राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की उपलब्‍धता

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 193.53  करोड़ से अधिक  टीके प्रदान किये गए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी…

Read More

नीति आयोग ने “मिटीगेशन एंड मैनेजमेंट ऑफ कोविड-19: कम्पेंडियम ऑफ आयुष-बेस्ड प्रैक्टिसिस फ्रॉम इंडियन स्टेट्स एंड यूनियन टेरेटरीज़” जारी किया

नीति आयोग ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से आयुष आधारित चिकित्सा उपायों का एक सार-संग्रह जारी किया है। इस…

Read More

प्रधानमंत्री ने पीएसएलवी सी53 द्वारा अंतरिक्ष में भारतीय स्टार्ट-अप्स के दो पे-लोडों की सफल लॉन्चिंग के लिये इन-स्पेसई और इसरो को बधाई दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पीएसएलवी सी53 मिशन द्वारा अंतरिक्ष में भारतीय स्टार्ट-अप्स के दो पे-लोडों की सफल लॉन्चिंग के…

Read More

भारतीय राष्ट्रीय वायु गुणवत्ता संसाधन कार्यक्रम (एनएआरएफआई) पर विचार-मंथन कार्यशाला

भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार प्रो. अजय कुमार सूद ने 22 जून 2022 को भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार कार्यालय के सहयोग से राष्ट्रीय उन्नत अध्ययन संस्थान (एनआईएएस), बेंगलुरू द्वारा विकसित “भारत के राष्ट्रीय वायु गुणवत्ता संसाधन फ्रेमवर्क (एनएआरएफआई)” पर एक महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय मिशन शुरू करने के लिए इंडिया इंटरनेशनल सेंटर, नई दिल्ली में एक विचार-मंथन कार्यशाला का उद्घाटन किया। यह कार्यक्रम वायु गुणवत्ता डेटा एकत्र करने, इसके प्रभाव का अध्ययन करने और विज्ञान आधारित समाधानों को लागू करने के लिए एक सर्व-समावेशी मार्गदर्शिका प्रदान करेगा। कार्यक्रम में अपने संबोधन में प्रो. सूद ने सरकार, उद्योग और नागरिकों के सभी हितधारकों को एक साथ लाने की आवश्यकता पर बल दिया। प्रो.सूद ने कहा, “प्रदूषण से निपटना एक जटिल और बहुआयामी समस्या है, जिसके लिए अनुसंधानकर्ताओं, सरकारी अधिकारियों और नागरिकों को एक साथ आने की आवश्यकता होगी। समस्या के समाधान के लिए एक एकीकृत, बहु-क्षेत्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी के दृष्टिकोण की आवश्यकता होगी, जबकि समस्या के सामाजिक पहलू का भी समाधान करना होगा।” उद्घाटन समारोह में राष्ट्रीय उन्नत अध्ययन संस्थान (एनआईएएस) के निदेशक और भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के पूर्व सचिव डॉ. शैलेश नायक, प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार कार्यालय की वैज्ञानिक सचिव डॉ. (श्रीमती) परविंदर मैनी, एम्स, नई दिल्ली के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया तथा एनएआरएफआई के परियोजना समन्वयक प्रो. गुफरान बेग एवं डॉ. एम. मोहंती उपस्थित थे। कार्यशाला में सरकारी और गैर-सरकारी एजेंसियों, वैज्ञानिकों, उद्योग और स्टार्ट-अप प्रतिनिधियों ने भाग लिया। मिशन का विवरण प्रस्तुत करते हुए, प्रो. गुफरान बेग ने देश में वायु गुणवत्ता पर प्रमाणित और एकीकृत जानकारी की कमी के बारे में बताया। इस कमी को पूरा करने के लिए विज्ञान आधारित एकीकृत वायु गुणवत्ता संसाधन कार्यक्रम की जरूरत है। प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार कार्यालय द्वारा समर्थित और एनआईएएस द्वारा कार्यान्वित एनएआरएफआई सही दिशा में एक सामयिक कदम है। एनएआरएफआई भारत के विभिन्न जलवायु वाले क्षेत्रों में वायु प्रदूषण की समस्या के समाधान के लिए सरकार, नगर पालिकाओं, स्टार्ट-अप और निजी क्षेत्रों में निर्णय लेने वालों की मदद करने के लिए एक सूचना तंत्र है। इसे अनुसंधान-आधारित परीक्षित सूचना और उद्योग-उन्मुख समाधानों को समझने में आसान प्रूप में साझा किया जाएगा। सरकारी प्रतिष्ठानों, कार्यान्वयनकर्ताओं, मीडिया और नीति निर्माताओं में सक्रिय जमीनी स्तर के कर्मचारियों जैसे विभिन्न समूहों के लिए तैयार किए गए अल्पकालिक बुनियादी प्रशिक्षण मॉड्यूल इस कार्यक्रम के अभिन्न अंग होंगे। कुल मिलाकर, इससे संचार को समृद्ध करने और सामान्य जागरूकता बढ़ाने में मदद मिल सकती है। एनएआरएफआई निम्नलिखित पांच मॉड्यूल के आसपास विकसित होगा: थीम-1: उत्सर्जन स्रोत, एयर शेड और शमन थीम-2: मानव स्वास्थ्य और कृषि पर प्रभाव थीम -3: एकीकृत निगरानी, ​​पूर्वानुमान और चेतावनी कार्यक्रम थीम-4: लोक-संपर्क, सामाजिक आयाम, संक्रमण रणनीति और नीति थीम-5: समाधान, सार्वजनिक-उद्योग साझेदारी, पराली जलाने और नई तकनीक। इस बात पर बल दिया गया कि तेजी से समाधान प्राप्त करने के लिए अनुसंधानकर्ताओं और उद्योगों के बीच घनिष्ठ सहयोग की आवश्यकता है। नागरिकों के लिए स्वास्थ्य और कृषि क्षेत्रों में वायु प्रदूषण में कमी लाने पर जोर देना महत्वपूर्ण है ताकि स्थिति की गंभीरता को समझा जा सके और इसका समाधान निकाला जा सके। प्रो. शैलेश नायक ने एनएआरएफआई के लक्ष्य के बारे में अपनी टिप्पणी में कहा,”हम इस समस्या से निपटने के लिए पश्चिमी देशों में बनाए गए मॉडलों पर काफी हद तक निर्भर हैं। एनएआरएफआई ज्ञान सृजन, बुनियादी ढांचे और औद्योगिक संरचनाओं को विकसित करने और देश में मानव स्वास्थ्य पर इसके प्रभावों का अध्ययन करने में सक्षम होगा।” कार्यशाला के बारे में पूछताछ के लिए कृपया लिखें: gufranbeig@gmail.com

