महुआ मोइत्रा ने किया बिहारियों का अपमान, भरी सभा में कहा ‘बिहारी गुंडा’, गरमाई सियायत

पटना. भारतीय जनता पार्टी के सांसद निशिकांत दुबे (BJP MP Nishikant Dubey) ने तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा (TMC MP Mahua Moitra) पर उन्हें ‘बिहारी गुंडा’ कहने का आरोप लगाया है. बीजेपी सांसद ने कहा कि आईटी से जुड़ी संसदीय समिति की बैठक के दौरान टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने उन्हें ‘बिहारी गुंडा’ कहा है. निशिकांत दुबे ने यह आरोप बुधवार (28 जुलाई) को किए अपने ट्वीट में लगाए हैं. हालांकि महुआ मोइत्रा ने इन आरोपों का खंडन किया है. लेकिन, इसी बैठक में मौजूद रहे कांग्रेस सांसद ने मीडिया द्वारा पूछे गए सवालों पर इस मुद्दे पर कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार करते हुए टिप्पणी से इनकार कर दिया. जाहिर है अब इस मसले पर अब बिहार में सियासत गर्म हो गई है और राजद को छोड़ सभी दलों ने एक सुर में इसे बिहारवासियों का अपमान करार दिया है

तृणमूल कांग्रेस सांसद के बयान पर बिहार के सभी सियासी दलों ने एक सुर में विरोध किया है. जेडीयू नेता नीरज कुमार ने इस मुद्दे पर कहा कि TMC सांसद की यह भाषा ही ‘गुंडई’ है. ऐसी भाषा को ‘लम्पटीकरण’ कहा जाता है. बिहार ज्ञान की धरती रही है न कि ‘गुंडई’ की. ऐसी भाषा पर TMC लगाम लगाए. TMC पार्टी को इसपर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए.

जेडीयू सांसद सुनील कुमार पिंटू ने महुआ मोईत्रा के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि बंगाल में जिसने टीएमसी को वोट नहीं दिया वहां- वहां ‘गुंडई’ हुई. टीएमसी के सांसद सदन नहीं चलने दे रहे हैं. जेडीयू सांसद ने सवाल पूछा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और आरजेडी सांसद मनोज झा क्या ऐसे दल के साथ जाएंगे जो हमें बिहारी गुंडा कह रहे हैं? नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और राजद सांसद मनोज झा जवाब दें. बिहार के बिना हिंदुस्तान की कल्पना नहीं की जा सकती

कांग्रेस ने भी TMC सांसद के बयान पर आपत्ति जताई है. कांग्रेस एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि TMC की यह भाषा बर्दास्त नहीं की जा सकती. बिहार के लोगों का अपमान किया जा रहा है. आये दिन लोग बिहार के लोगों को गाली देते हैं. सभी दलों को एकसाथ मिलकर इसका विरोध करना चाहिये. कांग्रेस नेता ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार सबके साथ मिलकर बयान जारी करें.

कांग्रेस सांसद अखिलेश सिंह ने महुआ मोइत्रा को नसीहत देते हुए कहा कि किसी भी सांसद को गुंडा, क्रिमिनल कहना उचित नहीं. सभ्य भाषा में बहुत कुछ कहा जा सकता है. उस दायरे में रहकर ही बोलना चाहिए. TMC सांसद के इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताई जानी चाहिए. हालांकि बिहारवासियों के अपमान के मुद्दे पर सभी सियासी दलों से अलग राह अपनाते हुए राजद ने इसे भाजपा के एंगल जोड़ने की कोशिश की है

महुआ मोइत्रा के बयान पर आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा है कि बंगाली-बिहारी भाई-भाई का संस्कृति रही है. बिहारी लोगों के बारे में ऐसी भाषा बर्दाश्त नहीं. हो सकता है कि TMC सांसद का बोलने का अर्थ कुछ और होगा. बीजेपी के लोगों द्वारा ‘गुंडई’ किया जा रहा है. शायद बीजेपी के लिए ऐसी बात कही गई होगी. बिहार के लोगों के लिए ऐसी भाषा नहीं कही जा सकती.

