होशंगाबाद में प्रदेश का अपनी तरह का इकलौते कैंसर अस्पताल का प्रारंभ करने के प्रयास



मुख्यमंत्री श्री चौहान को हिन्दुस्तान पेट्रोलियम ने दी जानकारी

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने कहा है कि प्रदेश में नागरिकों के हित में अन्य रोगों के बेहतर उपचार के साथ ही कैंसर जैसे रोग के नियंत्रण और उपचार के लिए भी निरंतर प्रयास किए जाएंगे। प्रदेश में स्थापित होने वाले कैंसर अस्पतालों को राज्य शासन द्वारा सभी सुविधाएँ दी जाएंगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज उनसे भेंट करने आए हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड के निदेशक मानव संसाधन श्री पुष्प जोशी से चर्चा में ये बात कही।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश के बड़े नगरों में कैंसर के उपचार के साथ ही जिला मुख्यालयों में भी आवश्यक अधोसंरचना के विकास के प्रयास किए जा रहे हैं। इस क्रम में होशंगाबाद में करीब 400 करोड़ रूपए के पूंजीगत व्यय से कैंसर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल की स्थापना के संबंध में केन्द्रीय कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेंन्द्र प्रधान से भी चर्चा हुई है। होशंगाबाद में इसके लिए आवश्यक फीजिबिलिटी स्टडी की जा रही है। प्रस्ताव के अनुसार 100 बिस्तरीय सुसज्जित स्टेट ऑफ आर्ट कैंसर अस्पताल प्रदेश में अपनी तरह का एकमात्र अस्पताल होगा जो अन्य जिलों के लिए रेफरल सेंटर का कार्य करेगा। यही नहीं कैंसर के उपचार संबंधी प्रशिक्षण भी यहाँ उपलब्ध रहेगा। प्रमुख रूप से कैथ लैब कार्डियक सर्जरी, ओ.टी., कीमोथैरेपी, रेडियोलॉजी की सुविधाएँ अंतर्राष्ट्रीय स्तर की होंगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्री पुष्प जोशी से चर्चा में होशंगाबाद के प्रस्तावित कैंसर अस्पताल में रोगियों के परिजन के रूकने की व्यवस्था, डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ के लिए आवासीय क्वार्टर, सीएसआर फंड से अन्य आधारभूत व्यवस्थाओं, शासकीय उपचार योजनाओं की परिधि में आने वाले रोगियों को फ्री चिकित्सा, शेष रोगियों को कम दरों पर उपचार और टाटा मेमोरियल सेंटर से विशेषज्ञों के परामर्श और सहयोग के संबंध में विचार-विमर्श किया। प्रस्ताव के अनुसार यह अस्पताल चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा नो प्रॉफिट नो लॉस के सिद्धांत पर संचालित होगा। ट्रस्ट में तेल क्षेत्र के संस्थानों और राज्य शासन के प्रतिनिधि ट्रस्टी सदस्य होंगे। अनेक दानदाता भी स्वैच्छिक रूप से अस्पताल स्थापना में सहयोग देने के लिए आगे आ रहे हैं।

Leave a Reply