपराधिक रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है, साथ ही हथियारों के संबंध में भी पूछताछ की जा रही है। सिमरन को हुक्के का नशा करने का शौक है। वह पिस्टल चलाने में माहिर है और दो बार वह पुलिस के सामने आकर चकमा दे चुकी है।

Leave a Reply