आयुष मंत्रालय ने एएसयू दवाओं में अश्वगंधा के पत्तों का इस्तेमाल ना करने के परामर्श की समीक्षा के लिए विशेषज्ञ समूह का गठन किया

आयुष मंत्रालय ने एएसयू (आयुर्वेद, सिद्ध और यूनानी) दवाओं में अश्वगंधा (विथानिया सोम्निफरल) के पत्तों के उपयोग से संबंधित मामले की पुनः समीक्षा करने का फैसला किया है और इसके लिए एक विशेषज्ञ समूह का गठन किया है।

इससे पहले मंत्रालय ने एएसयू दवाओं में अश्वगंधा की पत्तियों का इस्तेमाल ना करने का परामर्श जारी किया था।

आयुष मंत्रालय द्वारा अश्वगंधा के पत्तों के उपयोग पर रोक लगाने के मद्देनजर (एएसयू ड्रग्स मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन को दिनांक 06.10.2021 को लिखे पत्र संख्या एल-11011/9/2021-डीसीसी के जरिए), एएसयू दवा विनिर्माण उद्योग के भागीदारों से अभ्यावेदन प्राप्त हुए थे।

 

साथ ही, आयुष मंत्रालय ने हितधारकों को एएसयूउत्पादों में अश्वगंधा के पत्तों के उपयोग को लेकर अपनी चिंताओं पर चर्चा करने के लिए आमंत्रित किया था। इसी चर्चा के आधार पर मंत्रालय ने अश्वगंधा (विथानिया सोम्निफरल) के पत्तों के उपयोग से बचने के लिए दवा निर्माताओं को जारी किए गए परामर्श की पुनः समीक्षा करने का फैसला किया है।

विशेषज्ञ समूह वैज्ञानिक साक्ष्य के आधार पर एएसयू उत्पादों में अश्वगंधा के पत्तों/अश्वगंधा के पंचांग के उपयोग पर भारत सरकार को उपयुक्त सिफारिशें करेगा।

Leave a Reply