नीमच मेडिकल कालेज भूमि पूजन भाजपा जन प्रतिनिधियों की उदासीनता व अकुशलता से ठंडे बस्ते में, जिले की जनता को निराश किया- अजीत कांठेड़

नीमच मेडिकल कालेज भूमि पूजन भाजपा जन प्रतिनिधियों की उदासीनता व अकुशलता से ठंडे बस्ते में, जिले की जनता को निराश किया- अजीत कांठेड़

भाजपा के कर्ताधर्ता नीमच मेडिकल कालेज के मामले में जानबूझकर बरत रहे उपेक्षा –

नीमच । 8 मई को मंदसौर में मेडिकल कालेज का भूमि पूजन हो रहा है। नीमच में भूमि पूजन ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है । मंदसौर में आयोजित समारोह में नीमच जिले के मंत्री विधायक व भाजपा पदाधिकारी
अपनी उदासीनता व अकुशलता के अपराध बोध से शामिल होंगे ।उनके आचरण ने नीमच जिले की जनता को निराश किया है ।
जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजीत कांठेड़ ने भाजपा पर आरोप लगाया कि इसके कर्ताधर्ता नीमच में मेडिकल कालेज के मामले में जानबूझ कर उपेक्षा बरत रहे है ।
नीमच के भाजपा से जुड़े जन प्रतिनिधियों की प्राथमिकता में नीमच में मेडिकल कालेज नही था ।इसी का परिणाम रहा कि मंदसौर में कालेज की घोषणा हुई तब नीमच में भाजपा के विरुध्द आक्रोश भड़का यह प्रकट हुआ कि भाजपा जन प्रतिनिधियों ने नीमच में मेडिकल कालेज के लिए कोई प्रस्ताव ही नही रखा जब कि लंबे समय तक भाजपा की सरकार रही ।
भाजपा के जन प्रतिनिधि ब्यक्तिगत लाभ हानि के धंधों की राजनीति में मशगूल रहे विकास की प्राथमिकताएं भूल गए । तब भी भाजपा के किसी जन प्रतिनिधि ने कोई पहल नही की नीमच का नाम शामिल किया जाय ।
सौभाग्य से तब श्री कमलनाथ प्रदेश के मुख्यमंत्री थे कांग्रेस ने नीमच में मेडिकल कालेज की मांग उनके सामने उठाई कमलनाथ जी ने यह जानते हुए की नीमच जिले की तीनों विधान सभा से व लोकसभा से कांग्रेस हारी है ।बिना किसी पक्षपात के कांग्रेस ने नीमच में मेडिकल कालेज के लिए परीक्षण कराया । श्री कमलनाथ के निर्देशों का ही परिणाम था कि मेडिकल कालेज के प्रस्ताव की तैयारी पांच साल की पन्द्रह दिन में कलेक्टर नीमच ने पूर्ण कर प्रस्ताव भेजा व कमलनाथ जी की विशेष रुचि से नीमच में ग्यारहवे कालेज के रूप में स्वीकृति मिली ।भाजपा के जनप्रतिनिधियों को यह कतई अच्छा नही लगा ।उन्होंने इस और हमेशा उपेक्षा का भाव रखा ।तथा आपसी झगड़े में भूमि चयन उलझाया ।आज भी भूमि चयन को लेकर भाजपा के भू माफिया विध्न फैलाते नजर आते है ।भाजपा जन प्रतिनिधियों के आपसी झगड़े व निहित स्वार्थों के खातिर मेडिकल कालेज की स्थापना में विलंब हो रहा है । श्री कांठेड़ ने कहा की
लोकतंत्र में श्रेष्ठ जन प्रतिनिधि वह होता है जो अपने क्षेत्र में विकास व सुविधाओ के मामले में सजग प्रहरी की भूमिका निभाएं भाजपा के तीनों प्रतिनिधि इस कसौटी पर असफल रहे है ।मेडिकल कालेज ही नही अन्य सुविधाओं के मामले में भी नीमच जिला निरन्तर पिछड़ रहा है । नीमच जिले के मेडिकल कालेज के मामले में पिछड़ना भाजपा जनप्रतिनिधियों को उदासीनता व उपेक्षा का ही परिणाम है ।मुख्यमंत्री नीमच जिले के लोगो को सन्तुष्ट करने हेतु कितनी ही चिकनी चिपडी बातें बनाये मंदसौर में भूमि पूजन् हो जाना और नीमच में भूमि पूजन छूट जाना नीमच जिले की जनता का अपमान है ।यह अपमान भाजपा जन प्रतिनिधियों की दी गई
सौगात है । नीमच भाजपा व जन प्रतिनिधियों को नीमच की जनता से क्षमा मांगना चाहिए ।

Leave a Reply