कोविड-19 अपडेट

राष्ट्रव्यापी कोविड टीकाकरण के तहत अब तक 196.32 करोड़  टीके लगाए जा चुके हैं भारत में सक्रिय मरीजों की संख्या 79,313 है सक्रिय मामलों की दर 0.18 प्रतिशत है स्वस्थ होने की वर्तमान दर 98.61 प्रतिशत है बीते चौबीस…

Read More

केंद्रीय मंत्री श्री किरेन रिजिजू और मंगोलिया के राष्ट्रपति श्री उखनागिन खुरेलसुख ने आज गंदन मठ में पवित्र कपिलवस्तु अवशेषों पर श्रद्धांजलि अर्पित की

भारत और मंगोलिया के बीच जन-जन के बीच संपर्क के साथ-साथ आर्थिक संबंध दोनों एक नया आकार ले रहे हैं:…

Read More

कोविड-19 अपडेट

राष्ट्रव्यापी कोविड टीकाकरण के तहत अब तक 195.5 करोड़  टीके लगाए जा चुके हैं भारत में सक्रिय मरीजों की संख्या 53,637 है सक्रिय मामलों की दर 0.12 प्रतिशत है स्वस्थ होने की वर्तमान दर 98.66 प्रतिशत…

Read More

कोविड-19 अपडेट

राष्ट्रव्यापी कोविड टीकाकरण के तहत अब तक 195.35 करोड़  टीके लगाए जा चुके हैं भारत में सक्रिय मरीजों की संख्या 50,548 है सक्रिय मामलों की दर 0.12 प्रतिशत है…

Read More

प्रधानमंत्री ने पूर्वोत्तर के सर्वांगीण विकास के लिए परिवर्तनकारी पहल साझा की – ‘पूर्वोत्तर कल्याण के 8 वर्ष’

