Big barking…कल नीमच में 17 घण्टे में 14 मौत,10 का दाह संस्कार, 4 को किया सुपुर्द ए ख़ाक

कोरोना की क्रूरता की इंतहा हो गई है। कोरोना से होने वाली मौतों का सिलसिला नीमच में भी रुकने के नाम नहीं ले रहा है। कल शुक्रवार का दिन काले अक्षरों में लिखा जावेगा। वैश्विक महामारी कोरोना के चलते कल शाम 5 बजे तक 14 लोग काल के ग्रास में समा चुके थे, उसमे कुछ कोविड के संदेहास्पद भी है। समाचार लिखे जाने तक मोक्षधाम पर अंतिम संस्कारों का क्रम जारी है।
बताया जा रहा है कि सरकारी व निजी हॉस्पिटलों में ऑक्सीजन की कमी के चलते अधिकांश मौते हुई है। सिविल सर्जन ने माना कि ऑक्सीजन की बहुत ज्यादा ही किल्लत है वे सुबह शाम सिर्फ इसी काम मे लगे हैं कि कई से भी ऑक्सीजन प्राप्त हो जावे।
ऑक्सीजन की कमी से मरीज़ अस्पताल में अपने इलाज का इंतज़ार कर रहे हैं और तो और दाह संस्कार के लिए मृतकों के परिजनों को लंबा इंतज़ार करना पड़ रहा है।
स्वास्थ्य निरीक्षक व कोविड नोडल अधिकारी श्याम टांकवाल ने बताया कि आज तो रूह कांप गई है ऐसे ह्रदय विदारक दृश्य को देखकर। सुबह से नगर पालिका के कर्मचारी पीपीई किट में हिन्दू समाज से जुड़ी 9 शवों का अंतिम संस्कार कर चुके है, दसवें का नम्बर चल रहा है वहीं 4 मुस्लिम समुदाय से जुड़े शवों को भी सुपुर्द ए ख़ाक किया गया।
अधिकारी टांकवाल भरे गले से बोले ऐसा मंझर न पहले कभी देखा न सुना। एक के बाद एक शव आए जा रहे है।
मोक्षधाम में मौजूद हर शख्स की आंखों में ऐसी ही रुला देने वाली कहानियां बिखरी पड़ी हैं।
जीवटता से अपनी टीम के साथ लगे हुवे नगर पालिका के सीएमओ सीपी रॉय ने भी मुक्तिधाम में मोर्चा संभाल रखा है। सीएमओ ने कहा कि आज अभी तक 14 शव हमें प्राप्त हो चुके है। जिन्हें विधिविधान से दाह संस्कार करने के लिए नगर पालिका टीम के 8 से 10 कर्मचारी अपना काम मुस्तेदी से कर रहे है। फिर भी समय तो लगता है। सीएमओ रॉय ने निवेदन किया कि कृपया परिजन व शोकाकुल व्यक्ति थोड़ा धैर्य रखें। एक शव वाहन नगर पालिका द्वारा ओर बढ़ाया जा रहा है।
इस प्रतिनिधि ने देखा कि संक्रमण का खौफ ऐसा कि दोस्त-रिश्तेदार क्या करीबी भी अंतिम यात्रा और संस्कार से परहेज करने लगे हैं। कई पीड़ित परिवार तो खुद ही लोगों से अनुरोध करने लगे हैं कि वे किसी कार्यक्रम में शामिल न हों, फेसबुक और व्हाट्सऐप लाइव पर ही अंतिम दर्शन करा दिया जाएगा।

Leave a Reply