सीडीएस हेलिकॉप्टर दुर्घटना : शहीद जितेंद्र की पत्नी को सरकारी नौकरी और एक करोड़ रूपये की सम्मान निधि देने का एलान

सीहोर। तमिलनाडु में सीडीएस हेलिकॉप्टर दुर्घटना में शहादत देने वाले मध्य प्रदेश के सीहोर जिले के जितेंद्र कुमार को उनके गांव धामंदा अंतिम विदाई देने पहुॅचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने परिजनों से मुलाकात कर शोक संवदेना व्यक्त की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिवार को एक करोड़ रूपये की मदद, शहीद की पत्नी को सरकारी नौकरी व उनके नाम पर स्कूल का नाम किए जाने का ऐलान किया। ज्ञात हेा कि पिछले दिनों जितेंद्र कुमार तामिलनाडु में हुए सीडीएस हेलिकॉप्टर हादसे में सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी के अलावा शहादत देने वाले 11 लोगों में शामिल थे। जितेंद्र का पार्थिव शरीर रविवार को वायुयान से भोपाल और फिर यहां से सीहोर ले जाया गया।
मुख्यमंत्री चौहान जितेंद्र के गांव धामंदा पहुॅचे और उन्होंने उनके पिता शिवनारायण वर्मा, माता धापी बाई और उनकी धर्मपत्नी सुनीता एवं परिजनों से भेंटकर सांत्वना दी, साथ ही कहा कि इस घड़ी में वो और पूरा मध्यप्रदेश शोकाकुल परिवार के साथ है।
मुख्यमंत्री ने कहा, “मध्यप्रदेश की माटी के सपूत जितेंद्र कुमार को सादर श्रद्धांजलि। जिस हृदय विदारक हेलिकॉप्टर हादसे ने सीडीएस बिपिन रावत को हमसे छीन लिया, उसी में सीहोर के पुत्र ने कर्तव्य निर्वहन करते हुए प्राण गवां दिए। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान कर श्रीचरणों में स्थान दें।”
मुख्यमंत्री ने ऐलान किया गया कि शहीद के परिवार को सम्मान निधि एक करोड़ रुपये दिया जाएगा, पत्नी सुनीता को शासकीय सेवा में लेंगे, एक स्कूल का नाम अमर शहीद जितेंद्र जी के नाम पर होगा। धामंदा गांव में शहीद की स्मृति में स्मारक बनेगा।

शहीद जितेंद्र का पार्थिव शरीर जब उनके गांव धामंदा पहुॅचा तो वहां जन सैलाब उमड़ पड़ा। हजारों लोगों ने शहीद को नम आंखों से विदाई दी।

Leave a Reply