MP- दिग्विजय सिंह सहित 10 नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज,RSS को जमीन आवंटन के विरोध प्रदर्शन के दौरान जुटाई भीड़, 

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के अशोका गार्डन थाने में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एवं उनके साथ ही नेता विधायक पीसी शर्मा, कांग्रेस पार्टी के जिला अध्यक्ष कैलाश मिश्रा सहित 10 कांग्रेस नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इन पर कोरोना के दौरान धरना-प्रदर्शन, भीड़ एकत्रित होने से महामारी फैलने का अंदेशा और शासकीय आदेशों के उल्लंघन की धाराओं में केस दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है, बाकी अन्य 200 अज्ञात कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। वीडियोग्राफी से इनकी पहचान की जाएगी।

बता दें, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समेत 200 से ज्यादा कांग्रेस नेताओं ने रविवार को गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में RSS की संस्था लघु उद्योग भारती को जमीन आवंटन को लेकर विरोध प्रदर्शन किया गया था। लघु उद्योग भारती ने आवंटित जमीन पर सुबह 11 बजे भूमिपूजन किया था। इसका विरोध करने के लिए वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस नेता एकत्रित हुए थे।

यहां सीएम की भोपाली डीआईजी इरशाद वली से नोकझोंक भी हुई थी। डीआईजी ने कोरोना प्रोटोकाॅल का उल्लंघन करने पर कांग्रेस नेताओं के खिलाफ केस दर्ज करने की बात कही थी। इसके बाद देर शाम अशोका गार्डन थाने में कांग्रेस नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया।

इनके खिलाफ केस दर्ज

पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, कांग्रेस जिलाध्यक्ष कैलाश मिश्रा, कांग्रेस नेता गोविंद गोयल, पूर्व महापौर विभा पटेल समेत संतोष कंषाना, प्रदीप शर्मा, प्रकाश चौकसे के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई है।

क्या है मामला

कांग्रेस गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में आरएसएस की लघु उद्योग भारती को जमीन देने का विरोध कर रही है। कांग्रेस का कहना है कि सरकार पार्क की जमीन को आरएसएस को दे रही है। जबकि इसका विरोध गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एसोसिएशन भी कर रही है। वहीं, मामले में भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया का कहना है कि उद्योग विभाग ने इंडस्ट्रियल एरिया में खाली पड़ी जमीन लघु उद्योग भारती संस्था को आवंटित की है।

Leave a Reply