Category Archives: संपादकीय

आज दशहरे पर किस रावण को चलाओगे

संपादकीय। आज दशहरा मनाओगे, किस रावण को जलाओगे जिसने अपनी कठिन तपस्या से भगवान से अमरत्व का वरदान पाया। जिसने 10 बार अपना शीश काटकर शिव को चढ़ाया, जिसने अपनी आंतों की माला बनाकर भगवान को सजाया जिसके जप के तप से पूरे ब्राह्मण को हिलाया। वह यदि अपनी भक्ति की शक्ति पर इठलाया तो कौन सा अहंकार दिखाया, कैसा

Read more

मौसम विभाग ने बताई मानसून के विदाई की तारीख, तब तक होगी भारी बारिश

– अनिल मालवीय, ब्यूरो चीफ मध्य प्रदेश भोपाल। मध्यप्रदेश में बारिश का दौर ( HEAVY RAIN ) खत्म नहीं होने से लोग अब परेशान होने लगे हैं। हर कोई एक-दूसरे से यही पूछ रहा है कि आखिर बारिश कब बंद होगी। मौसम विभाग ( India Meteorological Department ) ने कहा है कि 14 अक्टूबर के बाद ही बारिश बंद होगी।

Read more

शक्ति की आराधना के पर्व नवरात्रि की शुरुआत 29 सितंबर रविवार से

नौ दिनी शक्ति की आराधना के पर्व नवरात्रि की शुरुआत 29 सितंबर रविवार से होगी। इस बार शक्ति का आगमन वाहन समृद्धि और बारिश का संकेत देने वाले गज (हाथी) पर होगा। स्थापना के अवसर पर कई दुर्लभ संयोग भी बनेंगे। इस दिन ब्रह्मयोग के साथ मंगलकारी अमृत व सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेगा। ज्योतिर्विदों के मुताबिक यह संयोग शक्ति

Read more

हिन्‍दी से जुड़ी 8 दिलचस्प बातें, जिन्हें पढ़कर आपको गर्व होगा

👉🏻1⃣. हिन्‍दी विश्‍व में चौथी ऐसी भाषा है जिसे सबसे ज्‍यादा लोग बोलते हैं. ताजा आंकड़ों के मुताबिक वर्तमान में भारत में 43.63 फीसदी लोग हिन्‍दी भाषा बोलते हैं. जबकि 2001 में यह आंकड़ा 41.3 फीसदी था. तब 42 करोड़ लोग हिन्दी बोलते थे. जनगणना के आंकड़ों के अनुसार 2001 से 2011 के बीच हिन्दी बोलने वाले 10 करोड़ लोग

Read more

नए मोटर व्हीकल एक्ट से मेरा देश परेशान

– ललित गर्ग – नया बना मोटर व्हीकल एक्ट देश को राहत पहुंचाने की बजाय परेशानी का सबब बन रहा है। अनेकों विरोधाभासों एवं विसंगतियों से भरे इस कानून से मेरा देश परेशान है। यह कानून विरोधाभासी होने के साथ-साथ समस्या को और गंभीर बना रहा है। एक नये किस्म के भ्रष्टाचार को पनपने का मौका मिल रहा है, इंस्पैक्टरी

Read more

पढ़ें आज का जीवन सन्देश

✍🏻 अनिल मालवीय हमारा जीवन बहुत खूबसूरत है, दुनिया की इस खूबसूरती को देखने के लिए हमें सकारात्मक होने की जरूरत है। यदि हम सकारात्मक सोच नहीं रखेंगे तो दुनिया में हमें खूबसूरती नजर न आकर केवल परेशानियां नजर आएंगी। सकारात्मक सोच को पाने के लिए हमें सकारात्मक ऊर्जा की जरूरत होती है और सकारात्मक ऊर्जा हमें सकारात्मक पढ़ने, लिखने

Read more