नीमच हवाई पट्टी के विकास के लिये सासंद का सौतेला व्यवहार


जिले के जनप्रतिनिधि भी बने है मुकदर्शक-हाजी साबिर मसूदी


नीमच- नीमच नगरपालिका के पूर्व पार्षद हाजी साबिर मसूदी ने अपनी और से एक प्रेस नोट के माध्यम से बताया कि नीमच का इतिहास गवाह है कि जब-जब भी मंदसौर ससंदीय क्षेत्र मे भाजपा के जनप्रतिनिधि चुनकर इस क्षेत्र का केन्द्र में नेतृत्व करने के लिये सासंद बने है तब से लेकर अभी तक का इतिहास देखा जायें तो नीमच के साथ सौतेला व्यवहार करने के साथ ही इस शहर को सुविधा देने के बावजूद सुविधा छीनना भाजपा के जनप्रतिनिधियों का इतिहास रहा है बात की जायें दिवंगत हो चुके स्वर्गीय सासंद  डॉ. लक्ष्मीनारायण पाण्डे की तो उन्होंने भी नीमच से सुविधायें छीनने के मामले में कोई कसर नहीं छोड़ी थी नीमच रेलवे स्टेशन पर लोकोशेड उनके कार्यकाल में यहॉं से चित्तौड़ गया। वहीं अब वर्तमान सासंद सुधीर गुप्ता ने हमारे स्थानीय जनप्रतिनिधि विधायक दिलीपसिंह परिहार व जिले के अन्य जवाबदार पदों पर बैठे भाजपा के नेताओं की चुप्पी के चलते यहॉं अंग्रेजों के जमाने की पुरानी हवाई पट्टी को नजरअंदाज कर मोदी की लहर में पहली बार सासंद बनकर मंदसौर मे आवश्यकता न होने के बावजूद हवाई पट्टी बनाने के साथ ही वहॉं पर पायलेट ट्रेनिंग सेन्टर की शुरूआत करवाई है जो कि नीमच के साथ बहुत बड़ा विश्वासघात और सौतेला व्यवहार कहा जायें तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। हाजी साबिर मसूदी ने कहा कि ग्वालियर से लेकर जबलपुर के मध्य व उदयपुर हवाई पट्टी से बड़ी नीमच की हवाई पट्टी सुधीर गुप्ता के मंदसौर प्रेम के चलते आज विरान होकर अपनी दुर्दशा पर ऑंसु बहा रही है और हमारे जिले के केबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा और नीमच विधायक की चुप्पी नीमच शहर के भविष्य के लिये खतरा बन गई है।
ससंद रत्न अवार्ड मिलने से पहले अपने कर्तव्यों को जगजाहिर करे सुधीर गुप्ता-
पूर्व पार्षद हाजी साबिर मसूदी ने क्षेत्रीय सासंद सुधीर गुप्ता को आड़ो हाथों लेते हुए कहा कि 26 मार्च को मंदसौर प्रेमी सासंद सुधीर गुप्ता 11 सासंदो को मिलने वाले सम्मान समारोह में शिरकत करेंगे ये हमारे ससंदीय क्षेत्र के लिये गर्व की बात है लेकिन जरा उनके मन मे पूरे ससंदीय क्षेत्र मे जो मंदसौर चढ़ा हुआ है उससे थोड़ा बाहर निकलकर नीमच की तरफ भी अपना थोड़ा प्रेम झलकाये तो बात समझ मे आयेगी क्योंकि ये जब से सासंद बने है मंदसौर के प्रति और मदसौर से जुड़े क्षेत्रों को ही महत्व दे रहे है और ससंदीय क्षेत्र मे शामिल नीमच को अपने ससंदीय क्षेत्र से अलग समझकर नजरअंदाज कर रहे है।जबकि यहॉं जिक्र अनिवार्य हे कि नीमच मे जो मेडिकल कालेज स्वीकृत हुआ है उसमें नीमच प्रेस क्लब का जनजागरण मंच व नीमच की जागरूक जनता यदि सड़कों पर नहीं उतरती तो ये मंदसौर प्रेमी सासंद ये सुविधा भी नीमच को किसी कीमत पर नहीं दे सकते थे ये भी कड़वा सच है।
हवाई पट्टी बन गई शहर में आने का शार्ट कट रास्ता-
