हर्कियाखाल में बघाना निवासी जितेन्द्र उर्फ जेपी नामक युवक की सिर कुचली लाश मिलने के बाद, उजाला पुलिस हिरासत में कबूल किया अपना गुनाह

नीमच। गुरूवार सुबह हर्कियाखाल में बघाना निवासी जितेन्द्र तोर नामक युवक की सिर कुचली लाश मिलने के बाद जीरन पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और तुरंत जांच शुरू की। वरिष्ठ अधिकारियों ने निर्देशन पर पुलिस टीम ने यादव मोहल्ला पठारी बघाना में किराये के मकान में रहने वाले उजाला नामक युवक को बघाना पुलिस ने सूचना के आधार पर संदिग्ध मान हिरासत में लिया,और पूछताछ शुरू की। 

सूत्रों से मिली जानकारी में सामने आया है कि संदिग्ध युवक उजाला ने पुलिस के सामने हत्या की बात कबूल की है उसने बताया की उसका जितेन्द्र से रूपयों का पुराना लेन-देन था, जिसके चलते दोनों के बीच कई बार विवाद भी हुआ फिर सुलह भी हो गई। और बाईट कल दोपहर करीब 2 बजे वह जितेन्द्र को पार्टी के बहाने से हर्कियाखाल तक लेकर पहुंचा। जहां दोनों ने करीब 2 से 3 घंटे तक शराब का सेवन किया।जहा दोनों में फिर विवाद हुआ और उसने जितेंद्र के सिर पर पत्थर से हमले कर उसे मौत के घाट उतार दिया। 

सूत्रों की अगर माने तो हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद उजाला राहगीरों से लिफ्ट लेकर नीमच पहुंच गया। और शहर आकर बड़े आराम से यहाँ वहां घुमा भी और बड़े आराम से घर जाकर सो गया,फिर आज सुबह जब वो दशहरा मैदान में था तब पुलिस को उसकी सुचना मिली जिस पर बघाना पुलिस ने उसे यहाँ से उठा लिया

बताया जा रहा है कि मामले को लेकर बघाना पुलिस पड़ताल के बाद आरोपी युवक उजाला को जीरन पुलिस के सुपूर्द कर दिया है। जिसे लेकर जीरन पुलिस जल्द ही इस पूरी वारदात से अपनी जाँच पड़ताल के बाद पर्दा उठा सकती है। वहीं पुलिस ने इस पूरे घटनाक्रम के स्पष्टीकरण को लेकर घटना संबंधी क्षेत्रों के सीसीटीवी खंगालना भी शुरू कर दिये है। वहीं एक जानकारी यह भी सामने आई है कि विवादों के मामले में बघाना थाने में युवक पर पूर्व में भी प्रकरण दर्ज है। जिनकी जांच पुलिस द्वारा लगातार की जा रही थी, और उसी बीच यह एक बड़ा घटनाक्रम हो गया।लेकिन जीरन थाना प्रभारी सायबर एक्सपर्ट योगेंद्र सिंह सिसोदिया और बघाना थाना प्रभारी राजेंद्र सिंह नरवरिया व् टीम कुछ ही घंटो में आरोपी तक पहुंच ही गई,

Leave a Reply