घटिया पन की जीती जागती मिसाल हीरा स्वीट्स आदर्श नगर जबलपुर

हीरा स्वीट्स आदर्श नगर के संचालक सनी की तबीयत खराब थी और वह 3 दिन से मेट्रो अस्पताल में भर्ती था
टेस्ट होने के पश्चात कल 27 जुलाई 2020 को उसकी रिपोर्ट आई जोकि कोरोना पॉजिटिव थी

दुकान मालिक की रिपोर्ट पॉजिटिव आ जाने के बाद भी दुकान खुली रही मिठाइयों और अन्य सामानों की बिक्री धड़ल्ले से चलती रही

हद तो तब हो गई जब आज 28 जुलाई को सुबह भी दुकान खोली गई और खाने पीने के सामान की बिक्री की गई तत्पश्चात मेरे द्वारा पुलिस को फोन किया गया और पुलिस ने काबिले तारीफ एक्शन लेते हुए दुकान को बंद करवाया और इंसानियत के नाते सूचित भी किया

हद तो तब हो गई जब शाम दुकान संचालक सनी के नंबर पर बात हुई तो उससे पूछा कि आपने दुकान क्यों खोली तो उसने जवाब दिया कि बिक्री के लिए नहीं खोली ..जो की झूठ था .. बोला सिर्फ सामान निकालने के लिए खोली थी मैंने बोला जब तुम्हें पता है कि तुम करोना पॉजिटिव हो और तुम्हारे परिवार के लोग और कर्मचारी भी संक्रमित हो सकते हैं तो तुमने सामान निकाल कर क्या किया बगैर सरकारी इजाज़त के सामान को क्यों हाथ लगाया तब उसे लगा कि शायद बातों बातों में वह कोई गलत बात बोल गया,तो बात बनाते हुए बोला कि वह सामान मैंने थ्रो करने के लिए मतलब फेंकने के लिए निकाला मैंने पूछा कहां फेंका तो बोला जय से पूछ कर बताऊंगा मैंने पूछा तुम्हारे पास कोई गवाह है इस बात का जो यह बता सके कि तुमने यह संक्रमण संभावित सामान फेंका या नहीं, तो बोला मैं ठीक हो कर आ जाऊं फिर गवाह भी आपके सामने प्रस्तुत कर दूंगा

फिर थोड़ी देर बाद सफाई देने के लिए उसके कर्मचारी का फोन आया तो मैंने पूछा इतनी मिठाई फेंकते हुए तुम्हे किसी ने देखा तो बोला नहीं मुझे किसी ने नहीं देखा तो मैंने कहा चलो मेरे साथ और अभी मुझे दिखाओ कि कहां पर तुमने इतनी सारी मिठाईयां फेंकी, तो वह बोला वहां पर सूअर खड़े थे वह खा गए होंगे

अब इतने लंबे चौड़े बखान का मतलब ये है कि इस लालची व्यापारी ने वह मिठाईयां जिसके संक्रमित होने की बहुत अधिक संभावना है वो किसको दी या किस काउंटर से अभी भी बेची जा रही है जिसकी जानकारी हम सबको नहीं हो सकती

यह जानकारी आपको सूचना मात्र के लिए भेज रहा हूं आगे आप अपने विवेक का उपयोग करें

मेरी इस परिवार से कोई दुश्मनी नहीं है मै उनका ग्राहक हूं पर यह बात हमारे शहर के स्वस्थ की बिगड़ सकती है
मैं अब भी इस कोशिश में हूं की यदि उसने वह मिठाईयां कहीं पर रखीं है तो सरकारी नियम कायदे के अनुसार वह उसे नष्ट करवा दे

राजेश चंडोक

Leave a Reply