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले 8 वर्षों के दौरान पूर्वोत्तर के सर्वांगीण विकास के लिए परिवर्तनकारी पहलों के बारे में अपनी वेबसाइट, नमो ऐप और माईगॉव से लेख और ट्वीट थ्रेड साझा किए हैं। प्रधानमंत्री ने ट्वीट में कहा: “पिछले 8 वर्षों में पूर्वोत्तर में अभूतपूर्व विकास हुआ है। बुनियादी ढांचे के निर्माण, बेहतर स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा सुनिश्चित करने और क्षेत्र के विभिन्न राज्यों की समृद्ध संस्कृतियों को लोकप्रिय बनाने पर ध्यान केंद्रित किया गया है। #पूर्वोत्तर कल्याण के 8 वर्ष” “पूर्वोत्तर के सर्वांगीण विकास के लिए परिवर्तनकारी पहल। #पूर्वोत्तर कल्याण के 8 वर्ष”    

योग को दुनियाभर में अद्भुत लोकप्रियता मिली है: प्रधानमंत्री विभिन्न क्षेत्रों के लोगों को योग से लाभ पहुंचा है

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि योग को दुनियाभर में अद्भुत लोकप्रियता मिली है। उन्होंने यह भी कहा कि नेता, सीईओ, खिलाड़ी और कलाकार सहित कई क्षेत्रों के लोग योग का नियमित अभ्यास किया करते हैं। श्री मोदी ने योग पर एक वीडियो शेयर किया है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट में कहा; “बीते कुछ वर्षों में योग को दुनियाभर में अद्भुत लोकप्रियता मिली है। नेता, सीईओ, खिलाड़ी और कलाकार सहित कई क्षेत्रों के लोग योग का नियमित अभ्यास किया करते हैं। वे अक्सर इस बारे में बताते भी हैं कि कैसे उन्हें इससे लाभ पहुंचा है।“ “In the last few years, Yoga has gained tremendous popularity globally. People from different walks of life…

Read More

कोविड-19 अपडेट

राष्ट्रव्यापी कोविड टीकाकरण के तहत अब तक 194.92 करोड़  टीके लगाए जा चुके हैं भारत में सक्रिय मरीजों की संख्या 40,370 है सक्रिय मामलों की दर 0.09 प्रतिशत है…

Read More

केन्द्रीय कॉर्पोरेट कार्य राज्यमंत्री श्री राव इंद्रजीत सिंह कॉर्पोरेट कार्य मंत्रालय के अंतर्गत आजादी का अमृत महोत्सव के भाग के रूप में कल एनएफआरए द्वारा ‘प्रभावी स्वतंत्र निगरानी के माध्यम से उच्च गुणवत्ता वित्तीय रिपोर्टिंग ढांचा’ विषय पर आयोजित सेमीनार का उद्घाटन करेंगे

एनएफआरए के समीनार में ऑडिट नियमन तथा एकांटिंग स्टेंडर्ड क्षेत्र के घरेलू और अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ भाग लेंगे राष्ट्रीय वित्तीय नियामक…

Read More

आजादी का अमृत महोत्सव के भाग के रूप में सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों द्वारा सभी जिलों में कल क्रेडिट आउटरीच कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा

आजादी का अमृत महोत्सव  ( एकेएएम ) के भाग के रूप में सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों द्वारा कल, 08 जून 2022 को व्यापक क्रेडिट आउटरीच कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। देश के सभी जिले ऋण सुविधा तथा विभिन्न सरकारी योजनाओं में नामांकन पर ग्राहकों तथा आम लोगों के प्रश्नों का उत्तर देने के लिए तैयार हैं। जिला स्तर के इन कार्यक्रमों का समन्वयन सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों तथा राज्य स्तरीय बैंकर समितियों ( एसएलबीसी ) द्वारा किया जा रहा है। इन कार्यक्रमों को 6 से 12 जून, 2022 के दौरान आजादी का अमृत महोत्सव  के तहत वित्त मंत्रालय के प्रतिष्ठित साप्ताहिक समारोह के भाग के रूप में आयोजित किया जा रहा है। सप्ताह के पहले दिन प्रधानमंत्री नई दिल्ली के विज्ञान भवन में उपस्थित रहे थे। इन जिला स्तरीय कार्यक्रमों का उद्वेश्य आजादी का अमृत महोत्सव समारोहों को बड़े पैमाने पर कर्मचारियों और ग्राहकों तथा आम जनता की अधिकतम भागीदारी के साथ देश के सभी हिस्सों में ले जाना है। सभी एसएलबी से क्रेडिट आउटरीच कार्यक्रमों को संचालित करने, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना ( पीएमजेजेबीवाई ) तथा अटल पेंशन योजना ( एटीवाई ) की जन सुरक्षा योजनाओं में नामांकन करने,  ग्राहक जागरुकता तथा वित्तीय साक्षरता और शाखाओं, बीसी आदि द्वारा किए गए अच्छे कार्यों को उपयुक्त तरीके से सम्मानित करने का निवेदन किया गया है।

केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री श्री नित्यानंद राय ने आज उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में 38वीं राष्ट्रीय पुलिस प्रशिक्षण संगोष्ठी का उद्घाटन किया

BPR&D द्वारा आयोजित दो दिन की इस संगोष्ठी का विषय ‘पुलिस प्रशिक्षण में उत्तम कार्यप्रणालियों को साझा करना’ है प्रधानमंत्री…

Read More

केन्द्रीय गृह और सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने आज दिल्ली में उच्चस्तरीय बैठक कर आगामी मानसून में बाढ़ से निपटने की समग्र तैयारियों की समीक्षा की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में NDRF व NDMA द्वारा बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में की गयी तैयारियों का जायजा…

Read More

प्रधानमंत्री ने तेलंगाना के स्थापना दिवस पर राज्य के लोगों को बधाई दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने तेलंगाना के स्थापना दिवस पर राज्य के लोगों को बधाई दी है। एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा; “तेलंगाना के स्थापना दिवस पर राज्य की मेरी बहनों और भाइयों को बधाई। तेलंगाना के लोग राष्ट्रीय प्रगति के लिए कड़ी मेहनत और अद्वितीय समर्पण के पर्याय हैं। राज्य की संस्कृति विश्व प्रसिद्ध है। मैं तेलंगाना के लोगों की भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं।”  

प्रधानमंत्री ने एक लेख साझा किया जिसमें यह बताया गया है कि हमारे राष्ट्र का निर्माण करने वाले महान लोगों को भारत किस प्रकार याद कर रहा है

प्रधानमंत्री ने सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण पर सरकार के काम पर MyGov ट्वीट थ्रेड भी साझा किया प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने नमो ऐप के विकास यात्रा खंड का एक लेख साझा किया है जिसमें इस बात की झलक दी गई है कि हमारे राष्ट्र का निर्माण करने वाले महान लोगों को भारत किस प्रकार याद कर रहा है। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा; “इस साल हम आजादी का अमृत महोत्सव को अपने स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देने के अवसर के रूप में मना रहे हैं। नमो ऐप के विकास यात्रा खंड पर यह लेख आपको एक झलक देता है कि हमारे राष्ट्र का निर्माण करने वाले महान लोगों को भारत किस प्रकार याद कर रहा है।…

Read More

भारत-सेनेगल ने सांस्कृतिक आदान-प्रदान, युवा मामलों में सहयोग और अधिकारियों के लिए वीजा मुक्त व्यवस्था से जुड़े तीन समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए

भारत, विकास की दिशा में आगे बढ़ते सेनेगल का एक विश्वसनीय भागीदार बनने के लिए प्रतिबद्ध है – उपराष्ट्रपति उपराष्ट्रपति…

Read More

मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के मास्टर क्लास में रिजवान अहमद ने कहा : ”सिनेमा हर व्यक्ति का वैश्विक जन्मसिद्ध अधिकार है” ”स्क्रीन और ओटीटी प्लेटफार्म के बीच सहयोगात्मक संबंध की आवश्यकता”

कोविड-19 ने दुनिया भर में फिल्म देखने में डिजिटल परिवर्तन की प्रक्रिया को तेज कर दिया है। महामारी ने लोगों…

Read More

मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के डायलॉग सत्र में आज के प्रमुख अंश (17वां मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव-2022)

#मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव डायलॉग फिल्म निर्माताओं, मीडिया और भाग लेने वाले प्रतिनिधियों के बीच एक आकर्षक और ज्ञानवर्धक बातचीत है।फिल्म महोत्सव के दिन-4 के मुख्य अंश यहां देखें: 1. फिल्म का नाम: ‘अरुणा वासुदेव– एशियाई सिनेमा की मां‘ फिल्म की निर्देशक सुप्रिया सूरी द्वारा संबोधित #मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव डायलॉग के मुख्य अंश     “यह अरुणा वासुदेव पर एक जीवनी है, जिन्होंने भारतीय सिनेमा को बढ़ावा देने के लिए कड़ी मेहनत की थी। मैं एक सिनेप्रेमी हूं और मैंने कई फिल्म समारोहों में भाग लिया है। मैंने हमेशा अरुणा वासुदेव और भारतीय सिनेमा के प्रति उनके योगदान की प्रशंसा की और इसने मुझे उन पर एक वृत्तचित्र बनाने के लिए प्रेरित किया। “फिक्शन फिल्म की तरह, वृत्तचित्रों में भी कथानक होते हैं। संरचना को ध्यान में रखने की जरूरत है, जो बहुत महत्वपूर्ण है। हम में से अधिकांश उस मूल विचार को भूलने की कोशिश करते हैं जिसे हम संवाद करने की कोशिश कर रहे हैं। फिल्म के केंद्र को अपना फोकस नहीं खोना चाहिए।” सारांश: नेटपैक, सिनेमाया और सिनेफैन फिल्म महोत्सव की संस्थापक अरुणा वासुदेव ने सिनेमा की दुनिया में कई लोगों के जीवन को प्रभावित किया है। यह वृत्तचित्र एक अविभाजित, ब्रिटिश भारत में उसकी विनम्र उत्पत्ति से लेकर सिनेमाई दुनियाँ के गलियारों तक उसकी जड़ों का पता लगाता है। एक फिल्म समीक्षक, सिनेमा कार्यकर्ता और एक इम्प्रेसारियो के रूप में उनकी यात्रा, एक टेपेस्ट्री बुनती है जो उन बिंदुओं को जोड़ती है जो बड़े कैनवास को एशियाई सिनेमा पुनर्जागरण के रूप में जानते हैं। फिल्म आलोचकों, फिल्म निर्माताओं, क्यूरेटर और प्रोग्रामर्स के जीवन को उजागर करने वाले एक कथा के माध्यम से चित्रित उनकी गतिशीलता की खोज करती है जो छिपे हुए हैं और सिनेमा के इतिहास में अनसुने रहते हैं। #मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव डायलॉग का यू ट्यूब लिंक : https://www.youtube.com/watch?v=Ms7BbmvPBlM   2.फिल्म का नाम:हाटी बोंधु मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के डायलॉग सत्र में फिल्म के निर्देशक कृपाल कलिता द्वारा संबोधन के मुख्य अंश   “हाल के दिनों में जंगलों के विनाश के साथ, हाथी के लिए आवास नष्ट हो गया है, जिसके लिए मानव-हाथी संघर्ष बढ़ रहा है। फिल्म इस संघर्ष से उत्पन्न दुखद घटनाओं और हाथियों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए काम करने वाले सामाजिक संगठन ‘हाटी बोंधु’ द्वारा की गई विभिन्न प्रयासों को प्रस्तुत करती है।  “असम में अगर कोई अभद्र व्यवहार करता है, तो हम उसे ‘पशु’ कहते हैं क्यों कि हम इंसान ही हैं जो कोमल और दयालु हो सकते हैं। मनुष्यों को जानवरों से बहुत कुछ सीखना है और हाथियों को असम का सच्चा सज्जन जीव कहा गया है।” Synopsis: सारांश: प्राकृतिक आवास कम होने के साथ, हाथियों को अपनी भूख की पीड़ा को समाप्त करने के लिए बाहर निकलने और मानव आवासों पर हमला करने के लिए मजबूर होना पड़ता है। इस अपरिहार्य संघर्ष ने मानव और हाथियों और फसलों दोनों के जीवन को बड़े पैमाने पर नष्ट कर दिया है। इससे बचने के लिए, हाथियों को पर्याप्त भोजन और आवास प्रदान करने के लिए टीम “हाटी बोंधु” कई प्रशंसनीय उपाय लेकर आई है। यह वृत्तचित्र मानव-हाथी संघर्ष को रोकने और इन राजसी जीवों को उनके प्राकृतिक जीवन के लिए एक वातावरण प्रदान करने के लिए, अक्सर जीवन को जोखिम में डालते हुए, हाटी बोंधु द्वारा की गई उन विश्वसनीय गतिविधियों को प्रदर्शित करता है। मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के डायलॉग सत्र का यू ट्यूब लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=Ms7BbmvPBlM…

