चर्चा में आई नीमच जिले के ग्राम नेवड की पटवारी और एक पूर्व सरपंच भ्रष्टाचार की खुलती पोल

(चर्चा में आई नीमच जिले के ग्राम नेवड की पटवारी और एक पूर्व सरपंच) बताया जा रहा है कि दो भाइयों का बटवारा उनके पिता ने कर दिया था एक भाई देवास रहने लगा था लेकिन दूसरे भाई की नियत में बदलाव आने पर समीपस्थ ग्राम नेवड में रहते हुए, एक पूर्व सरपंच और पटवारी से मिलीभगत कर अपने भाई के मकान का फर्जी पट्टा बनाया लिया और उस पट्टे के आधार पर बैंक से लोन भी ले लिया गया। शिकायतकर्ता बता रहा है कि पंजाब नेशनल बैंक आखिर बिना जांच पड़ताल के फर्जी पट्टे पर लोन कैसे दे दिया?इसमें बैंक की भी लापरवाही सामने आ रही है। यह मामला शिकायत में कलेक्टर व एसडीएम तक पहुंचा गया तो पता चला कि तहसील कार्यालय से वह फाइल ही गायब है? रिकॉर्ड रूम में तलाशी गई पर वहां भी नहीं मिल रही है तो क्या फर्जी काम करके फाइलें गायब कर दी जाती है ? ऐसे ही चर्चा और सवाल खड़े हो रहे हैं। यह भी बताया जा रहा है कि पटवारी पिछले लगभग 10 वर्षों से उसी हल्के में पदस्थ है। आखिर क्या चल रहा है इस विभाग में कोई ध्यान देने वाला नहीं। एक पटवारी का लगभग 10 वर्षों से एक ही हल्के में पदस्थ रहना तथा फर्जी पट्टा बनाने के आरोप लगना एवं फाइल का गायब होना गंभीर प्रतीत हो रहा है क्या जिम्मेदारों पर कोई ठोस कार्रवाई होगी या कोई बड़े लोगों का भी इसमें हाथ है शिकायतकर्ता ने जिम्मेदारों पर एफ आई आर दर्ज कराने के लिए भी कहा है देखना है कि अब आगे क्या होता है इस पूरे प्रकरण में।

,

Leave a Reply