भिंड : पत्नी के बांधे हाथ-पैर, फिर पति ने लगा ली फांसी

भिंड

शहर की हनुमान बजरिया में किराए के मकान में रह रहे एक युवक ने अपनी पत्नी के सामने फांसी लगा ली। मृतक की पत्नी का कहना है कि मेरे पति ने फांसी लगाने से पहले मेरे हाथ-पैर बांध दिए थे। जिससे मैं उन्हें रोक न सकूं। मैं चिल्लाती रही, गिड़गिड़ाती रही, अपनी बेटी की कसम भी दी। लेकिन उन्होंने मेरी एक न सुनी। बता दें कि मृतक मर्चेंट नेवी में पदस्थ था। दो साल पहले ही उसने प्रेम विवाह किया था। प्रेम विवाह करने की वजह से मृतक ने अपनी पत्नी को परिवार से अलग एक किराए का एक मकान दिलाया था।

22 वर्षीय अमन पुत्र राम सिंह भदौरिया निवासी बीटीआइ रोड शिवहरे का पुरा ने शुक्रवार की दोपहर में फांसी लगा ली। मृतक दो दिन पहले ही मलेशिया से अपने घर लौटा था। प्रेम विवाह करने की वजह से अमन ने अपनी पत्नी को शहर के हनुमान बजरिया में एक किराए का मकान दिलाया था। अमन ने जब यह कदम उठाया तब वह अपनी पत्नी के साथ किराए के मकान में था। मृतक की पत्नी शिवानी बाथम ने बताया कि उसने अमन भदौरिया से 20 अक्टूबर 2019 को ग्वालियर में आर्य समाज के द्वारा शादी की थी। शादी के बाद जब मुझे ससुराल वालों ने अपनाने से मना कर दिया तो मैं अपने पति के साथ कुछ दिन तक ग्वालियर में रही। इसके बाद मेरे पति ने मुझे भिंड में एक किराए का मकान दिया था। वह मर्चेंट नेवी में जाब करते थे। जब भी उन्हें छुट्टी मिलती थी तो वह मेरे पास आया करते थे। मैं उनके साथ ही ससुराल जाती थी। वह कहते थे कि जब मेरी बहनों की शादी हो जाएगी। तब मैं तुम्हें अपने घर ले चलूंगा। 18 अगस्त की रात मलेशिया से लौटकर वह मेरे पास आए थे। शुक्रवार को उन्हें ड्यूटी ज्वाइन करने के लिए निकलना था। वह तैयार होकर घर से निकले। इसके बाद दोबारा से लौटकर घर आ गए। इसके बाद उन्होंने मेरे हाथ-पैर बांध दिए और फांसी लगा ली। जैसे-तैसे मैंने अपने हाथों को खोला, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। समाज से अलग शादी करने की वजह से मेरे ससुराल वाले मुझे पसंद नहीं करते थे। मेरे एक साल की बेटी है। अब मेरे पति भी मुझे छोड़कर चले गए। अब हम दोनों का क्या होगा। वहीं अस्पताल में मौजूद मृतक के चचेरे भाई का कहना था कि उसे इस शादी के बारे में कुछ पता ही नहीं है। इन लोगों ने मेरे भाई को मार दिया है। वहीं पुलिस ने मर्ग कायम कर इस मामले की जांच शुरू कर दी है।💥✍

Leave a Reply