Read More

कैबिनेट ने छत्तीसगढ़ राज्य के बीजापुर, दंतेवाड़ा और सुकमा जिलों के आंतरिक क्षेत्रों से भर्ती रैली के जरिये सीआरपीएफ में कांस्टेबल के रूप में मूल जनजातीय युवाओं की भर्ती के लिए कांस्टेबल-पद की शैक्षणिक योग्यता में छूट देने की मंजूरी दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने दक्षिण छत्तीसगढ़ के 03 जिले अर्थात् बीजापुर, दंतेवाड़ा और सुकमा…

Read More

यूआईडीएआई ने ‘आधार के उपयोग को सरल बनाने के लिए हालिया पहल’ पर कार्यशाला का आयोजन किया आधार की प्रमुख प्रगति पर विचार-विमर्श किया गया और राज्य/केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारों ने अपने सर्वश्रेष्ठ अभ्यासों को साझा किया गया

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने 1 जून, 2022 को नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में ‘आधार उपयोग को सरल…

Read More

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय, भारत सरकार ने सभी छह अनुसंधान जहाजों के संचालन, कार्मिक आवश्यकता, रख-रखाव, खान-पान और साफ-सफाई के लिए मैसर्स एबीएस मरीन सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, चेन्नई के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने मैसर्स एबीएस मरीन सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, चेन्नई के साथ 31 मई 2022 को सभी छह अनुसंधान जहाजों के संचालन, कार्मिक आवश्यकता, रख-रखाव (वैज्ञानिक…

Read More

11 वीं भारत-इटली सैन्य सहयोग समूह ( एमसीजी ) बैठक

भारत-इटली सैन्य सहयोग समूह ( एमसीजी ) की बैठक का 11वां संस्करण इटली के रोम में 31 मई 2022 से 01 जून 2022 तक आयोजित किया गया। भारत-इटली सैन्य सहयोग समूह ( एमसीजी ) मुख्यालयों, समेकित रक्षा कर्मचारियों तथा इटली के सैन्य बलों के संयुक्त स्टाफ मुख्यालय के बीच सामरिक और प्रचालनगत स्तरों पर नियमित संवाद के माध्यम से दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को बढ़ावा देने के लिए स्थापित एक मंच है। इस बैठक की सह-अध्यक्षता भारतीय पक्ष की तरफ से डिप्टी असिस्टैंट चीफ ऑफ इंटीग्रेटेड स्टाफ आईडीसी ( ए ), मुख्यालय आईडीसी ब्रिगेडियर विवेक नारंग तथा इटली की तरफ से इटली के डिफेंस जनरल स्टाफ ब्रिगेडियर अलेसेंड्रो ग्रासानो द्वारा की गई। सैन्य सहयोग समूह की बैठक एक मैत्रीपूर्ण, सौहार्दपूर्ण तथा आत्मीय वातावरण में आयोजित की गई। चर्चाएं वर्तमान द्विपक्षीय रक्षा सहयोग तंत्र के दायरे में नई पहलों तथा वर्तमान में जारी रक्षा सहयोगों को और अधिक सुदृढ़ बनाने पर केंद्रित रहीं।

कैबिनेट ने खरीददारों के रूप में सहकारी समितियों द्वारा खरीद की अनुमति के लिए गवर्नमेंट ई मार्केटप्लेस – विशेष प्रयोजन कंपनी (जीईएम – एसपीवी) के कार्यादेश का विस्तार करने की मंजूरी दी

इस कदम से सहकारी समितियों को प्रतिस्पर्धी मूल्य प्राप्त करने में मदद मिलेगी प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में…

Read More

कैबिनेट ने छत्तीसगढ़ राज्य के बीजापुर, दंतेवाड़ा और सुकमा जिलों के आंतरिक क्षेत्रों से भर्ती रैली के जरिये सीआरपीएफ में कांस्टेबल के रूप में मूल जनजातीय युवाओं की भर्ती के लिए कांस्टेबल-पद की शैक्षणिक योग्यता में छूट देने की मंजूरी दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने दक्षिण छत्तीसगढ़ के 03 जिले अर्थात् बीजापुर, दंतेवाड़ा और सुकमा…