TMC सांसद महुआ मोइत्रा के बयान पर मंत्री शहनवाज हुसैन ने कहा है कि उन्होंने ने पूरे बिहार का अपमान किया है. बंगाल चुनाव में टीएमसी का साथ देने वाले राजद को उनसे रिश्ता तोड़ लेना चाहिये. बंगाल चुनाव में राजद और कांग्रेस TMC की दो आंखें थीं. बता दें कि विधान परिषद में TMC सांसद के बयान का मामला उठा. बीजेपी एमएलसी संजय मयूख ने बिहारी अस्मिता की बात रखते हुए कहा कि बिहार के साथ भद्दा मजाक किया गया है. बिहारी अस्मिता के साथ मजाक बर्दाश्त नहीं होगा

TMC सांसद पर बीजेपी नेता प्रियरंजन पटेल ने कहा है कि यह सिर्फ बिहार का नही पूरे हिंदी भाषा क्षेत्र का अपमान है. ममता बनर्जी में बिहारियों के लिए कितनी नफरत है यह दिखाता है. ममता बनर्जी सांसद पर कार्रवाई करें वरना बिहार के लोग जवाब देना अच्छे से जानते हैं. वहीं, बीजेपी सांसद अजय निषाद ने टीएमसी को नसीहत देते हुए कहा कि बिहारी मेधावी हैं, मेहनती हैं. बंगाल में भी बिहार के लोगों की तादाद बहुत है. अगर बिहार के लोग अपने पर ले लेंगे तो आने वाले समय में टीएमसी पर बहुत भारी पड़ेगा.

महुआ मोइत्रा के बिहारी गुंडा शब्द के प्रयोग पर बीजेपी नेता और पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने तीखी प्रतिक्तिया देते हुए कहा कि TMC देश मे अराजकता फैलाने के लिए जानी जाती है. तेजस्वी यादव जो खुद को ममता बनर्जी का भतीजा घोषित कर चुके हैं. वो बताएं कि वो बिहारियों के साथ है या दीदी के साथ?

बता दें कि झारखंड के गोड्डा से सांसद निशिकांत दुबे ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से शिकायत करते हुए ट्वीट किया, ‘लोकसभा स्पीकर जी अपने 13 साल के संसदीय जीवन में पहली बार गाली सुना, तृणमूल कांग्रेस की सदस्य महुआ मित्रा द्वारा बिहारी गुंडा आईटी कमिटी की मीटिंग में तीन बार बोला गया. ओम बिरला जी, शशि थरूर जी ने इस संसदीय परंपरा को खत्म करने की सुपारी ले रखी है.’

लिखा, ‘तृणमूल कांग्रेस ने बिहारी गुंडा शब्द का प्रयोग करके बिहार के साथ-साथ पूरे हिंदी भाषी लोगों को गाली दी है. ममता बनर्जी जी आपके सांसद महुआ मोइत्रा की इस गाली ने उत्तर-भारतीय व खासकर हिंदी भाषी लोगों के प्रति आपके पार्टी के नफरत को देश के सामने लाया है.’

गौरतलब है कि बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने देश के पूर्व प्रधान न्यायाधीश को लेकर लोकसभा में टिप्पणी करने को लेकर हाल ही में तृणमूल कांग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ विशेषाधिकार हनन को लेकर नोटिस दिया है. बहरहाल ममता बनर्जी को राष्ट्रीय स्तर पर आगे कर विपक्ष की गोलबंदी की कवायद के बीच अब बिहारवासियों को गुंडा कहे जाने को लेकर मामला कौन सा मोड़ लेता हे यह देखना दिलचस्प होगा

Leave a Reply