रामपुरा में डिलेवरी के दौरान माॅ और बच्चें की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों व परिजनों ने किया चक्काजाम


नीमच जिले में स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से चरमरा गई है जहां जिला अस्पताल में डिलेवरी के नाम पर खुली लूट मचा रखी है तो वही अब ग्रामीण क्षैत्रो के स्वास्थ्य केंद्रो पर भी हालात खराब होते दिख रहे है जिसें लेकर ग्रामीणों में भारी आक्रोश है  ऐसा ही एक मामला नीमच जिले के रामपुरा शासकीय चिकित्सालय में सामने आया है जहां विद्या पति सत्य नारायण धनगर निवासी अमरपुरा को शनिवार  रात्रि में डिलीवरी के लिए रामपुरा के शासकीय चिकित्सालय लाया गया, रात्रि में ड्यूटी पर तैनात नर्स राजश्री ने देखा और कहा कि अभी डिलीवरी में थोड़ा समय है इसलिए आप बाहर घूमो जब महिला को ज्यादा दर्द हुआ तो उसके परिजनों ने कहा कि आप उसे देख ले बहुत दर्द हो रहा है परंतु काफी बार जाने के बाद भी नर्स अपने कमरे से बाहर नहीं आई और जब आई और डिलीवरी करवाई तो मृत बच्चा पैदा हुआ जिसके बाद पिड़ित परिजनों ने जमकर हंगामा किया साथ ही डिलीवरी होने के बाद भी महिला की तबीयत में सुधार नहीं आया परिजन पुनः नर्स के पास गए तो उसने कहा कि आप बार-बार क्यों तंग कर रहे हैं वह ठीक है और नहीं आई और जब तक वह आई तब तक महिला की मृत्यु हो चुकी थी  जिसके पश्चात परिजन एवं गांव के लोगों द्वारा शासकीय अस्पताल का घेराव किया गया और नर्स पर लापरवाही का आरोप लगाया गया व रामपुरा के बस स्टैंड पर चक्का जाम किया गया घटना की जानकारी मिलते ही रामपुरा तहसीलदार व थाना प्रभारी एवं एसडीएम व एसडीओपी मनासा मौके पर पहुंचे और पिड़ित परिजनों के समझाने के बाद चक्का जाम खोला गया, परिजनों को एवं गांव वालों को तहसील द्वारा आश्वस्त किया गया कि दोषी पर कार्रवाई होगी एवं नर्स को तुरंत प्रभाव में नीमच शासकीय चिकित्सालय में अटैच किया गया

Leave a Reply