टीआई अमित सोनी पर फायर करने वाला उज्जैन संभाग का मोस्ट वांटेड 50 हजार का इनामी अपराधी अमजद लाला गिरफ्तार

पुलिस कप्तान अनुराग सुजानिया की सफल कप्तानी में पुलिस टिम को मिल रही लगातार सफलताएं

टीआई अमित सोनी पर फायर करने वाला उज्जैन संभाग का मोस्ट वांटेड 50 हजार का इनामी अपराधी अमजद लाला गिरफ्तार

शुरवीर सिंह राठौर बनकर भीलवाडा में फरारी काट रहा था कुख्यात अपराधी अमजद लाला

मंदसौर में भी है अमजद के साथी और महिला मित्र
मंदसौर। सन् 2016 से मंदसौर पुलिस ही नहीं बल्कि उज्जैन संभाग की पुलिस को चकमा दे रहा मादक पदार्थों का कुख्यात तस्कर अमजद लाला आखिरकार मंदसौर पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया। अमजद लाला उज्जैन संभाग का मोस्ट वांटेड अपराधी था जिसे मंदसौर पुलिस कप्तान श्री अनुराग सुजानिया के मार्गदर्शन में थाना नई आबादी टीआई जितेंद्र सिंह सिसोदिया की टिम ने धर दबोचा। यह बहुत बड़ी सफलता मंदसौर पुलिस को मिली है और एसपी श्री अनुराग सुजानिया ने इसका पूरा श्रेय अमजद को पकड़ने के लिए बनाई गई टिम को दिया है। प्रेसवार्ता में एसपी श्री अनुराग सुजानिया ने बताया की अमजद को पकड़ने गई सीतामऊ थाने की टिम पर अमजद ने 23/11/2020 को पिस्टल से फायर किया था जिसमें टीआई अमित सोनी के कान को छूती हुई गोली निकल गई थी। इसके बाद अमजद ने गुजरात के हिम्मत नगर के पास साबरकांठा में फरारी काटी। फरारी कटवाने में चुन्नु लाला के रिश्तेदार नवाज ने पूरी मदद की थी। कई बार अमजद को पकड़ने के लिए दबिश दी गई लेकिन हर बार पुलिस को चकमा देने में सफल रहा। इस बार पुलिस को मुखबिर से सुचना मिली की अमजद मंदसौर में कहीं मादक पदार्थ अल्फाझोलेम सप्लाई करने आ रहा है। इस पर नई आबादी टीआई जितेंद्र सिंह सिसोदिया ने जाल बिछाया जिसमें अमजद ऐसा उलझा की अब कई सालों तक बाहर आना मुश्किल है।
फर्जी आधार कार्ड बनाकर काट रहा था फरारी
अमजद लाला फरारी के दौरान कई शहरों व जंगल की खाक छानता रहा। इसके बाद भीलवाडा जाकर फर्जी आधार कार्ड बनाया जिसमें अपना नाम शुरवीर सिंह राठौर रखा। इसी नाम से किराए का मकान लेकर लम्बे समय से फरारी काट रहा था।
मंदसौर में भी है अमजद के साथी और महिला मित्र
एक दर्जन से अधिक अपराधों में लिप्त कुख्यात अपराधी अमजद लाला के कुछ साथी मंदसौर में भी है। इतना ही नहीं अमजद की महिला मित्र भी मंदसौर में निवास करती है। शादीशुदा अमजद की अविवाहित महिला मित्र लम्बे समय से अमजद के संपर्क में है। अमजद के बारे में बताया जाता है की ये रंगीन मिजाज और महिला मित्र बनाने का आदि है। अमजद के ज्यादातर संबंध अंतर्जातीय है। अपनी अवैध कमाई से अय्याशी करना इसकी आदत है।
सिंथेटिक ड्रग का बड़ा तस्कर है अमजद
अमजद लाला सिंथेटिक ड्रग का बड़ा तस्कर है। पूर्व में भी इस पर एमडीएमए का केस दर्ज है। फरारी के दौरान भी ये सिंथेटिक ड्रग की तस्करी कर रहा था। सिंथेटिक ड्रग ये कहां से लाता था अगर मंदसौर पुलिस उस जगह तक पहुंच जाए तो बहुत बड़ी सफलता होगी।
बहरहाल पुलिस ने अमजद को रिमांड पर लिया है, देखना ये है की अमजद कितने राज उगलता है और पुलिस को राज जानने में कितनी सफलता मिलती है। अमजद लाला को पकड़ने के सराहनीय कार्य में एसडीओपी शेर सिंह भूरिया निरीक्षक जितेंद्र सिंह सिसोदिया थाना प्रभारी नई आबादी, उप निरीक्षक कपिल सोराष्ट्रीय, उप निरीक्षक रितेश नागर, प्रधान आरक्षक आशीष बैरागी, प्रधान आरक्षक रमीज राजा, प्रधान आरक्षक गोविंद राठौर, प्रधान आरक्षक अजीत सिंह, एफआरबी चालक प्रदीप सिंह, प्रधान आरक्षक मुजफ्फरउद्दीन, आरक्षक मनीष बघेल साइबर सेल, आरक्षक भारत बैरागी, आरक्षक अर्जुन सिंह की विशेष भूमिका रही।
✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻
शेख जफर कुरेशी
7722918506 ✍🏻
नोट- लठैतपत्रकार.कॉम की टीम में शेख जफर कुरेशी, पारितोष राजगुरु, विपिन जोशी है, इनके अलावा कोई खुद को लठैतपत्रकार.कॉम का प्रतिनिधि बताता है तो तुरंत खबर के साथ दिए गए नंबर पर या पुलिस को सूचित करने का कष्ट करें 🙏

,

Leave a Reply