लुटेरी दुल्हन का पर्दाफाश फास

देवास खातेगांव लुटेरी दुल्हन का 4 साल का मासूम बालक होने के बाद भी सुरेंद्र के साथ मिलकर लुटेरी दुल्हन ने जालसाजी को अंजाम दिया
खातेगांव पुलिस से लुटेरी दुल्हन आरोपी सुरेंद्र से नगदी वा जेवरात जप्त ..
खातेगांव थाना प्रभारी महेंद्र सिंह परमार ने लुटेरी दुल्हन वा आरोपी का खुलासा करते हुए, प्रेस वार्ता कर जानकारी दी।
खातेगांव थाना अंतर्गत ग्राम
मालसगोदा निवासी फरियादी रामविलास पिता नारायण जाट उम्र 40 साल ने
ने खातेगांव थाने पर रिपोर्ट दर्ज करते हुए बताया
3 जून को अजनास के जितेंद्र दरबार एवं जितेंद्र की मौसी का लड़का कमलेश निवासी अमलाडा के साथ द्वारका नगर बेतूल जिला बेतूल में रीना बाई के घर रीना बाई से शादी की बात करने के लिए गए थे ।जहां उसे रीना पसंद आ गई फिर 10 जून को रीना बाई और बंडू उर्फ सुरेंद्र रामविलास का घर बार देखने के लिए ग्राम मालसगोदा आए उस दिन रिना और सुरेंद्र से शादी और लेन-देन की बात पक्की हो गई फिर दिनांक 20 जून को गायत्री मंदिर नेमावर में रामविलास ने रीना से शादी कर ली और उसी दिन रीना के कहने पर रामविलास ने सुरेंद्र को ₹125000 नगद दिए और रीना को पहनने के लिए कान के सोने के 1 जोड़ टॉप्स 1 जोडी सोने की झुमकी ,सोने का एक मंगलसूत्र ,चांदी की चमपक और 1 जोड़ी चांदी की बिछोड़ी चढाऐ थे। शादी के बाद से ही रीना रामनिवास के घर पर रामनिवास के साथ रही ।
दिनांक 13 जुलाई के रात करीब 8:30 बजे रीना बिना बताए रकम जेवर और उसके कपड़े लेकर बेतूल चली गई फिर राम निवास ने रीना और सुरेंद्र को करीब तीन-चार बार फोन लगाया तो रीना ने रामनिवास के घर ग्राम मालसगोदा आने से मना कर दिया और बोली कि आज के बाद मेरे पास फोन मत लगाना नहीं तो झूठे केस में फंसा दूंगी इसके बाद रामनिवास को पता चला कि रीना को 4 साल का एक लड़का है और रीना अभी सुरेंद्र के साथ में रह रही है तथा रीना ने रामनिवास से झूठ बोलकर शादी कर धोखाधड़ी की है इस प्रकार से रीना और सुरेंद्र रामनिवास से शादी के नाम पर रुपए एवं शादी के समय चढाई रकम जेवर लेकर धोखाधड़ी की है फरियादी की रिपोर्ट पर अपराध धारा 420,34 भादवि मे कायम कर विवेचना में लिया गया घटना की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में लाने के बाद पुलिस अधीक्षक देवास डॉ शिवदयाल सिंह,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सूर्यकांत शर्मा के निर्देशानुसार निरीक्षक थाना प्रभारी खातेगांव महेंद्र सिंह परमार के नेतृत्व में उक्त जाल साज महिला एवं पुरुष की गिरफ्तारी हेतु टीम गठित कर तकनीकी साधनों की मदद से प्राप्त लोकेशन पर दबिश देते हुए उक्त आरोपी रीना पिता चिरंजीलाल ग्वाल एवं सुरेंद्र पिता रामकिशन ग्वाल निवासी बेतूल को गिरफ्तार किया गया उक्त दोनों आरोपियों के द्वारा फरियादी से धोखा देकर लिए गए शादी के नाम पर चढ़ाई गई ज्वेलरी जप्त की गई है आरोपियों के अन्य साथियों की तलाश की जा रही है उक्त कार्य में निरीक्षक महेंद्र सिंह परमार, उप निरीक्षक विनय सिंह बघेल, उपनिरीक्षक सपना रावत, प्रधान आरक्षक गजेंद्र सिंह राजपूत, साइबर सेल देवास एक्सपर्ट शिव सेंगर ,सचिन चौहान, आरक्षक रविंद्र सिंह तोमर, महिला आरक्षक तरुणा, सैनिक मनीष बाथोले ,की सराहनीय भूमिका रही है पुलिस अधीक्षक देवास के द्वारा टीम को प्रोत्साहन स्वरूप नगद इनाम की घोषणा की गई है।।। खातेगांव से शिवराम यादव की रिपोर्ट..

Leave a Reply