शिवपुरी जिले के मगरौनी में बाढ़ प्रभावितों से रूबरू हुए मुख्यमंत्री

बाढ़ आपदा के संकट से बाहर निकालने का कार्य हम करेंगे : मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan



मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अति वर्षा से प्रभावित हुए लोगों को सहायता देने में सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी। सभी पीड़ितों को आपदा के संकट से पार निकालने का कार्य सरकार तेजी से कर रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गुरूवार को शिवपुरी जिले के मगरौनी के जवाहर नवोदय विद्यालय प्रांगण में बाढ़ प्रभावित परिवारों से चर्चा करते हुए यह बात कही।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि तात्कालिक तौर पर बाढ़ प्रभावित परिवारों को 6 हजार रूपए, 50 किलो अनाज और रोजमर्रा की जरूरतों का अन्य सामान मुहैया कराया गया है। साथ ही सर्वे के आधार पर आर्थिक सहायता भी प्रभावितों के खातों में पहुँचाई गई है। लोक निर्माण राज्य मंत्री श्री सुरेश धाकड़, विधायक श्री वीरेन्द्र रघुवंशी सहित जन-प्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा बाढ़ प्रभावित परिवारों के खाते में आज 23 करोड़ 19 लाख रूपए की राशि अंतरित की गई है। अब तक सरकार द्वारा प्रभावित परिवारों के खातों में 52 करोड़ रूपए से अधिक की सहायता राशि पहुँचाई जा चुकी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा से प्रभावित लोगों की मदद और खराब हुई अधोसंरचना को फिर से खड़ा करने के लिये प्रदेश सरकार ने तीन सूत्रीय रणनीति बनाई है जिसमें प्रभावित परिवारों के नुकसान की भरपाई करने के लिये उन्हें राहत, दूसरा काम जिनके मकान बाढ़ में उजड़ गए हैं उन्हें नए मकान बनाकर पुनर्वास और तीसरा काम बाढ़ से ध्वस्त हुई अधोसंरचना जिनमें सड़क, विद्युत लाइन, पुल-पुलिया, अस्पताल, स्कूल व आँगनबाड़ी भवन आदि बनाए जायेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बाढ़ प्रभावितों को तात्कालिक राहत के साथ मकान बनाने के लिये एक लाख 20 हजार रूपए, दुधारू पशु की मृत्यु पर 20 हजार रूपए और बकरा-बकरी की मृत्यु पर 3 हजार रूपए की सहायता राशि दी जा रही है। इसके साथ ही फसल नुकसान की भरपाई भी सरकार प्रावधानों के तहत करेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी प्रभावितों को आश्वस्त किया कि सरकार बाढ़ आपदा के संकट से उन्हें उबारने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी। जिनके मकान ध्वस्त हुए हैं उन्हें मकान बनाने के लिये सहायता दी जायेगी। तात्कालिक रूप से भी हर संभव मदद सरकार ने उपलब्ध कराई है। अति वर्षा के कारण जिनकी खेतीबाड़ी प्रभावित हुई है उसका भी सर्वेक्षण कराकर यथा संभव मदद उपलब्ध कराई जायेगी।

बाढ़ से शिवपुरी जिले में हुए नुकसान की दी जानकारी

संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को शिवपुरी जिले में अति वर्षा से हुए नुकसान के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शिवपुरी जिले में कुल 764 गाँव प्रभावित हुए हैं। जिले में 17 जन हानि हुई, जिनमें से 16 प्रकरणों में 4– 4 लाख रूपए की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की गई है। जिले में प्रारंभिक रूप से हुए सर्वेक्षण में 462 पशु हानि की जानकारी सामने आई है, जिनमें से 160 पशुओं का सत्यापन कर 34 लाख 84 हजार 500 रूपए की सहायता वितरित की गई है। बाढ़ प्रभावित 7,682 व्यक्तियों को 50-50 किलो खाद्यान्न प्रति परिवार के मान से वितरित कराया गया है। साथ ही कच्चे मकानों के लिये 4400 व्यक्तियों को एक करोड़ 27 लाख 54 हजार 400 रूपए की सहायता दी जा चुकी है।

जिले में पूर्ण क्षतिग्रस्त हुए मकानों के लिये 6 हजार रूपए प्रति व्यक्ति के मान से 482 व्यक्तियों को 27 लाख 90 हजार रूपए की सहायता उपलब्ध कराई गई है। प्रशासन और अशासकीय संगठनों के माध्यम से भोजन पैकेट, आटा, खाद्यान्न पैकेट, बिस्किट, मैगी, कपड़े, साड़ी और बर्तन भी उपलब्ध कराए गए हैं। जिले में 20 स्थानों पर स्वास्थ्य शिविर और 16 स्थानों पर पशु चिकित्सा शिविर आयोजित किए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से साफ-सफाई और क्लोरोनाईजेशन का कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना में नगरीय क्षेत्र के पात्र 52 व्यक्तियों के आवास प्रस्ताव नगरीय प्रशासन को भेजे गए हैं।

Leave a Reply