क्षति का आकलन कर प्रावधान के अनुसार इन व्यापारियों को भी राहत की राशि देंगे

राहत की व्यवस्था करना है। भोजन का इंतजाम करना है। 50 किलो तो हम तत्काल हम प्रभावित परिवारों को देंगे। लेकिन उसके साथ-साथ हमें सड़क, बिजली, पीने का पानी और लोगों के स्वास्थ्य की चिंता करनी है। क्योंकि पानी उतरने के बाद कई तरह की बीमारियां फैलने का खतरा है। जो स्थिति मैंने देखी है, उसके बाद फैसला किया है कि जिनके मकान पूरी तरह से ध्वस्त हो गए हैं, उनके मकान बनाना जरूरी है। इसके लिए मनरेगा से कन्वर्जेन्स करके और आरबीसी 6 (4) को मिलाकर गरीब का लगभग 1.20 लाख रुपए का मकान खड़ा करने की कोशिश करेंगे। कुछ दुकानों खासकर छोटी दुकानों में पानी भरने के कारण नुकसान हुआ है। उसकी क्षति का आकलन कर प्रावधान के अनुसार इन व्यापारियों को भी राहत की राशि देंगे:

https://fb.watch/7chwsXsFca/

Leave a Reply