बिजली वितरण प्रणाली में सुधार के लिए 69 करोड़ के कार्य पूर्ण

शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत वितरण प्रणाली में सुधार के लिए मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने जारी वित्तीय वर्ष में अब तक 69 करोड़ रूपये के कार्य कराए हैं। क्षेत्र में 502 कि.मी. की नई लाइन डाली गई है। ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने नए कार्य कर उपभोक्ता सुविधा बढ़ाने पर पश्चिम क्षेत्र कंपनी को बधाई दी है।

मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर ने बताया है कि सतत बिजली मांग बढ़ने के साथ ही नगरीय और ग्रामीण आबादी क्षेत्र का विस्तार भी हो रहा है। इसी के साथ बिजली वितरण प्रणाली के सुदृढ़ीकरण के लिए कार्य सतत हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि पटाड़ी और कचारिया गाँव में 33/11 केवी के दो नए ग्रिड प्रारंभ किए गए हैं। कंपनी क्षेत्र में 55 ग्रिडों की क्षमता बढ़ाई गई है। प्रबंध निदेशक ने बताया कि 502 कि.मी. की नई लाइनें डाली गई है, इसमें 33 केवी की 101 कि.मी., 11 केवी की 293 कि.मी. और एलटी की 108 कि.मी. लाइनें शामिल हैं। मालवा और निमाड़ में अतिरिक्त वितरण ट्रांसफार्मर 1378 स्थानों पर लगाए गए है। इसके साथ ही वितरण ट्रांसफार्मरों की 383 स्थानों पर क्षमता वृद्धि की गई है, जिससे उपभोक्ताओं को ट्रिपिंग और वोल्टेज के उतार-चढ़ाव की परेशानी न हो। इंदौर शहरी क्षेत्र में राऊ के पास जीआईएस स्मार्ट ग्रिड और उज्जैन रोड पर नई पैंथर लाइन का कार्य भी जारी है। दोनों ही कार्यों से इंदौर शहरी सीमा के उपभोक्ताओं को अत्याधुनिक सुविधाएँ मिलेंगी।

Leave a Reply