देश मे एक वर्ग के लिए दिल मे नफरत फैला रहे नेता

देश मे एक वर्ग के लिए दिल मे नफरत फैला रहे नेता

सवाल , इस्लामी आतंकवाद किया है
उत्तर । आतंक वाद इस्लाम का ही रूप है जो विगत 20 वर्षों से अत्यअधिक सकती साली बनगया है आतंकवादियों में किसी एक गुट विशेष के प्रति समर्पण का भाव न होकर एक समुदाय के प्रति समर्पन का भाव होता है

ऐसे बहुत से सवाल जवाब राजनीति बयान बाजी नही है यह राजिस्थान में इंटरमीडिएट के विद्यार्थी को पढ़ाई में पढ़ाया जा रहा इस्कूल की किताब में* इसतरह के सवाल जवाब साफ साफ दर्षाते है एक समुदाय के खिलाफ नई पीढ़ी के मन मे ज़हर घोला जा रहा है
इस्लाम को बदनाम करने की गंदी सोंच रखने वाले आज देश की सत्ता संभाल रहे है
इसतरह के घटिया नेता का साफ मंसूबा है देश मे जो गंगा जमना तहजीब है उसे खत्म करके नफरत भरदे देश के हर युवा में जब देश वासी जब आपस मे लड़ते रहे ये उसपर राजनीति के वोट लेते रहे
आजकल देश मे नफरत फैलाने के लिए ब कायदा उन्हें इनाम के तौर पर अच्छी नोकरी पैसा सब दिया जा रहा है घटिया राजनेता
इसी तरह ज़हर घोलते रहे तो
देश मे इंसान नही सिर्फ धर्म की जातियां रहेगी हर तरफ एक दूसरे के धर्मो से नफरत करने वाले
काफी हद तक इनके मंसूबे कामयाब होगये ह
पिछले 15 बीस सालों से लगातार कोशिस होरही है जातिवाद फैलाने की आज देश का 60 परसेंट हिस्सा जातिवाद के ज़हर में बड़ा होरहा है
देश को अलग अलग जातियों में बाटने दंगा फसाद फैलाने देश की हालत बिगाड़ने की साजिश रची जा रही है
हिन्दू राष्ट के नाम पर इस्लाम के लिए नफरत फैलाई जा रही हैदेश मे एक वर्ग के लिए दिल मे नफरत फैला रहे राजिस्थान के नेता

सवाल , इस्लामी आतंकवाद किया है
उत्तर । आतंक वाद इस्लाम का ही रूप है जो विगत 20 वर्षों से अत्यअधिक सकती साली बनगया है आतंकवादियों में किसी एक गुट विशेष के प्रति समर्पण का भाव न होकर एक समुदाय के प्रति समर्पन का भाव होता है

ऐसे बहुत से सवाल जवाब राजनीति बयान बाजी नही है यह राजिस्थान में इंटरमीडिएट के विद्यार्थी को पढ़ाई में पढ़ाया जा रहा इस्कूल की किताब में* इसतरह के सवाल जवाब साफ साफ दर्षाते है एक समुदाय के खिलाफ नई पीढ़ी के मन मे ज़हर घोला जा रहा है
इस्लाम को बदनाम करने की गंदी सोंच रखने वाले आज देश की सत्ता संभाल रहे है
इसतरह के घटिया नेता का साफ मंसूबा है देश मे जो गंगा जमना तहजीब है उसे खत्म करके नफरत भरदे देश के हर युवा में जब देश वासी जब आपस मे लड़ते रहे ये उसपर राजनीति के वोट लेते रहे
आजकल देश मे नफरत फैलाने के लिए ब कायदा उन्हें इनाम के तौर पर अच्छी नोकरी पैसा सब दिया जा रहा है घटिया राजनेता
इसी तरह ज़हर घोलते रहे तो
देश मे इंसान नही सिर्फ धर्म की जातियां रहेगी हर तरफ एक दूसरे के धर्मो से नफरत करने वाले
काफी हद तक इनके मंसूबे कामयाब होगये ह
पिछले 15 बीस सालों से लगातार कोशिस होरही है जातिवाद फैलाने की आज देश का 60 परसेंट हिस्सा जातिवाद के ज़हर में बड़ा होरहा है
देश को अलग अलग जातियों में बाटने दंगा फसाद फैलाने देश की हालत बिगाड़ने की साजिश रची जा रही है
हिन्दू राष्ट के नाम पर इस्लाम के लिए नफरत फैलाई जा रही हैजातिवाद में बाटने से फायदा किया
1 देश का हर वर्ग धर्म के बारे में बात करेगा
2 देश हित की कोई बात नही करेगा
3 वोट लेने में दिक्कत नही आएगी
4 एक धर्म की बुराई की दूसरे धर्म से वोट पक्का
5 धर्म वाद रहेगा देश मे तो देश की सत्ता गधे के हाथ मे भी होगी तो अंध भक्त धर्म के नाम पर वोट देते रहेंगे

देश को किया मिला धर्म वाद से
1 बेरोजगार 70 परसेंट
2 आर्थिक मंदी
3 भुखमरी
4 नफरत एक धर्म के लिए दूसरे धर्म की

Dg न्यूज़ रिपोर्टर
आज़म लाला

Leave a Reply