Read More

कैबिनेट ने खरीददारों के रूप में सहकारी समितियों द्वारा खरीद की अनुमति के लिए गवर्नमेंट ई मार्केटप्लेस – विशेष प्रयोजन कंपनी (जीईएम – एसपीवी) के कार्यादेश का विस्तार करने की मंजूरी दी

इस कदम से सहकारी समितियों को प्रतिस्पर्धी मूल्य प्राप्त करने में मदद मिलेगी प्रविष्टि तिथि: 01 JUN 2022 4:38PM by…

Read More

प्रधानमंत्री ने केके के नाम से मशहूर प्रसिद्ध गायक कृष्णकुमार कुन्नाथ के निधन पर शोक व्यक्त किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने केके के नाम से मशहूर प्रसिद्ध गायक कृष्णकुमार कुन्नाथ के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। श्री मोदी ने कहा कि उनके गीत सभी आयु वर्ग के लोगों की भावनाओं की एक विस्तृत श्रृंखला को दर्शाते हैं। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा; “केके के नाम से मशहूर प्रसिद्ध गायक कृष्णकुमार कुन्नाथ के असामयिक निधन से दुखी हूं। उनके गीतों ने सभी आयु वर्ग के लोगों की भावनाओं की एक विस्तृत श्रृंखला को दर्शाया है। हम उन्हें उनके गीतों के माध्यम से हमेशा याद रखेंगे। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।”

रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म’ के सिद्धांत से ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में कई फायदे मिल रहे हैं: प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि सुधार, निष्पादन और परिवर्तन ‘रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म’ (सुधार, निष्पादन और परिवर्तन) के सिद्धांत से ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में कई फायदे मिल रहे हैं। श्री मोदी ने कहा कि ये लाभ विशेष रूप से भारत के युवाओं को लाभ प्रदान कर रहे हैं और धन सृजनकर्ता बनने की उनकी आकांक्षाओं को पंख दे रहे हैं। MyGov द्वारा एक थ्रेड ट्वीट के उत्तर में, प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया है ; “‘रिफॉर्म, परफॉर्म एंड ट्रांसफॉर्म’ के सिद्धांत से संचालित, ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ में कई लाभ हुए हैं। ये लाभ विशेष रूप से भारत के युवाओं को लाभान्वित करते हैं और धन सृजनकर्ता बनने की उनकी आकांक्षाओं को पंख देते हैं। #8YearsOfEODB

प्रधानमंत्री ने आईएनए की वयोवृद्ध सेनानी अंजलाई पोन्नुसामी के निधन पर शोक व्यक्त किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मलेशिया की प्रतिष्ठित आईएनए की वयोवृद्ध सेनानी अंजलाई पोन्नुसामी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा: “मलेशिया की प्रतिष्ठित आईएनए की वयोवृद्ध सेनानी अंजलाई पोन्नुसामी जी के निधन से दुखी हूं। हम भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में उनके साहस और प्रेरक भूमिका को हमेशा याद रखेंगे। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना।”    

प्रधानमंत्री ने विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप की चैंपियन महिला मुक्केबाजों से मुलाकात की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप की चैंपियन महिला मुक्केबाज निकहत जरीन, मनीषा मौन और परवीन हुड्डा से मुलाकात की। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा: “मुक्केबाज निकहत जरीन, मनीषा मौन और परवीन हुड्डा से मिलकर खुशी हुई जिन्होंने महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारत को गौरवान्वित किया। हमने उनके जीवन यात्रा पर उत्कृष्ट बातचीत की, जिसमें खेल के प्रति जुनून और जीवन के अन्य पहलु शामिल है। भविष्य में उनके प्रयासों के लिए शुभकामनाएं।”

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने कहा कि प्रधा

नमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार की कृषि हितैषी योजनाएं आज किसानों की असली शक्ति बनी है

किसानों के सशक्तिकरण और उनको आत्मनिर्भर बनाने के लिए मोदी सरकार ने 8 वर्षों में जितने कार्य किए हैं उतने…

Read More

रक्षा मंत्रालय ने भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना के लिए एस्ट्रा एमके-आई बियॉन्ड विजुअल रेंज एयर टू एयर मिसाइल सिस्टम और संबंधित उपकरण की खरीद के लिए बीडीएल के साथ 2,900 करोड़ रुपये से अधिक के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ के विज़न को बढ़ावा देते हुए रक्षा मंत्रालय ने भारतीय वायु सेना और…

