40 वर्ष पुराने हरे भरे पेड़ काटने से पर्यावरण मित्रों में आक्रोश, कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

नीमच-18 फरवरी 20 21बंगला नं. 50 क्षेत्र में 40 वर्ष पुराने हरे पेड़ काटकर पर्यावरण को नुकसान पहूॅंचाने के कारण गायत्री मंदिर मार्ग के व्यापारियों में आक्रोश फैल गया सभी व्यापारियों द्वारा एकमत होकर 18 फरवरी गुरूवार दोपहर 2 बजे जिला कलेक्टर मंयक अग्रवाल के प्रतिनिधि नायब तहसीलदार पिंकी साठे को को हरे पेड़ को काटने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा । व्यापारीयों ने हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन में बताया कि बुधवार सुबह 10 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक शासकीय प्रशासन की बिना अनुमति के 50-60 पेड़ काट दिये गये थे। जिससे क्षेत्रवासियों एवं पर्यावरण मित्रों में आक्रोश देखा गया। उन्होंने बताया कि विगत दिनों राज्य सरकार की नगरपालिका अधिकारियों कर्मचारियों की लापरवाही के कारण टैगोर मार्ग, कमल चौक के पास बंगला नं.-50 क्षेत्र में विगत दिनों से कुछ असामाजिक लोगों द्वारा 40 वर्ष पुराने करीब 50 से 60 हरे पेड़ काट दिये और लकड़ी ट्रेक्टर ट्राली में भरकर अवैध रूप से तस्करों को बेची गई।
पेड़ काटने की घटना विगत दो दिन से जारी है बंगला नं. 50 चारों तरफ से ढका होने के कारण आम नागरिकों को इसकी जानकारी नहीं मिल सकी । कमल चौैक गुमटी एसोसिएशन एवं पर्यावरण संकल्प मित्र संस्था के पदाधिकारियों एवं सदस्यों एवं क्षेत्रवासियों द्वारा उक्त क्षेत्र में अवैध पेड़ कटाई को रोक कर सख्त से सख्त कानुनी कार्यवाही कर दोषी आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की मांग की गई । क्षेत्रवासियों ने पर्यावरण रक्षा के लिए उक्त पेड़ों को काटने से रोकने की मांग की । एक तरफ देश की केन्द्र सरकार, राज्य सरकार पर्यावरण रक्षा के लिए पेड़ लगाने के लिये लाखों रूपये खर्च कर रही है लेकिन कुछ भूमाफिया द्वारा बिना शासकीय अनुमति लिए पेड़ों की अवैध कटाई जारी है!
बुधवार को पेड़ काटने की नपा अधिकारियों को एवं वन विभाग अधिकारियों को सूचित किया गया लेकिन पेड़ काटना बंद नहीं हुआ न ही कोई शासकीय अधिकारी मौके पर पहूॅंचा । नीमच शहर का नाम ही नीम के पेड़ों के कारण नीमच पड़ा था और पूरे म.प्र. में सबसे अधिक शहरी क्षेत्र में पेड़ नीमच नगर में ही है । नपा के अधिकारी कर्मचारी की लापरवाही के कारण पर्यावरण को नुकसान पहूॅचाकर जन स्वास्थ्य को खतरे में डालकर अवैध रूप से पेड़ कटवाने से नहीं चुक रहे है । व्यापारी पदाधिकारी कार्यकर्ता एवं क्षेत्रीय आम नागरिको ने उक्त पेड़ काटने एवं कटवाने वाले दोषी आरोपियों को सख्त से सख्त कानूनी सजा देने की पुरजोर मांग की है । आम नागरिक एवं क्षेत्रवासी उक्त हरे पेड़ काटने की घटना तीव्र निंदा करते है और ऐसे दोषी पर्यावरण को नुकसान पहूॅचने वाले लोगों की सामाजिक आलोचना आव्हान करता है । पेड़ काटने की घटना का विडियों एवं फोटो व्यापारियों एवं पदाधिकारियों के पास प्रमाण के रूप में उपलब्ध है । क्षेत्रवासी सामाजिक नागरिक है और नीमच नगर के बंगला नं. 50, क्षेत्र में पर्यावरण रक्षा के लिए उक्त हरे पेड़ को काटने से रोकने के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्यवाही कर रोेकने की मांग करता है । यदि तीन दिवस में उक्त पेड़ काटने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही नहीं की गई तो व्यापारी पदाधिकारीयों को क्रमवार आंदोलन करने को मजबूर होना पड़ेगा । जिसकी समस्त जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी । ज्ञापन देते समय एसोसिएशन के अध्यक्ष घीसा लाल शर्मा सचिव हेमंत वर्मा उमेश चंद्र सोनी राहुल शर्मा कन्हैया लाल जय नामदेव जमुनादास गुलाम रसूल लोकेश विनय मेघवाल अशोक आहूजा केसरीमल सेन अरुण पटेल मोहम्मद अजहर शंकरलाल तोमर धर्मेंद्र राणा विक्रम सिंह संकल्प पर्यावरण मित्र संस्था अध्यक्ष जगदीश शर्मा एवं डॉ राकेश वर्मा ज्ञापन की प्रतिलिपी म.प्र. शासन के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान एवं म.प्र. शासन के पर्यावरण मंत्री को भी प्रेषित की गई।

नीमच ब्यूरो चीफ
आनंद यादव

Leave a Reply