FasTag:टोल नाकों पर फास्टर व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है, मध्यप्रदेश में अधिकांश टोल नाकों पर फास्टैग स्कैन ही नहीं होता और यही हाल एनएचआई के टोल नाकों पर भी है

टोल नाकों पर फास्टर व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है मध्यप्रदेश में अधिकांश टोल नाकों पर फास्टैग स्कैन ही नहीं होता और यही हाल एनएचआई के टोल नाकों पर भी है नीमच मंदसौर में अब केवल फास्टैग कि एक ही लाइन चालू है जिसके कारण गाड़ियों की लंबी लंबी कतारें लग जाती हैं और लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है टोल नाका पर फास्टैग स्कैनर उच्च गुणवत्ता के नहीं हैं या जानबूझकर ऑफलाइन रखे जाते हैं इसलिए गाड़ियों को बार-बार आगे पीछे करना पड़ता है समय की बर्बादी के साथ-साथ पेट्रोल डीजल भी व्यर्थ में बर्बाद होता है दिनांक 13 जुलाई को नीमच से जयपुर जाने और 16 जुलाई को जयपुर से नीमच आने के दौरान एन.एच.आई के सभी 7 टोल नाकों पर ऑटोमेटेड स्कैनिंग नहीं हो पाई और सभी जगह मैनुअल स्कैनिंग करनी पड़ी जिसकी दो शिकायतें भी एनएचआई के सुखद यात्रा ऐप पर लंबित है. नगद लेनदेन प्रक्रिया काले धन को संरक्षित करती है इसलिए भी टोल ठेकेदार कैशलेस फास्टैग प्रणाली को सफल नहीं होने देना चाहते सरकार को चाहिए कि टोल नाकों पर फास्टैग प्रणाली को सख्ती से लागू करवाया जाए ताकि आमजन की यात्रा सुगम हो सके. जय हिंद

,

Leave a Reply