सरकारी दस्तावजों में अपमानित (हरिजन) शब्द का उपयोगअम्बेडकर प्रतिमा के नीचे काली पटटी बांधकर किया विरोध


सरकारी दस्तावजों में अपमानित (हरिजन) शब्द का उपयोग
अम्बेडकर प्रतिमा के नीचे काली पटटी बांधकर किया विरोध

बाबा साहब को बोद्ध धर्म की दीक्षा देने वाले भंते चंद्रमंणी
महाखेरो के शिष्य भंते मोख्यरत्न बोद्ध ने किया संबोधित

राष्ट्रपति से सुप्रीम कोर्ट के आदेश का देश में पालन कराने की मांग
फोटो
सीहोर। अनुसुचित जाति बहूल वार्ड क्रमांक ११ के डॉ अम्बेडकर पार्क के अंदर बाबा साहब डॉक्टर अम्बेडकर की प्रतिमा के नीचे मुंह पर मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए काली पटटी बांधकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अवहेलना करते हुए शासन के दस्तावेजों में अपमानित (हरिजन) शब्द का उपयोग किये जाने को लेकर रविवार को जिले के अनेकों को सामाजिक संगठनों के द्वारा डॉ अम्बेडकर सार्वहारा बेजूवान अधिकारिकता परिषद के प्रदेशाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन किया गया।

कुशीनगर उत्तर प्रदेश से सीहोर पहुंचे बाबा भीमराव अम्बेडकर को बोद्ध धर्म की नागपुर मेंं दीक्षा दिलाने वाले भंते चंद्रमंणी महाखेरो के शिष्य भंते मोख्यरत्न बोद्ध धर्म प्रचारक ने कहा की यह शब्द (हरिजन) हमारे समाज के लिए घोर अपमान का सूचक है, हम इस शब्द की कड़ी निंदा करते है।
भंते मोख्यरत्न ने कहा की राष्ट्रपति इस अपमानित शब्द को लेकर स्यवं संज्ञान ले और केंद्र से लेकर राज्य सरकार तक सभी सरकारी दस्तावेजों से उक्त अपमानित शब्द को हटाने के निर्देश राज्यपालों को जारी करें। शासन के दस्तावेजों से इस शब्द को हटाया जाना चौथी श्रेणी के भारतीय समाज के लिए अति आवशयक है। संविधान निर्माता बाबा साहब अम्बेडकर ने भी (हरिजन) शब्द को लेकर महात्मा गांधी के साथ वहस की थी। बाबा साहब इस शब्द के घोर विरोधी रहे उन्होने महात्मा गांधी से कहा था अगर यह शब्द सम्मानीय है तो आप अपने और समाज के लिए शब्द का उपयोग क्यों नहीं करते है।

विरोध प्रदर्शन के दौरान क्षेत्रीय पार्षद आरती खंगराले, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष राजेश मालवीय, बहुजन क्रांति मोर्चा के जिला संयोजन जितेंद्र मालवीय, राष्ट्रीय अनुसुचित जाति जनजाति संघ के जिलाध्यक्ष शुभम कचनेरिया, युवा बेरोजगार मोर्चा कें प्रदेशाध्यक्ष जनम सिंह परमार, सदभावना सत्संग सेवा समिति के अध्यक्ष डीआर सागर, कबीर आश्रम समिति जिला समिति अध्यक्ष मूल्लालाल मालवीय ने भी संबोधित किया। राष्ट्रीय मूल निवासी महिला संघ की अध्यक्ष चांदकिरण धु्रवे ने किया। संत रविदास फाउंडेशन समाज की प्रदेश अध्यक्ष अनौखी वर्मा ने आभार व्यक्त किया।
प्रदर्शन में मदनलाल मालवीय, पन्नालाल खंगराले, श्यामलाल महोबिया, डीएस भदोरिया, मनीष मालवीय, रामचरण मालवीय, धमेंद्र मालवीय, प्रेमनारायण परमार, रामकिशन मालवीय, अनार सिंह मालवीय, जगदीश भदोरिया, जीवन सिंह धराना आदि लोग शामिल रहे

Leave a Reply