हाजी साबिर मसूदी ने बताया कि वर्तमान मे नीमच हवाई पट्टी आसपास के क्षेत्रों बाग पिपल्या, आसपुरा, झाझरवाड़ा, चित्ताखेड़ा सहित आसपास के इलाकों मे रहने वाले लोग नीमच शहर मे प्रवेश करने के लिये स्थानीय हवाई पट्टी पर बाऊण्डीवाल नहीं होने के कारण हवाई पट्टी से होकर नीमच शहर में पगड्डी के जरिये होते हुए रेलवे फाटक से शहर में आसानी से प्रवेश कर रहे है वही देखने में आया है कि हवाई पट्टी पर पशु पालकों द्वारा भी अपने मवेशी बेखोफ होकर विचरण कराये जाते है साथ ही हवाई पट्टी से दोपहिया वाहन व फोरव्हीलर वाहन धड़ल्ले से दौड़ते हुए दिखाई देते है साथ ही यहॉं हवाई पट्टी पर दोपहिया वाहन और फोरव्हीलर वाहन का प्रशिक्षण लेने के लिये भी लोगों का जमघट लगा रहता है जो नीमच शहर के जनप्रतिनिधियों के लिये शर्मनाक बात है।
नीमच के सम्मान का इतिहास रही है नीमच की हवाई पट्टी –
हाजी साबिर मसूदी ने कहॉं कि नीमच शहर के मान सम्मान का इतिहास रही है नीमच हवाई पट्टी जहॉं पर देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पहली महिला प्रधानमंत्री इन्दिरा गॉंधी, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, पं. अटल बिहारी वाजपेयी के अलावा भाजपा कांग्रेस के कई दिग्गज नेतागण इस हवाई पट्टी पर उतरे है जो कि यहॉं की हवाई पट्टी का रनवे काफी लम्बा और व्यस्थित होने के कारण बड़े नेताओं की पसंदीदा हवाई पट्टी रही है लेकिन दुर्भाग्य है कि वर्तमान देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी भी नीमच हवाई पट्टी पर उतर चुके है जिनकी लहर मे सासंद बने सुधीर गुप्ता ने नीमच से एयरपोर्ट की सुविधा छीनकर मंदसौर ले जाने का प्रयास किया और वहॉं पर पायलेट ट्रेनिंग सेन्टर शुरू करवाया है जिसमें वहॉं के विधायक यशपालसिंह सिसोदिया का भी अपने गृह नगर व विधानसभा क्षेत्र के विकास के प्रति विशेष लगाव रहा है और यहॉं बात की जाये नीमच के जनप्रतिनिधियों की जिनकी गुटबाजी के कारण नीमच को ये सुविधा नहीं मिल सकी। जो यहॉं का अधिकार था वो भी मंदसौर चला गया यहॉं नीमच का दुर्भाग्य कहॉं जायेगा। जबकि यहॉं केन्द्र का अर्द्धसैनिक बल सीआरपीएफ व अफीम फैक्ट्री अथवा पड़ौसी राजस्थान मे स्थित बड़ी बड़ी माईन्स की फैक्ट्ररियॉं स्थापित है।
लोक निर्माण विभाग भी बेखबर है केन्द्र की बैशकीमती हवाई पट्टी की सुरक्षा के प्रति-
हाजी साबिर मसूदी ने अपने प्रेस नोट के माध्यम से नीमच लोक निर्माण विभाग पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि केन्द्र सरकार की बेशकीमती हवाई पट्टी लोक निर्माण विभाग के जवाबदार अधिकारियों की अनदेखी के कारण सुरक्षा की दृष्टि से असुरक्षित बनी हुई है जहॉं पूर्व में केन्द्र के लाखों रूपये बजट को तार फेंसिग के नाम पर डकार कर इसे अपने हाल पर छोड़ दिया व वर्तमान मे पूरी हवाई पट्टी बाउण्ड्रीवाल विहिन होकर सुरक्षा की दृष्टि से असुरक्षित बनी हुई है। अब यदि हमारे क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों में जरा सी भी इंसानियत का जज्बा बचा है तो अपनी सरकार के पैसों का जो दुरूपयोग लोक निर्माण विभाग के अधिकारी नीमच हवाई पट्टी के मामले मे कर चुके है उसको लेकर गंभीरता दिखाये तो न्याय संगत होगा।
पूर्व पार्षद हाजी साबिर मसूदी
वार्ड नं. 20, नीमच मो. 7772892200

Leave a Reply