Read More

संस्कृति मंत्रालय 2 जून को नई दिल्ली में तेलंगाना स्थापना दिवस समारोहों का आयोजन करेगा

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अतिम शाह इस अवसर पर मुख्य अतिथि होंगे संस्कृति मंत्रालय 2 जून 2022 को सायं 6 बजे से नई दिल्ली के डॉ. अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर में तेलंगाना स्थापना दिवस समारोहों का आयोजन करेगा। केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह उस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि होंगे। केंद्रीय संस्कृति, पर्यटन तथा उत्तरी पूर्व क्षेत्र विकास मंत्री श्री जी किशन रेड्डी तथा विदेश एवं संस्कृति राज्य मंत्री श्रीमती मीनाक्षी लेखी भी कार्यक्रम में भाग लेंगी। इस कार्यक्रम के साथ पहली बार ऐसा हो रहा है कि भारत सरकार ‘ तेलंगाना दिवस ‘ या ‘ तेलंगाना स्थापना दिवस ‘ का आयोजन यह सुनिश्चित करने के लिए कर रही है कि इसे उपयुक्त तरीके से मनाया जा सके।…

Read More

भारत वैश्विक डिजिटल क्रांति में नेतृत्व की भूमिका निभाने के लिए तैयार : वर्ल्ड समिट ऑफ इनफॉर्मेशन सोसाइटी ( डब्ल्यूएसआईएस ) 2022 में श्री देवुसिंह चौहान

श्री देवुसिंह चौहान ने आईटीयू के महासचिव श्री हाओलिन झोउ के साथ द्विपक्षीय बैठक की केंद्रीय संचार राज्य मंत्री श्री देवुसिंह चौहान ने 30 मई से 3 जून 2022 तक इंटरनेशनल टेलीकम्युनिकेशंस यूनियंस ( आईटीयू ) द्वारा अपने जेनेवा स्थित मुख्यालय में आयोजित किए जा रहे वर्ल्डसमिट ऑफ इनफॉर्मेशन सोसाइटी ( डब्ल्यूएसआईएस ) 2022 के उद्घाटन समारोह में भाग लिया। यह चार दिवसीय कार्यक्रम की शुरुआत है जहां भारत बहुपक्षीय तथा द्विपक्षीय बैठकों के दौरान अपने दूरसंचार कौशल का प्रदर्शन करेगा। कार्यक्रम के दौरान समावेशी विकास पर भारत के फोकस की चर्चा करते हुए श्री देवुसिंह चौहान ने कहा कि डिजिटल समावेशन वित्तीय समावेशन तथा समावेशी आर्थिक विकास के केंद्र में है। सरकार इस प्रयत्न में भरोसेमंद आईसीटी अवसंरचना उपलब्ध कराने के लिए सचेत और निरंतर प्रयास कर रही है। छह लाख से अधिक गांवों को ऑप्टिकल फाइबर केबल के साथ जोड़ा जा रहा है जिसमें से लगभग 175,000 पहले से कनेक्ट किए जा चुके हैं। 4जी कनेक्टिविटी से छूट गए गांवों को यूनवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड ( यूएसओएफ ) के माध्यम से कवर किया जा रहा है। श्री देवुसिंह चौहान ने यह भी कहा, ‘‘ पहाड़ी तथा पर्वतीय दुर्गम क्षेत्रों में ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क बिछाने में आने वाली दिक्कतों को देखते हुए, हमारा फोकस उन प्रौद्योगिकीयों, जैसे ई बैंड वायरलेस कैरियरों, एलईओ तथा एमईओ सैटेलाइट कनेक्टिविटी आदि के उपयोग पर है जो विकास में तेजी ला सकती हैं तथा इस अंतर को पाट सकती हैं। ‘‘ उन्होंने कहा कि हमने एलईओ / एमईओ कनेक्टिविटी के लिए फस्र्ट सर्विस लाइसेंस जारी कर दिया है और हमें उम्मीद है कि सुदूर क्षेत्रों में डिजिटल समावेशन में सक्षम बनाने के लिए हम प्रौद्योगिकी का उपयोग कर सकेंगे।…

Read More