सामाजिक सद्भाव प्रेम एकता के साथ निकलेगीजगन्नाथ रथ यात्रा पर्व

नीमच 30जून 20-22 श्री जगन्नाथ रथ यात्रा समिति नीमच के तत्वावधान में जगन्नाथ पुरी उड़ीसा की जैसे नीमच में भी 1 जुलाई शुक्रवार को प्रस्तावित जगन्नाथ रथ यात्रा कार्यक्रम जनप्रतिनिधियों ,जिला प्रशासन, एवं जन सहयोग से सफलता की ओर अग्रसर है, विगत रथ यात्रा में हुई कमियों को दूर कर उसमें सुधार किया गया ।रथयात्रा पर्व को सफल बनाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति अपने क्षेत्र के 50 व्यक्तियों को मोबाइल ,व्हाट्सएप, फेसबुक पर सूचना प्रेषित करें तो यह यात्रा सफल हो सकती है। समिति संयोजक राजेंद्र गर्ग पप्पी सर, संरक्षक शिवनारायण गर्ग , संतोष चोपड़ा , ओपी मंत्री, सुरेश चंद्र सिंहल, सुरेश चंद्र अजमेरा, वरुण खंडेलवाल, शैलेश जोशी, राकेश भारद्वाज प्रहलादराय गर्ग ,कैलाश मुजावदिया, रोचीराम छाबड़ा, मनोहर अर्जनानी ,राजेश जायसवाल ,नरेंद्र सोनी ,हरभजन सिंह सलूजा , धन्नालाल पटेल, राम प्रसाद चौधरी, मुरलीधर मंडोवरा ,सुनील काबरा ,नवीन गट्टानी, योगेश पंथ आदि ने सामूहिक रूप से आह्वान किया है कि सनातन धर्म रथयात्रा से समाज के सभी वर्गों में नई ऊर्जा का संचार होता है पूरे वर्ष पर्यंत रथ यात्रा की प्रतीक्षा रहती है । सभी का कल्याण हो यही लक्ष्य जगन्नाथ यात्रा का रहता है। भगवान घर घर द्वार द्वार दर्शन देने आते हैं सभी पधार कर देवी दर्शन एवं धर्म लाभ का पुण्य गृहण करें।

यात्रा में प्रत्येक समाज स्तर पर महिलाओं युवाओं की जन सहभागिता रहेगी। यह बात प्रेस को जारी संदेश में श्री जगन्नाथ रथ यात्रा समिति नीमच के संयोजक राजेंद्र गर्ग पप्पी सर ने कही। उन्होंने बताया कि 10 वर्षों से यात्रा का आयोजन हो रहा है 19 समाजों की सहभागिता है 400 सक्रिय सदस्य सहयोग प्रदान करते हैं 400 अन्य सदस्य भी अप्रत्यक्ष रूप से सहयोगी बनते हैं। जगन्नाथ पुरी उड़ीसा की तरह नीमच में प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी जिला प्रशासन के निर्देशानुसार समय में परिवर्तन किया गया है जो अब इस प्रकार रहेगा1 जुलाई शुक्रवार 5 बजे तिलक मार्ग स्थित राम मंदिर से 14 दिन बीमार होम क्वारंटाइन रहने के बाद भगवान जगन्नाथ भक्तों के कष्ट सहन कर मंदिर के पट बंद हो जाने के बाद भगवान जगन्नाथ अपने भक्तों को दर्शन देने हेतु रथ पर सवार होकर भगवान श्री कृष्ण बलदेव जी की बहन सुभद्रा के आकर्षक प्रतिमा के साथ अपने भक्तों के बीच फूलों से श्रृंगार दर्शन देने हेतु शहर की सड़कों पर निकलेंगे। रथ यात्रा में महामंडलेश्वर सुरेशानंद सरस्वती ,राष्ट्रसंत मिथिलेश नागर आशीर्वाद देने पधारेंगे। जिला प्रशासन से प्राप्त निर्देशानुसार निर्धारित समय यात्रा रात्रि8 बजे तक महाआरती के साथ विश्राम होगी मायापुर का सुंदरबनी के कारीगर द्वारा पोशाक बनाने के बाद पहली बार सतरंगी सिर्फ वृंदावन से मंगवाया गया है । नए रथ पर सवार होकर भगवान जगन्नाथ जी दिव्य दर्शन के लिए निकलेंगे ।रथ यात्रा में आकर्षण का केंद्र जगन्नाथ का रथ पर भगवान श्री कृष्ण बलदेव सुभद्रा नए रथ पर सवार आकर्षक प्रतिमा बैंड बाजे कयामपुर के ढोल रथ को रस्सी द्वारा खींचा जावेगा ।ताशा पार्टी उज्जैन कच्छी घोड़ी डांडिया पार्टी सोजत सिटी भस्म रमैया पार्टी ,डमरु पार्टी उज्जैन ,भजन मंडली डिकेन पंजाबी ढोल, नासिक ढोल, ताशे झंकार, मजीरा एवं पूरे रथ पर फूलों का श्रंगार सैनी आर्टस द्वारा विद्युत चालित झांकियां, परम भगवान जगन्नाथ दर्शन लाभ देने हेतु निकलगें तो नीमच शहर में शांति सुख समृद्धि का अनुभव होगा। अग्रवाल समाज के नरसिंह मंदिर को मौसी का घर बनाया गया है।
भगवान जलपान करने के बाद भक्तों को दर्शन हेतु आगे बढ़ेंगे। रथ यात्रा जाजू बिल्डिंग तिलक मार्ग श्री राम चौक गोपाल मंदिर नरसिंह मंदिर पटेल चाल,सब्जी मंडी चौराहा कमल चौक भारत माता चौक पुस्तक बाजार होते हुए अग्रसेन वाटिका पर महा आरती के बाद विसर्जित होगी। रथ यात्रा में माहेश्वरी समाज, खंडेलवाल समाज, सकल ब्राह्मण समाज पोरवाल समाज, पूज्य सिंधी पंचायत ,पंजाबी समाज, पाटीदार समाज ,जायसवाल समाज सिख, समाज फुल माली सैनी समाज, विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल फूल माली सैनी पाटीदार समाज साहू तेली समाज सेन समाज आर्य समाज यादव समाज राजपूत समाज जाटव समाज घाणीवार तेली समाज, माली समाज, चौरसिया समाज, धाकड़ समाज ,गुजर समाज, आंजना समाज ,प्रजापति समाज, समाज धोबी समाज एवं समस्त धार्मिक संगठन धार्मिक अनुषांगिक संगठन एवं समस्त सनातन धर्म सर्वजन समाज जन सहित 19 समाजों के सहयोग से निकाली जाएगी।सभी भक्तों से सामूहिक आह्वान किया गया कि सभी सामाजिक दूरी का पालन करते हुए मांस्क का उपयोग कर धार्मिक यात्रा में सहभागी बने और सामाजिक एकता प्रेम सद्भाव प्रदर्शित करें।

,

Leave a Reply