डिजिलॉकर के उपयोगकर्ता अब अपने स्वास्थ्य रिकॉर्ड को डिजिटल रूप में रख सकते हैं और उन्हें आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते (एबीएचए) से जोड़ सकते हैं

डिजिलॉकर ने आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (एबीडीएम) के साथ अपने दूसरे स्तर के एकीकरण को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। यह इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत एक प्रामाणिक दस्तावेज विनिमय मंच है। डिजिलॉकर के सुरक्षित क्लाउड आधारित स्टोरेज मंच का उपयोग अब स्वास्थ्य रिकॉर्ड जैसे कि टीकाकरण रिकॉर्ड, डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन, प्रयोगशाला रिपोर्ट, अस्पताल से छुट्टी के सारांश आदि को रखने और इसे प्राप्त करने के लिए एक स्वास्थ्य लॉकर के रूप में किया जा सकता है।

इससे पहले डिजिलॉकर ने एबीडीएम के साथ पहले स्तर के एकीकरण पूरा किया था। इसके तहत इसने अपने 13 करोड़ उपयोगकर्ताओं के लिए एबीएचए या आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता निर्माण सुविधा को जोड़ा था। यह नवीनतम एकीकरण अब उपयोगकर्ताओं को व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड (पीएचआर) एप के रूप में डिजिलॉकर का उपयोग करने में सक्षम बनाएगा। इसके अलावा एबीएचए धारक अपने स्वास्थ्य रिकॉर्ड को विभिन्न एबीडीएम पंजीकृत स्वास्थ्य सुविधाओं जैसे कि अस्पताल व प्रयोगशालाओं से भी जोड़ सकते हैं और डिजिलॉकर के माध्यम से उन तक पहुंच सकते हैं। इस एप पर उपयोगकर्ता अपने पुराने स्वास्थ्य रिकॉर्ड को स्कैन और अपलोड भी कर सकते हैं। इसके अलावा वे एबीडीएम पंजीकृत स्वास्थ्य पेशेवरों के साथ चयनित रिकॉर्ड साझा कर सकते हैं।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) के सीईओ डॉ. आर. एस. शर्मा ने उपयोगकर्ताओं के लिए इस एकीकरण के लाभ को रेखांकित किया। उन्होंने कहा, “एबीडीएम के तहत हम एक अंतर-परिचालित स्वास्थ्य इकोसिस्टम का निर्माण कर रहे हैं। एबीडीएम के साथ एकीकृत सार्वजनिक व निजी, दोनों क्षेत्रों के भागीदारों के विभिन्न एप्लीकेशन इस योजना की पहुंच को अधिक उपयोगकर्ताओं तक विस्तारित करने और अधिक सुविधाओं को जोड़ने में सहायता कर रहे हैं। डिजिलॉकर, प्रामाणिक दस्तावेजों को रखने और इसे प्राप्त करने के लिए एक विश्वसनीय और लोकप्रिय एप है। इसे देखते हुए यह एक महत्वपूर्ण विकास है, क्योंकि उपयोगकर्ता अब इसे पीएचआर एप के रूप में उपयोग कर सकेंगे और पेपरलेस रिकॉर्ड संरक्षण का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।”

डिजिटल इंडिया कारपोरेशन के एमडी और सीईओ श्री अभिषेक सिंह ने एकीकरण के बारे में कहा, “हमें अपने 130 करोड़ पंजीकृत उपयोगकर्ताओं तक एबीडीएम के लाभों का विस्तार करने पर गर्व है। इस मंच ने पहले ही लगभग 85 हजार एबीएचए संख्या को प्राप्त करने में सहायता की है। स्वास्थ्य लॉकर एकीकरण के साथ हम इस बात को लेकर सकारात्मक हैं कि अधिक लोग आसानी से अपने स्वास्थ्य रिकॉर्ड को डिजिटल रूप से लिंक और प्रबंधित करने में सक्षम होंगे। डिजिलॉकर का लक्ष्य एबीएचए उपयोगकर्ताओं के लिए इसे एक पसंदीदा स्वास्थ्य लॉकर बनना है।”

स्वास्थ्य लॉकर की सेवाएं अब डिजिलॉकर के सभी पंजीकृत उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध हैं।

Leave a Reply